ये कैसी ममताः गुस्से में मां ने की बच्चों के साथ की हैवानियत

पति ने मायके नहीं जाने दिया तो 10 माह और तीन साल के दो बच्चों को सरिया घोंपकर खुद को भी किया घायल, बेटी की आंतें बाहर आई

By: Hitendra Sharma

Published: 30 Dec 2020, 09:28 AM IST

उज्जैन. पति ने पत्नी को मायके नहीं जाने दिया तो उसने गुस्से में आकर अपने 10 माह और दो साल के दो मासूम के साथ हैवानियत दिखाते हुए लोहे का सरिया बच्चों के हाथ, पैर और पेट में घोंप दिया। सरिया घुसने से 3 साल की मासूम के पेट से आंतें बाहर आ गई। बच्चों को घायल करने के बाद उनकी मां ने भी खुद के पेट में सरिया घोंप लिया। पति और ससुर को जानकारी लगी तो वे मंगलवार सुबह घायलों को जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। महिला के परिजनों ने अस्पताल में बताया कि छत से सरिए गिरने की वजह से हादसा हुआ। बाद में घायल महिला ने ससुर द्वारा छेड़छाड़ का आरोप लगाया। हालांकि पुलिस पूछताछ में महिला ने बताया कि पति ने मायके जाने से इनकार किया था इससे वह नाराज थी, जिसकी वजह से गुस्से में हैवानियत कर बैठी।

एएसपी अमरेन्द्रसिंह ने बताया कि जांच में अगर बच्चों की मां दोषी पाई गई तो महिला के खिलाफ प्राणघातक हमले का प्रकरण दर्ज करेंगे, फिलहाल परिवार वालों और महिला के बयान होना बाकी है। पुलिस ने बताया कि नरवर के पास नायताखेड़ी नयापुरा गांव में रहने वाले वाले राजेश कुशवाह की पत्नी सपना ने तीन साल की बेटी विद्या और 10 माह के बेटे लोकेन्द्र के पेट व जांघ में सरिया घोंप दिया। महिला का पति राजेश तीनों को घायल हालत में लेकर जिला अस्पताल पहुंचा था, जहां से उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद इन्दौर रैफर किया है।

दो दिन से कर रही थी आष्टा जाने की जिद
राजेश ने पुलिस को बताया कि पत्नी दो दिन से आष्टा जाने की जिद कर रही थी। सुबह उसने जाने के लिए तैयारी भी कर ली थी। इसी बीच मैंने उसे मना कर दिया और घर से खेत की ओर चला गया। बाद में पिता ने जानकारी दी कि बहु और बच्चों पर सरिए गिर गए। इस पर हम तीनों को अस्पताल लेकर पहुंचे थे।

ससुर पर लगाया छेड़छाड़ का अरोप
घायल सपना ने शुरुआती दौर में अस्पताल में बताया कि ससुर चंदर पिता भूरालाल गलत नजर रखते हैं। इस मामले में महिला ने ससुर के खिलाफ नरवर थाने में शिकायत भी कर रखी है, जिसमें पुलिस जांच कर रही है। ससुर का कहना है कि वे घर पर ही नहीं थे। उन्हें तो गांव वालों ने बहु और बेटों के घायल होने की जानकारी दी तो घर पहुंचे। जहां से तीनों को लेकर अस्पताल आए।

प्राणघातक हमले में करेंगे प्रकरण दर्ज
पुलिस का कहना है कि फिलहाल घायलों को उपचार के लिए इन्दौर रेफर किया है। जहां तीनों की हालत अब खतरे से बाहर है। अगर जांच में महिला दोषी पाई गई तो बच्चों पर प्राणघातक हमला करने के मामले में महिला के खिलाफ प्रकरण दर्ज करेंगे। फिलहाल महिला और परिवार वालों के बयान होना बाकी है।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned