scriptDarshan of Baba Mahakal remains incomplete without Kaal Bhairav Darsha | इनके दर्शन के बिना अधूरे रह जाते हैं बाबा महाकाल के दर्शन | Patrika News

इनके दर्शन के बिना अधूरे रह जाते हैं बाबा महाकाल के दर्शन

उज्जैन महाकाल मंदिर गए तो महाकाल के दर्शन के साथ जरूर जाएं इनके मंदिर, नहीं तो यात्रा रह जाएगी अधूरी

उज्जैन

Published: July 02, 2022 08:17:26 pm

उज्जैन.श्रद्धा और आस्था से भरपूर महाकाल मंदिर उज्जैन में स्थित है। उज्जैन शिव नगरी नाम से भी जाना जाता हैं. सालभर यहां श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ती हैं। देश भर में भगवान शिव के 12 ज्योंतिर्लिंगों में से एक महाकालेश्वर मंदिर में हैं। दर्शन के लिए आने वाले भक्तों को यहां दक्षिणमुखी ज्योतिर्लिंग के दर्शन होते हैं।

patrika_mahakal_kaal_bhaiarav.jpg

भस्म आरती और महाकाल के दर्शन के लिए यहां देश-दुनिया से आने वालों का हुजूम लगा रहता हैं। सुबह के वक्त यहां होने वाली भस्म आरती विश्व प्रसिद्ध हैं। श्रद्धालु महाकाल का दर्शन करने से पहले बाबा काल भैरव का दर्शन करते हैं। उज्जैन से आठ किलोमीटर दूर कालभैरव के इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि अगर कोई उज्जैन आकर महाकाल के दर्शन करे और कालभैरव न जाए तो उसे महाकाल के दर्शन का आधा ही लाभ मिलता है।

प्रसाद में लगता हैं मदिरा का भोग
उज्जैन के भैरवगढ़ में स्थित इस मंदिर में शिव अपने भैरव स्वरूप में विराजते हैं। वैसे तो भगवान शिव का भैरव स्वरूप अवतार रौद्र रूपी हैं। लेकिन वह अपने भक्तों की करुण पुकार सुनकर उनकी मदद के लिए दौड़े चले आते हैं। यहां पर प्रसाद के तौर पर मुख्य रूप से मदिरा चढ़ाई जाती हैं। मंदिर के पुजारी तश्करी में मदिरा रखकर काल भैरव के मुख के पास जैसे ही ले जाते हैं। पलक झपकते ही तश्करी में रखी मदिरा खाली हो जाती है। आंखों के सामने हुई इस चमत्कारी घटना को देखकर हर कोई हैरान रह जाता हैं. बाबा काल भैरव के मंदिर में मदिरा के आलावा बेसन के लड्डू और चूरमे का भोग भी लगता हैं।

हर मनोकामना होती हैं पूरी
भगवान कालभैरव को उज्जैयनी का सेनापति कहा जाता है। मान्यता के मुताबिक कालभैरव ही महाकाल नगरी की देखरेख करते हैं।मंदिर में दो बार आरती होती है पहली आरती सुबह साढ़े आठ बजे और दूसरी आरती शाम साढ़े आठ बजे होती है। कालभैरव का चमत्कार जितना अचंभित करने वाला है उतनी ही उनके उज्जैन में बसने की कहानी भी है। कहा जाता है कि यहां मराठा काल में महादजी सिंधिया ने युद्ध में विजयी होने पर भगवान को अपनी पगड़ी अर्पित की थी। उन्होंने भगवान से युद्ध में अपनी जीत की प्रार्थना की थी और कहा था कि युद्ध में विजयी होने के बाद वे मंदिर का जीर्णोद्धार कराएंगे। कालभैरव की कृपा से महादजी सिंधिया युद्धों में विजय हासिल करते चले गए। इसके बाद उन्होंने मंदिर का जीर्णोद्धार करवाया। तब से मराठा सरदारों की पगड़ी भगवान कालभैरव के शीश पर पहनाई जाती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार कल 2 बजे लेंगे शपथ, मंत्रिमंडल में बन सकते हैं 35 मंत्रीनीतीश ने सरकार बनाने का दावा पेश किया, कहा- हमें 164 विधायकों का समर्थनरवि शंकर प्रसाद ने नीतीश कुमार से पूछा बीजेपी के साथ क्यों आए थे? पीएम मोदी के नाम पर आपको जीत मिली, ये कैसा अपमान?पश्चिम बंगाल के बीरभूम में दर्दनाक हादसा, ऑटोरिक्शा और बस की टक्कर में 9 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख'मुफ्त रेवड़ी' कल्चर मामले में सुप्रीम कोर्ट में आमने-सामने AAP और BJP, आम आदमी पार्टी ने कहा- PM मोदी ने 'दोस्तवाद' के लिए खाली किया देश का खजाना23 बार की ग्रैंड स्लैम चैंपियन सेरेना विलियम्स ने अचानक किया रिटायरमेंट का ऐलान, फैंस हुए भावुकMaharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपBihar New Govt: नीतीश कुमार CM, डिप्टी CM व होम मिनिस्ट्री राजद के पाले में, कांग्रेस से स्पीकर बनाए जाने की चर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.