जनभागीदारी अध्यक्ष खुद लेकर पहुंच रहे बाहरी लोगों को, भयभीत जीडीसी की छात्राएं

जीडीसी कॉलेज में गहराया विवाद : जनभागीदारी अध्यक्ष कॉलेजों में कर रहे वीडियोग्राफी, प्राचार्य ने कहा- भय में छात्राएं

By: Gopal Bajpai

Updated: 05 Aug 2018, 11:22 AM IST

उज्जैन. शहर के प्रमुख कन्या महाविद्यालय (जीडीसी) में राजनीतिक हस्ताक्षेप से नया विवाद शुरू हो गया। प्राचार्य और जनभागीदारी अध्यक्ष एक दूसरे के खिलाफ खुलकर सामने आ गए हैं, लेकिन जो आरोप और साक्ष्य सामने आए हैं। वह छात्राओं की सुरक्षा के हिसाब से बिल्कुल भी ठीक नहीं है। प्राचार्य उल्का यादव का कहना है कि जनभागीदारी अध्यक्ष शील लश्करी बिना अनुमति कॉलेज में वीडियोग्राफी करते हैं। उनके साथ बाहरी लोग कॉलेज के अंदर आ जाते हैं। साथ ही उन लोगों का व्यवहार भी ठीक नहीं रहता है। इसके साक्ष्य के रूप में उन्होंने कुछ फोटो भी सार्वजनिक किए। यह फोटो सामने आने के बाद हंगामा मच गया है। इधर, जनभागीदारी अध्यक्ष पर आरोप लगने के बाद सत्ताधारी संगठन में भी हलचल मच गई। मामले को दबाने के लिए आनन-फानन में प्राचार्य को हटवाने की मुहिम शुरू कर दी है, ताकि मामले को दबाया जा सकें।

जीडीसी कॉलेज छात्राओं का प्रमुख कॉलेज है। स्नातक और स्नातकोत्तर के विभिन्न पाठ्यक्रमों का संचालन होता है। साथ ही प्रतिदिन अन्य गतिविधियों का आयोजन होता है। इसमें अतिथि के दौर पर जनभागीदारी अध्यक्ष को भी बुलाया जाता है। जनभागीदारी अध्यक्ष हर कार्यक्रम में किसी न किसी को साथ लेकर जाते हैं। साथ ही उसे मंच पर भी बैठवाते हैं। मामला यहीं तक सीमित नहीं है। अध्यक्ष के साथ जाने वाले लोग कॉलेज में खुलेआम इधर-उधर घुमते-फिरते हैं। प्राचार्य की तरफ से करीब एक दर्जन से अधिक कार्यक्रम की फोटो उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों के संज्ञान में लाई गई है। इसमें एक फोटो में एक पार्षद पति एक महिला शिक्षक के काफी नजदीक खड़ा हुआ है। इस फोटो पर ही प्राचार्य ने जनभागीदारी अध्यक्ष से आपत्ति दर्ज करवाई थी। प्राचार्य का कहना था कि संबंधित व्यक्ति झूम रहा था। इस बार पर जनभागीदारी अध्यक्ष बिगड़ गए और संगठन में शिकायत कर दी।

मैं तो बस साथ लेकर जाता हूं
पत्रिका ने जब जनभागीदारी अध्यक्ष शील लश्करी से हर कार्यक्रम में बिना पूर्व सूचना के किसी को साथ ले जाने और अतिथि बनाने पर बात की तो उनका कहना था कि मैं तो बस साथ ले जाता हूं। अतिथि बनाने का काम कॉलेज प्राचार्य का है। उनके साथ जाने वाले लोगों का छात्राओं और शिक्षकों के बीच घूमना और नजदीक से फोटो खिंचाने पर की बात पर उन्होंने पत्रिका कार्यालय आकर चर्चा करने की बात कही।

खुद जनभागीदारी अध्यक्ष ने बिना अनुमति वीडियोग्राफी करवाई। छात्राओं की सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी है। कुछ दिन पूर्व कॉलेज में जो कुछ घटा, वह छात्राओं के लिए ठीक नहीं है। लड़कियों में भय का माहौल व्याप्त है। हमारा किसी से कोई विवाद नहीं। काम नियमानुसार किया जाएगा।
उल्का यादव, प्राचार्य

 

Gopal Bajpai Editorial Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned