एट्रोसिटी के साथ अपनी पुरानी मांग पर भी अड़े सवर्ण

एट्रोसिटी के साथ अपनी पुरानी मांग पर भी अड़े सवर्ण

Gopal Swaroop Bajpai | Publish: Sep, 09 2018 05:45:48 PM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

रैली निकालकर प्रदर्शन करते हुए। नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपते

उज्जैन. जातिगत आरक्षण खत्म कर आर्थिक आधार देने व एट्रोसिटी एक्ट में संशोधन, इन दो सूत्री मांगों को लेकर अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने देशव्यापारी आंदोलन में शनिवार को महासभा ने सामाजिक न्याय परिसर से रैली निकाली। रैली प्रमुख मार्गों से होती हुई शहीद पार्क पहुंची। यहां कलेक्टर के प्रतिनिधि के रूप में उपस्थित आलोक चौरे नायब तहसीलदार को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा।

अभा क्षत्रिय महासभा के शहर अध्यक्ष बलवीरसिंह पंवार व जिलाध्यक्ष नरेशसिंह भदौरिया ने बताया कि महासभा द्वारा पूरे देश में इन दो सूत्री मांगों को लेकर 30 अगस्त से 07 सितंबर तक हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। इस दौरान महासभा कार्यकर्ताओं ने शहर के चौराहों व कॉलोनियों में स्टॉल लगाकर सामान्य, पिछड़ा व अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के हस्ताक्षर करवाए। इस दौरान ११ हजार हस्ताक्षरों से युक्त 115 पृष्ठीय ज्ञापन शहीद पार्क पर दिया गया।

ज्ञापन के पूर्व महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ठा. भेरूसिंह चौहान, डॉ. रामअवतारसिंह कुशवाह व कुशवाह महेंद्रसिंह बैस ने संबोधित किया। इसके बाद एसपी ऑफिस पहुंच 6 सितंबर को भारत बंद के दौरान सवर्णों पर मुकदमे दायर करने के विरोध में ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन देने में महासभा, करणी सेना, अभा ब्राह्मण समाज, सपाक्स समाज, कायस्थ महासभा मौजूद थे।

ज्ञापन देने वालों में अंगदसिंह भदौरिया, राजेशसिंह कुशवाहए किशोरसिंह भदौरिया, जीवनसिंह तंवर, सुरेंद्रसिंह तोमर, प्रकाशसिंह भदौरिया, रामसिंह जादौन, जितेंद्रसिंह भदौरिया आशीष सिकरवार, पुष्पेंद्रसिंह सिकरवार, राजवीरसिंह तोमर, उषा पंवार, राजकुमारी राठौर, हेमलता तोमर, राजकुमारी दीखित, मीरा सिकरवार के साथ ही सपाक्स अध्यक्ष निर्दोष निर्भय, अभा ब्राह्मण महासभा अध्यक्ष सुरेंद्र चतुर्वेदी मप्र यादव महासभा, चौरषिया समाज, पिछड़ा वर्ग, करणी सेना, राष्ट्रीय हिंदू सेना, आदि मौजूद थे।

16 को होगा करणी का प्रदर्शन
आर्थिक आरक्षण की मांग को लेकर करणी सेना का नानाखेड़ा स्टेडियम में बढ़ा प्रदर्शन होगा। इसकी तैयारी पिछले दो माह से चल रही है। करणी सेना गांव-गांव सम्पर्क कर रही है। इसके कारण प्रशासन भी चिंतित है।सुरक्षा व्यवस्था व विवाद की संभावना को दूर करने के लिए लगातार अधिकारियों के साथ बैठक हो रही है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned