इंदौर की पूर्व भाजपा नेत्री श्रेष्ठा जोशी के खिलाफ उज्जैन में धरना प्रदर्शन

Ujjain News: - प्रदर्शन के बाद एसपी से मिले लाखन सिंह चौहान व दलित समाज के लोग, लाखन ने कहा मेरी जान को खतरा

By: Lalit Saxena

Published: 26 Jun 2020, 06:46 PM IST

उज्जैन. इंदौर की पूर्व भाजपा नेत्री श्रेष्ठा जोशी के बहुचर्चित ऑडियो कांड की आग एक बार फिर भभक उठी है। श्रेष्ठा के खिलाफ शुक्रवार को मंडल उपाध्यक्ष लाखन सिंह चौहान ने सड़क पर धरना प्रदर्शन किया। पीडि़त लाखन ने उज्जैन एसपी मनोजकुमार सिंह से मुलाकात की तथा श्रेष्ठा जोशी को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग करते हुए कहा कि मुझे न्याय दिलाया जाए और श्रेष्ठा की गिरफ्तारी तुरंत की जाए। लाखन का कहना है जब तक श्रेष्ठा की गिरफ्तारी नहीं हो जाती, मेरी जान को खतरा है। साथ ही लाखन ने यह भी कहा है कि भाजपा दलित विरोधी का काम कर रही है। मेरे साथ अभी तक न्याय नहीं हुआ है।

क्या है मामला
भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की पूर्व प्रदेश मंत्री श्रेष्ठा जोशी और उज्जैन के मंडल उपाध्यक्ष लाखन सिंह चौहान के बीच पिछले दिनों विवाद हुआ था, जिसका ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। यह मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। पार्टी ने श्रेष्ठा को तत्काल प्रभाव से पद से हटा दिया था। साथ ही शोकॉज नोटिस भी जारी किया था।

ऐसे हुई थी विवाद की शुरुआत
विवाद की शुरुआत फेसबुक पर जातिगत विषय पर चर्चा थी। इसमें श्रेष्ठा ने कुछ लिखा तो लखन ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी। प्रदेश कार्यालय मंत्री सत्येंद्र भूषण सिंह ने भी पत्र जारी कर यह कहा था कि श्रेष्ठा के इस कृत्य से पार्टी की छवि धूमिल हो रही है। यह कृत्य घोर अनुशासनहीनता की परिधि में आता है।

एफबी पोस्ट के स्क्रीन शॉट किए थे वायरल
प्राप्त जानकारी के अनुसार श्रेष्ठा जोशी और लाखनसिंह चौहान का ऑडियो क्लिप कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर वायरल किया था। साथ ही दोनों के बीच फेसबुक पोस्ट के स्क्रीन शॉट भी सार्वजनिक किए गए थे। ऑडियो में श्रेष्ठा जोशी लाखन सिंह चौहान को अपशब्द कर रही थीं। लाखन सिंह चौहान द्वारा फेसबुक पर की गई पोस्ट पर श्रेष्ठा द्वारा प्रतिक्रिया दी गई और वहीं से विवाद शुरू हुआ था।

BJP bjp leader
Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned