बाबा के दरबार तक नहीं पहुंचे भक्त, मंदिर की आय घटी

बाबा के दरबार तक नहीं पहुंचे भक्त, मंदिर की आय घटी

Gopal Swaroop Bajpai | Publish: Feb, 15 2018 07:17:44 PM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

महाशिवरात्रि पर्व पर सशुल्क पास श्रद्धालुओं की रहीं दूरी, गत वर्ष की तुलना में आधी आय, लड्डू प्रसाद भी कम बिका

उज्जैन. महाकाल मंदिर प्रबंध समिति को महाशिवरात्रि के दो दिनों में गत वर्ष की तुलना में आधी आय भी नहीं हुई है। महाकालेश्वर मंदिर में महाशिवरात्रि के दौरान दर्शन के लिए सशुल्क पास को लेकर श्रद्धालुओ का रुझान इस बार कम रहा है। मंदिर समिति को को इससे गत वर्ष की तुलना में कम आय हुई है। खास बात यह है की गत वर्ष विशेष दर्शन का शुल्क १५१ था और मंदिर के खाते में सवा आठ लाख से अधिक रु. जमा हुए थे।

महाकाल मंदिर समिति द्वारा २५० रु. से विशेष दर्शन का सशुल्क टिकट विक्रय किया जाता है। महाशिवरात्रि पर इसके लिए ७ काउंटर स्थापित किए गए थे। इन काउंटर से मंदिर समिति को ४ लाख १७ हजार रु. प्राप्त हुए है। गत वर्ष की महाशिवरात्रि पर यह आंकड़ा 8 लाख 33 हजार 973 रु. प्राप्त हुए था,जबकि शुल्क मात्र १५१ था। २०१६ में सशुल्क आय १४ लाख रु. थी। आय कम होने के संबंध में मंदिर का कोई भी अधिकारी कुछ कहने के लिए तैयार नहीं है। इसके अलावा इस वर्ष द शिवरात्रि ?ि होने की वजह से श्रद्धालुओं के आगमन की संख्या भी कम ही रहीं।

श्रद्धालुओं की कमी का असर लड्डू पर भी
श्रद्धालुओं की कमी का असर महाकाल मंदिर समिति की ओर से विक्रय किए जाने वाले लड्डू प्रसाद पर भी हुआ है। लड्डू प्रसादी से ०७ लाख 64 हजार 130 रु. की आय हुई है। वर्ष २०१७ में महाशिवरात्रि के दो दिनों में मंदिर समिति को १२ लाख ४३ हजार ५०५ रु. की आय हुई।

पर्व की तिथि भी कारण
इस बार महाशिवरात्रि पर्व की तिथि को लेकर भ्रम की स्थिति थी। पर्व १३ व १४ दो दिन मनाया गया। श्रद्धालुओं की कम संख्या को लेकर इसे भी कारण माना जा रहा है। वहीं कुछ लोग पुलिस और वीआईपी कल्चर बढऩे के चलते आम श्रद्धालुओं की दूरी बता रहे है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned