scriptDevotees take bath in Bawan Kund on Amavasya festival | उज्जैन का यह ऐसा कुंड, पानी में उतरते ही शरीर में होने लगती है कंपन | Patrika News

उज्जैन का यह ऐसा कुंड, पानी में उतरते ही शरीर में होने लगती है कंपन

भूतड़ी अमावस पर दूर-दूर से लोग आकर बावन कुंड में स्नान करते हैं और जिन्हें शरीर बाधा है, वे यहां पानी में पैर डालते ही झूमने लगते हैं।

उज्जैन

Published: April 01, 2022 11:40:25 am

उज्जैन. शुक्रवार को भूतड़ी अमावस्या का पर्व मनाया जा रहा है। कोरोना काल के दो साल बाद अब श्रद्धालुओं ने पतित पावनी मां क्षिप्रा में पुण्य स्नान किया और दान-पुण्य का लाभ लिया। प्रशासन की ओर से भी श्रद्धालुओं को घाट पर स्नान के लिए किसी प्रकार की रोकटोक नहीं लगाई गई। रामघाट पर हजारों श्रद्धालुओं ने शिप्रा स्नान कर अपने पूर्वजों के निमित्त श्राद्ध व तर्पण आदि कार्य किया।

Devotees take bath in Bawan Kund on Amavasya festival
भूतड़ी अमावस पर दूर-दूर से लोग आकर बावन कुंड में स्नान करते हैं और जिन्हें शरीर बाधा है, वे यहां पानी में पैर डालते ही झूमने लगते हैं।

उज्जैन का बावन कुंड, जहां उतरते हैं भूत
नागदा-उन्हेल मार्ग पर तथा मंगलनाथ मंदिर से थोड़ी दूर बावन कुंड के नाम से एक स्थान है। यहां छोटे-छोटे 52 कुंड बने हैं तथा एक बड़ा तालाब के आकार का जलाशय है। ग्रामीण श्रद्धालु भूतड़ी अमावस के दिन दूर-दूर से यहां आकर बावन कुंड में स्नान करते हैं और जिन्हें शरीर में प्रेत बाधा या देवी-देवताओं का अंश है, वे यहां स्नान करते हैं। पानी में पैर डालते ही वे लोग झूमने लगते हैं। इस नजारे को देखना ही अपने आपमें रोमांचकारी है। कई लोग इन्हें देखकर सहम भी जाते हैं।

महाकाल मंदिर में उमड़ी भीड़
दो वर्ष के बाद जब सब कुछ खुल गया है। शासन की ओर से कोई कोरोना गाइड लाइन जारी नहीं हुई है। तो श्रद्धालुओं की आस्था का सैलाब भी धर्म की नगरी में देखने को मिल रहा है। चैत्र मास की भूतड़ी अमावस्या पर हजारों श्रद्धालुओं ने जहां पुण्य सलिला शिप्रा में स्नान किया, वहीं महाकाल मंदिर सहित शहर के अन्य मंदिरों में दर्शन-पूजन किया।

क्या कहते हैं ज्योतिषाचार्य
ज्योतिर्विद पं. आनंदशंकर व्यास ने बताया भूतड़ी अमावस्या का पर्व बहुत खास माना जाता है। इस दिन लाखों की तादात में ग्रामीण व शहरवासी क्षिप्रा स्नान के लिए पहुंचते हैं। पिछले दिनों कोरोना वायरस के प्रभाव को देखते हुए कम से कम भीड़ रखने की बात प्रशासन द्वारा कही जा रही थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है। श्रद्धालु अब शहर आकर पुण्य सलिला मां क्षिप्रा में स्नान करने आने लगे हैं। तीर्थ स्थल में स्नान कर पुण्य लाभ अर्जित कर रहे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

विश्व प्रसिद्ध धार्मिक स्थल हेमकुंड साहिब और लक्ष्मण मंदिर के खुले कपाट, दो साल बाद लौटी रौनकPetrol-Diesel Prices Today: केंद्र के बाद राज्यों ने घटाए पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें कितनी हैं आपके शहर में कीमतेंQuad Summit 2022: प्रधानमंत्री मोदी का जापान दौरा, क्वाड शिखर सम्मेलन में बाइडेन से अहम मुलाकात, जानें और किन मुद्दों पर होगी बातDelhi Suicide Case: 'कमरे में घुसने के बाद लाइटर न जलाएं' दीवार पर लिखकर मां-बेटियों ने दी जान, एक साल पहले कोरोना से हुई थी CA पति की मौतभाजपा नेता को किया गिरफ्तार, आशियाना ध्वस्त करने पहुंचा था बुलडोजरसाप्ताहिक समीक्षा: सोने-चांदी में तेजी, 2290 रुपए सस्ती हुई चांदी, जानें गाेल्ड की कीमतWeather Update: कई राज्यों में आंधी के साथ बूंदाबांदी, अगले 5 दिनों तक बारिश का अलर्ट'हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं', पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती पर पीएम मोदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.