अनुमति के मैसेज को एडिट कर महाकाल की भस्म आरती में जाने की कोशिश की, पहुंच गए यहां...

अनुमति के मैसेज को एडिट कर महाकाल की भस्म आरती में जाने की कोशिश की, पहुंच गए यहां...
Ujjain,message,mahakal mandir,permission,Attempted,Bhasm Aarti,

anil mukati | Publish: Jun, 14 2019 07:00:00 AM (IST) Ujjain, Ujjain, Madhya Pradesh, India

माफी मांगने पर चेतावनी देकर छोड़ दिया

उज्जैन. महाकाल भस्म आरती अनुमति मैसेज को एडिट कर फर्जी अनुमति से प्रवेश करने वाले युवकों को मंदिर प्रबंध समिति के सेवकों ने पकड़ कर पुलिस को सौंप दिया। माफीनामा लिखकर देने के वाद युवकों को चेतावनी देकर छोड़ दिया गया।
महाकाल मंदिर में गुरुवार तड़के इंदौर के छह युवक भस्म आरती के लिए पहुंचे थे। इनमें से पांच की अनुमति तो विधिवत थी, लेकिन एक की अनुमति शंकास्पद थी। जांच करने पर यह फर्जी निकली। युवकों ने भस्म आरती के लिए ५ अनुमति तो प्राप्त कर रखी थी। अनुमति के मैसेज भी इनके मोबाइल पर जारी हो गए थे। प्रवेश के लिए ६ युवक मंदिर पहुंच गए थे। प्रवेश के पहले सत्यापन में ५ अनुमति मैसेज का मिलान तो मंदिर प्रबंध समिति के रिकॉर्ड से हो गया, किन्तु एक संदेश का सत्यापन नहीं हुआ। सभी युवकों को प्रवेश से रोकने के बाद पहले महाकाल पुलिस चौकी और फिर महाकाल थाने ले जाकर पुछताछ की गई। युवकों ने बताया कि उनके एक दोस्त का जन्मदिन था। इसके लिए गुरुवार तड़के की भस्म आरती के लिए ५ अनुमति प्राप्त कर ली। इस बीच महाकाल दर्शन आने के लिए एक और मित्र तैयार हो गया। एेसी स्थिति में मोबाइल पर जारी अनुमति के मैसेज को कापी कर एडिट करने के बाद साथी के मोबाइल पर भेज दिया। इसे आधार बनाकर भस्म आरती में प्रवेश की कोशिश की गई थी,लेकिन पकड़ा गए। पुलिस ने विभिन्न पहलुओं की जांच करने के बाद युवकों ये माफीनामा लिखवाया और चेतावनी के बाद रवाना कर दिया। महाकाल मंदिर प्रबंध समिति मामले की जांच कर रही है।
सड़क पर समान बेचने वालों को हटाया
महाकाल मंदिर के बाहर सड़क किनारे सामान बेचने वाले और ठेले वालों को पुलिस और महाकाल मंदिर प्रबंध समिति के अधिकारियों-सेवकों ने हटा दिया। सभी को चेतावनी दी गई कि फिर सामान बेचने और ठेला लगाने पर सामान जब्त कर दिया जाएगा। कुछ समय से मंदिर के बाहर सड़क के किनारे कब्जा कर सामान बेचने वालों की संख्या बढ़ गई थी। इससे अव्यवस्था होने के साथ श्रद्धालुओं को परेशानी हो रहीं थी। गुरुवार दोपहर महाकाल मंदिर प्रबंध समिति के उपप्रशासक आशुतोष गोस्वामी के साथ नायब तहसीलदार मूलचंद जूनवाल,श्रीकांत शर्मा और महाकाल थाने के प्रभारी अरविंद तोमर ने महाकाल मंदिर प्रबंध समिति सेवकों,पुलिस जवानों के साथ सभी को हटा दिया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned