चोरों से मिली महंगी बाइकें, बड़े शहरों में देते थे वारदात अंजाम

4 बुलेट व एक पल्सर जब्त, तीन गिरफ्तार

आगर-मालवा. कोतवाली पुलिस को दो पहिया वाहन चोरी के मामले में एक बड़ी सफलता मिली है। कोतवाली पुलिस ने लगातार एक महीने की मशक्कत के बाद 4 बुलेट तथा 1 पल्सर वाहन जब्त कर 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दो आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस के हत्थे चढ़े आरोपी बड़े शहरों से चोरी हुई बुलेट आगर एवं आस-पास में खपाने का काम कर रहे थे।
पिछले 1 माह पूर्व पुलिस को सूचना मिली कि आगर में बगैर नंबर के चलने वाली बुलेट वाहन में कुछ वाहन चोरी के चल रहे है। एसपी सविता सोहाने, एएसपी प्रदीप पटेल के निर्देश पर तथा एसडीओपी एसआर पाटीदार के मार्गदर्शन में जब कोतवाली थाना प्रभारी अजीत तिवारी ने जांच पड़ताल आरंभ की तो शुरुआती दौर में एक बुलेट पुलिस के हत्थे चढ़ गई और इस मामले से तार से तार मिलने लगे। पुलिस जांच आगे बड़ी तो खुलासा हुआ कि भोपाल एवं इंदौर जैसे बड़े शहरो से चोरी हुई बुलेट तथा पल्सर जैसी महंगी बाइक आगर जिले के समीपवर्ती गांवों में खपाई जा रही है। धीरे-धीरे पुलिस ने अपना जांच का दायरा बढ़ाया और माकड़ौन थाना क्षेत्र के ग्राम सुवास निवासी सोदान पिता देवीसिंह को वाहन चेकिंग के दौरान रोका तो उससे चोरी की एक बुलेट बरामद की गई। जब देवीसिंह से पूछताछ की गई तो उसने अन्य आरोपियों का खुलासा किया। आरोपियों द्वारा तीन बुलेट एवं एक पल्सर वाहन भोपाल से चुराया गया तथा एक बुलेट इंदौर से चोरी हुई थी।
कंजरों के माध्यम से आती थी बुलेट
पुलिस ने जब सोदानसिंह से पूछताछ की तो उसने पुलिस को बताया कि करेड़ी शाजापुर निवासी कान्हा नामक एक कंजर समुदाय का युवक उसके सम्पर्क में था और उसके माध्यम से वह बुलेट मंगवाता था। शुरुआती दौर में एक बुलेट स्वयं ने रखी और दूसरी बुलेट गांव के ही निवासी नवीनसिंह पिता कुमेरसिंह को बेच दी। जब तीसरी बुलेट कंजरों द्वारा भेजी गई तो देपालपुर के पास ग्राम खड़ोदिया निवासी उसके भांजे राजेन्द्रसिंह को बेच दी। चौथी बुलेट उन्हेल के पास स्थित ग्राम ईटावा निवासी विजय पिता ईश्वरसिंह को बेची। कंजरों ने एक पल्सर वाहन भी सोदानसिंह को दिया तो उसने यह वाहन विजय पिता देवीसिंह चंद्रावतिगंज इंदौर को बेच दिया। पुलिस ने सभी वाहन जब्त करते हुए विजय पिता देवीसिंह उम्र 21 वर्ष निवासी आसाखेड़ी थाना चंद्रावतिगंज इंदौर, विजय पिता ईश्वर ग्राम ईटावा थाना उन्हेल जिला उज्जैन, सोदानसिंह पिता देवीसिंह ग्राम सुवास थाना माकड़ौन उज्जैन को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से जब्त हुए वाहनों की कीमत करीब 7 लाख रुपए बताई जा रही है। इस मामले में पुलिस द्वारा नवीनसिंह पिता कुमेरसिंह ग्राम सुवास एवं राजेन्द्रसिंह पिता दातारसिंह निवासी खड़ोतिया नामक दो आरोपियो की तलाश की जा रही है। इस कार्रवाई को अंजाम तक पहुंचाने में कोतवाली थाना प्रभारी के साथ सउनि बीएस ठकराल, प्रआर सतीश नाथ, आरक्षक कृष्णानंद यादव, बलराम पटेल, जसवंतसिंह, पंकजसिंह तोमर, अमित तोमर, शिवम यादव, शिवम सोनी की अहम भूमिका रही।
शहर में अब दिखाई देती है इक्का-दुक्का बुलेट
एसडीओपी, कोतवाली थाना प्रभारी आए दिन बुलेट चालकों को रोककर फटकार लगाते रहते हैं और कई बार बगैर नंबर की बुलेट को थाने तक भी पहुंचाया गया है लेकिन शहर में चलने वाली अधिकांश बुलेट पर नंबर न लिखाना वाहन चालकों के लिए फेशन बन चुका है। हालांकि पिछले 1 माह से पुलिस द्वारा जब बुलेट वाहनों की पड़ताल आरंभ की गई तो शहर की सड़कों पर अब इक्का-दुक्का बुलेट ही दिखाई दे रही है, जबकि एक माह पूर्व जगह-जगह बुलेट वाहन दिखाई देता था।
चोरी के बुलेट वाहनों के संबंध में सूचना मिलने पर जब पड़ताल की गई तो खुलासा होता गया आरोपी सोदानसिंह कंजरों के माध्यम से चोरी की बुलेट मंगवाकर खपाने का कार्य कर रहा था। अभी और भी कई वाहन हमारी निगरानी में है शीघ्र ही अगली कार्रवाई भी करेंगे बगैर नंबर के वाहनों के संचालन पर प्रभावी कार्रवाई की जाएगी।
अजीत तिवारी, कोतवाली थाना प्रभारी

Mukesh Malavat
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned