कमिशनर कार्यालय के बाहर किसान छोड़ गए गाय, जमकर हुआ हंगामा

कमिशनर कार्यालय के बाहर किसान छोड़ गए गाय, जमकर हुआ हंगामा

Gopal Bajpai | Publish: Sep, 08 2018 12:02:09 PM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

दूध की अपेक्षित कीमत नहीं मिलने को लेकर किसानों ने किया विरोध प्रदर्शन

उज्जैन. दूध की अपेक्षित कीमत नहीं मिलने को लेकर शुक्रवार को किसानों ने विरोध जताया। किसानों ने हरिफाटक ब्रिज से कमिश्नर कार्यालय कोठी तक रैली निकाली। कोठी का घेराव करने के साथ ही किसानों ने जमकर नारेबाजी की। दुग्ध समिति द्वारा जल्द गाय का दूध खरीदने पर रोक की आशंका में किसानों ने चेतावनी दी कि यदि एेसा निर्णय लिया जाता है तो वे अपनी गायें कोठी पर छोड़ देंगे।

भारतीय किसान संघ के बैनर तले हुए प्रदर्शन में किसानों ने बताया, दुग्ध समिति जुलाई-अगस्त से 6.20 रुपए प्रति फेट के मान से किसानों को दूध का भुगतान किया जाता था, जिसे वर्तमान में 4.80 रुपए कर दिया गया है। इससे किसानों को प्रति लीटर 8.40 से 9 रुपए का नुकसान हो रहा है।

पिछले वर्ष का दूध 800 एसएनएफ व भैंस का दूध 825 एसएनएफ था, जो अब बढ़ाकर 825 व 850 कर दिया गया है। इससे अत्याधिक किसानों का भुगतान भी नहीं हो पा रहा है। किसानों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। इसके अलावा भी किसानों ने दूध के कम दाम मिलने का हवाला देते हुए समस्याएं गिनाईं। प्रदर्शन के दौरान कुछ किसान नेताओं ने आशंका जताई कि समिति अगले महीने से गाय का दूध खरीदना बंद करने वाली है। एेसा होने पर किसान कैसे गाय का पालन करेंगे।किसानों ने एेसी स्थिति में गायों को कोठी पर छोडऩे की चेतावनी दी। संभागायुक्त को ज्ञापन देने के बाद किसानों ने मेला कार्यालय के बाहर पुतला भी जलाया।

जवाब नहीं मिलने उखड़े किसान
किसानों का ज्ञापन लेने के लिए पहले एसडीएम अनिल बनवारिया आए, लेकिन किसानों ने संभागायुक्त को ही ज्ञापन देने का कहा। एक प्रतिनिधि मंडल संभागायुक्त से मिला और ज्ञापन लेने व किसानों की समस्या सुनने का कहा। संभागायुक्त एमबी ओझा कार्यालय से बाहर निकल किसानों से ज्ञापन लेकर लौट गए। इस पर कुछ किसान उखड़ गए। उन्होंने संभागायुक्त द्वारा ज्ञापन को लेकर कोई आश्वासन या जवाब नहीं देने पर नाराजगी जताई। इसको लेकर किसान संघ पदाधिकारी व किसानों के बीच हल्की बहस भी हो गई।

Ad Block is Banned