...यहां से देख सकेंगे डूबते सूरज का खूबसूरत नजारा

Lalit Saxena

Publish: Feb, 15 2018 08:03:01 AM (IST)

Ujjain, Madhya Pradesh, India
...यहां से देख सकेंगे डूबते सूरज का खूबसूरत नजारा

एक करोड़ की लागत से विकसित होगी सनसेट वॉल, आगामी ६ माह में अमलीजामा पहनेगी कार्ययोजना

नागदा. ५५०० हजार साल पुराने मुक्तेश्वर महादेव मंदिर पर सूर्यास्त का अलौकिक नजारा दिखाई देगा। सूर्यास्त के दर्शन कराने के लिए नगर पालिका ने कवायद शुरू कर दी है। जिसके लिए नपा ने परिषद सदस्यों से मंजूरी भी ले ली है। करीब एक करोड़ के प्रोजेक्ट को आगामी ६ माह में पूरा किया जाना सुनिश्चित किया है।
दरअसल, प्राचीन मुक्तेश्वर महादेव मंदिर के प्रवेश द्वार पर सनसेट (सूर्यास्त) वॉल बनाया जा रहा है। वॉल जहां चंबल नदी से श्रद्धालुओं व मंदिर की चार दीवारी की सुरक्षा करेगा वहीं सूर्यास्त के दर्शन भी होंगे। इतना ही नहीं मंदिर पसिर में बच्चों व बड़ों के मनोरंजन के लिए भी उपयुक्त व्यवस्था की जाएगी। जिसमें बच्चों के लिए झूला चकरी व बड़ों के लिए सीटिंग चेयर रखे जाएंगे। योजना का उद्देश्य शहर की प्राचीन विरासत को संजोये रखने के साथ ही पर्यटन को बढ़ावा देना है।
दर्शानर्थियों की संख्या रखती है मायने
बता दें, कि मुक्तेश्वर महादेव मंदिर अपने भीतर ५५०० हजार साल पुराना इतिहास संजोये बैठा है। मंदिर समीप स्थित नाग टेकरी का भी साक्षी माना जाना है। इतिहास की महत्वता को ध्यान में रखने हुए नपा ने उक्त निर्णय लिया है। कार्य को लेकर नपाध्यक्ष अशोक मालवीय, अनुविभागिय अधिकारी डॉ. रजनीश श्रीवास्तव व राजस्व अधिकारियों ने निर्माण स्थल का निरीक्षण किया है। वर्तमान में मुक्तेश्वर महादेव मंदिर का नवीनीकरण कार्य प्रगति पर है। प्रोजेक्ट से भिन्न रख वॉल का निर्माण किया जाएगा।
कल-कल करती चंबल भी दिखेगी
बारिश के दिनों में चंबल नदी उफान पर रहती है। इस दौरान महादेव मंदिर के समीप स्थित चामुंडा माता मंदिर आकर्षण का केंद्र रहता है। चारों ओर बारिश का पानी जमा होने के कारण शहरवासियों के पास नदी का कल-कल करता रुप देखने का कोई दूसरा माध्यम नहीं होता। सनसेट वॉल का निर्माण हो जाने के बाद से चंबल नदी का स्वरूप
भी शहरवासी देख सकेंगे। वॉल निर्माण व डिजाइन को लेकर नगर पालिका अधिकारियों द्वारा मंथन किया जा रहा है। जिसमें सुरक्षा
के पर्याप्त साधनों को ध्यान में
रखा जाएगा।
क्या है योजना
शहर का अस्तिव कहे जाने वाले प्राचीन मुक्तेश्वर महादेव मंदिर के मुख्य द्वार पर सनसेट वॉल बनाया जाना सुनिश्चित किया है। वॉल मंदिर की सुरक्षा व दर्शन करने पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा को देखते हुए बनाया जाएगा। टेंडर प्रक्रिया पूरी होने के बाद से निर्माण कार्य आकार लेने लगेगा। नपा अध्यक्ष ने बताया कि योजना को पूरा करने के लिए आगामी ६ माह का समय निर्धारित किया है। टेंडर प्रक्रिया पूरा होते ही करीब एक करोड़ की लागत से कार्य को पूरा किया जाएगा।
चामुंडा माता मंदिर भी संवरेगा
सन सेट वॉल के प्रोजेक्ट से भिन्न चंबल तट स्थित चामुंडा माता मंदिर को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किए जाने की योजना बनाई गई है। जिसको लेकर नगर पालिका अफसरों ने बीते २०१७ में मंदिर के खाली स्थानों का निरीक्षण किया था। योजना को अमली जामा पहनाने के लिए नपाध्यक्ष ने अधिकारियों के साथ मौके का निरीक्षण कर विभिन्न निर्माण की कार्य योजना पर तत्काल अमल करने के निर्देश दिए हैं। चामुंडा माता का भी प्राचीन अस्तिव है, मंदिर का महत्व चैत्र, शारदीय नवरात्रि के दौरान देखने को मिलता है। मंदिर जावरा-नागदा-उज्जैन के बीच में स्थापित है, इसकी महत्ता और अधिक बढ़ जाती है। मंदिर के सामने छोटी पुलिया पर रेलिंग बनाई जाएगी।
&मुक्तेश्वर महादेव मंदिर परिसर में करीब एक करोड़ की लागत से सनसेट वॉल व पिकनिक स्पॉट बनाए जाने की योजना है। योजना करीब ६ माह में पूरी कर ली जाएगी। बैठक में प्रस्ताव को मंजूरी मिल चुकी है। जल्द ही कार्य के ऑन लाइन टेंडर जारी कर दिए जाएंगे।
अशोक मालवीय, अध्यक्ष, नपा

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned