सड़कों पर चलते हुए गोमाता देती है आर्शिवाद, फिर होती है दुर्घटनाएं

कांजी हाउस के लिए भूमि तो देखी, लेकिन कार्रवाई नहीं हो सकी शुरु

By: Gopal Bajpai

Published: 20 Jul 2018, 08:39 PM IST



नागदा। शहर की प्रमुख सड़कें इन दिनों मवेशियों की चहल कदमी के आगे बेबस है। मवेशियों का समूह सड़कों के बीचों बीच जमावड़ा कर बैठा दिखाई दे रहा है। मवेशियों का झुंड यातायात बाधित कर राहगिरों को चोटिल कर रहा है। विड़बना यह है, कि नगर पालिका की ओर से मवेशियों को खदेडऩे या उन्हें किसी निजी गोशाला के हवाले करना उचित नहीं समझ रहा है। लिहाजा शहरवासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बता दें, कि पाड्ल्या रोड निवासी बालमुंकद पांचाल को मवेशियों ने इतनी जोरदार टक्कर मारी की वे गंभीर रुप से घायल हो गए। घटना के दौरान पांचाल को गंभीर चोट आई थी। उपचार के दौरान बीते २४ अगस्त को उनकी मृत्यु हो गई। विड़बना यह है, कि नगर पालिका अध्यक्ष अशोक मालवीय द्वारा अफसरों के दल बल के साथ कांजी हाउस निर्माण के लिए मेहतवास स्थित चंबल नदी के तट के समीप भूमि तो देख ली गई, लेकिन योजना के क्रियान्वयन को लेकर किसी प्रकार की शुरुआत अभी नहीं की गई।
बिरलाग्राम में सबसे अधिक जमावड़ा
प्रतिदिन सैकड़ों की तादात में बढ़ रहे मवेशियों का जमावड़ा बिरलाग्राम रहवासी क्षेत्र में अधिक देखने को मिल रहा है। कारण मवेशियों को पर्याप्त मात्रा में घरेलु भोजन मिल पाना है। बिरलाग्राम, गवर्नमेंट कॉलोनी क्षेत्र में मवेशियों के कारण लोगों का घरों से निकलना मुश्किल हो गया है। इतना ही नहीं इतनी तादात में मवेशियों द्वारा किए गए गोबर को साफ करने में लोगों के पसीने छुट जाते हैं। परेशानी से निजात के लिए लोगों ने नपा में शिकायत दी है। इतना ही नहीं खाचरौद जावरा स्टेट हाइवे को जोडऩे वाले महिदपुर नाके पर सुबह हो या रात सैकड़ों मवेशियों की संख्या दिखना आम बात है। लिहाजा मार्ग से गुजरने वाले लोगों को वाहनों से निकलने में परेशान होना पड़ता है।
आड़ में पशुपालकों ने भी छोड़े मवेशी
बता दें, कि बारिश के दौरान शहर की सड़कों पर एकाएक बढ़ रहे मवेशियों में आधे से अधिक पशुपालकों के मवेशी शामिल है। बारिश के दिनों में चारे की उपलब्धता कम होने के कारण पशुपालक मवेशियों को सड़कों पर खदेड़ रहे हैं। मवेशियों की परेशानियों से निजात दिलाने के लिए रहवासियों व किसानों द्वारा कई बार मांगे उठाई गई, लेकिन निराकरण नहीं हो सका। सबसे अधिक मवेशियों की संख्या मुख्य मार्गों पर देखी जा रही है। जिसमें जवाहर मार्ग, पुराना बस स्टैंड, एप्रोच रोड, एमजी रोड, रानी लक्ष्मी बाई मार्ग, बिरलाग्राम, गवर्नमेंट कॉलोनी आदि शामिल है। उक्त स्थानों पर दर्जनों की संख्या में मवेशियों का जमावड़ा देखा जा रहा है। मुख्य मार्गों पर झुंड में मवेशी उनके आसपास से निकलने वाले राहगीरों को टक्कर मार कर चोटिल कर रहे हैं।
इनका कहना-
यह बात सही है, शहर में इन दिनों आवारा मवेशी बहुतायद में देखने को मिल रहे हैं। कांजी हाउस निर्माण के लिए चंबल नदी के समीप भूमि देखी जा चुकी है, दस्तावेजी कार्यवाई पूरी होते है कार्य शुरु किए जाने की योजना है।
अशोक मालवीय
अध्यक्ष, नगर पालिका

Gopal Bajpai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned