उज्जैन में बालिका से बोले- मेरे पास आना कचौरी खिलाउंगा, फिर यह हुआ

स्कूल आते-जाते परेशान व शादी नहीं करने पर जान से मारने की धमकी देने वाले चार युवकों को एक-एक वर्ष की सजा

 

उज्जैन. बालिका से छेड़छाड़ करने वाले आरोपी दीपक उर्फ दीपू उर्फ कुलदीप पिता नंद किशोर उर्फ नान्शु उर्फ रामकिशन, अनिल पिता रामप्रताप, लालू उर्फ मयंक सिसोदिया पिता महेश कुमार सभी निवासी ऋषिनगर व कपिल पिता प्रकाश निवासी बंसत बिहार कॉलोनी को न्यायालय ने एक-एक वर्ष की कैद तथा तीन हजार रुपए के अर्थदंड की सजा सुनाई है।

उप-सचांलक डॉ. साकेत व्यास ने बताया कि पीडि़त लड़की ने १ जनवरी 2015 को थाना माधवनगर में रिपोर्ट दर्ज करवाई कि वह मां द्वारा संचालित दुकान में बैठती है। आरोपी दीपक , लालू उर्फ मयंक, कपिल एवं अनिल दिनांक २ जनवरी २०१५ से लगातार उसके साथ जब वह स्कूल जाती या उसकी दुकान पर बैठती है तो उसे देखकर गंदे इशारे करते हैं तथा आते जाते उसका पीछा करते हैं। घटना वाली रात करीब 08:30 बजे से 09:00 बजे यह चारों आरोपी सब्जी वाली की दुकान पर मिले व आरोपी दीपक ने पीडिता से बोला कि मेरे पास आना तो मैं तुझे कचोरी खिलाऊंगा एवं एकदम से उसका बुरी नियत से हाथ पकड़ लिया । जब उसने विरोध किया तो धमकी दी कि जो बने कर लेना।
वहीं जान से मारने की धमकी भी दी। यह घटना बालिका ने घर जाकर अपने माता पिता एवं भाई को बताई। इस पर माधवनगर ने प्रकरण दर्ज करते हुए न्यायालय में अभियोग पत्र प्रस्तुत किया। जिस पर न्यायालय ने आरोपियों को सजा सुनाई। वहीं सुनवाई के दौरान अभियुक्त के अधिवक्ता ने न्यायालय से निवेदन किया कि अभियुक्तगण व्यापारी हैं। इसलिए उनके प्रति सहानुभूति पूर्वक विचार किया जाये। इस पर न्यायालय ने टिप्पणी करते हुए कहा कि अभियुक्तगण द्वारा अवयस्क बालिका का लैंगिक उत्पीडऩ किया गया है ऐसी घटनाओं के कारण ही अपने ही मोहल्ले में लड़कियां अपने घरों से स्वच्छंद तरीके से बाहर विचरण नहीं कर पाती है।

जितेंद्र सिंह चौहान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned