यहां बच्चों खातिर पति-पत्नी ने ऐसे दूर किया मनमुटाव

नेशनल लोक अदालत में 510 प्रकरणों का हुआ निराकरण, 3.40 करोड़ का अवॉर्ड पारित

प्रकरण एक-
उज्जैन की पूजा का विवाह खाचरौद के रमेश के साथ 2015 में हुआ था। इनका ढाई वर्ष का पुत्र संदीप है। दोनों पति-पत्नी आपसी मतभेद के कारण 1 वर्ष से अलग रह रहे थे। पूजा ने खिलाफ भरण पोषण का केस भी लगा रखा है। पारिवार न्यायालय में दोनों के पुत्र संदीप के प्रति लगाव जाहिर किया। समझाने पर दोनों ने साथ में रहना तय किया।

प्रकरण दो
उज्जैन की पूजा बसेर का विवाह इंदौर निवासी दिशांत बसेर से 2014 में हुआ। इनका भी तीन वर्ष का बेटा राजय बसेर है। वैचारिक मतभेद से पति-पत्नी अलग रह रहे थे। पूजा ने अपने पति के विरुद्ध विवाह विच्छेद का प्रकरण भी दायर किया था। दोनों को बेटे राय बसेर के प्रति लगाव था। समझाने पर सहमति से एकसाथ रहने का तैयार हो गए।

उज्जैन।
नेशनल लोक अदालत में परिवार न्यायालय में लंबे समस से एक-दूसरे से दूर रह रहे पति-पत्नी अपने बच्चोंं के प्रति लगाव के चलते साथ रहने को रजामंद हुए। परिवार न्यायालय में 23 केस का प्रकरण आपसी सहमति के आधार पर किया गया। इसमें सात मामलो में पति-पत्नी ने साथ में रहना स्वीकार किया।

नेशनल लोक अदालत में विभिन्न प्रकरणों के निराकरण के लिए जिले में 39 खंडपीठों का गठन किया गया था। इसमें पेंडिंग केसेस 3517 तथा प्री लिटिगेशन के 1120 प्रकरण रखे गए थे। उज्जैन जिला एवं सत्र न्यायाधीश एसकेपी कुलकर्णी, विशेष न्यायाधीश विजय कुमार पांडे, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के के सचिव पद्मेश शाह ने शनिवार सुबह नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ किया। दिनभर चली सुनवाई में ५१० प्रकरणों का निराकरण किया गया। इसमें ९६० से अधिक अधिक पक्षकार लाभान्वित हुए। वहीं ३.४० करोड़ रुपए का अवॉर्ड पारित हुआ। परिवार न्यायालय में अभिभाषक हरदयालसिंह ठाकुर, रविकांत सोनी व प्रदीप कुमा शर्मा ने पति-पत्नी के बीच मध्यस्थता करवाने में भूमिका निभाई।
बारिश के कारण कम लोग पहुंचे

नेशनल लोक अदालत में बारिश का असर भी दिखाई दिया। ३९ खंडपीठों में करीब ६७०० प्रकरण रखे गए थे। बारिश के चलते कम लोग पहुंचे। लिहाजा अनेक प्रकरणों का समाधान नहीं हो सका। हालांकि बिजली बिल, मोटर दुर्घटना व बैंकों की वसूली के कई प्रकरणों का निराकरण भी हुआ।

जितेंद्र सिंह चौहान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned