महाकाल मंदिर में बुजुर्गों का अपमान

ठीक से दर्शन नहीं होने पर सीनियर सिटीजन ने जताई नाराजगी, शिकायत रजिस्टर में लिखा-अव्यस्था से मुक्ति दिलाएं

उज्जैन. विश्वप्रसिद्ध बाबा महाकाल के मंदिर में वरिष्ठ नागरिकों के साथ दुव्र्यवहार हो रहा है। यहां बुजुर्गों को लंबी-लंबी कतार में लगना पड़ रहा है, वहीं जब उनका नंबर आता है तो उन्हें ठीक से दर्शन भी नहीं करने दिए जाते। साथ ही सुरक्षाकर्मी और पुलिस द्वारा उनसे दुव्र्यहार भी किया जा रहा है। ऐसा ही एक मामला मंगलवार शाम को सामने आया, जब दो सीनियर सिटीजन दर्शन करने पहुंचे तो उन्हें अव्यवस्थाओं का शिकार होना पड़ा। इस पर वे भड़क गए और मंदिर की व्यवस्थाओं से क्षुब्ध होकर नाराजगी जताई। उन्होंने शिकायत रजिस्टर में अपनी तरफ से शिकायत भी लिख दी।
ऋषिनगर निवासी रंगनाथ प्रभाकर मुंगेर और उनके साथी मंगलवार शाम को बाबा महाकाल दर्शन करने पहुंचे थे। गर्भगृह में प्रवेश बंद होने के कारण नंदी हॉल के पीछे बैरिकेड्स में डबल लाइन चलाई जा रही थी, जहां से सभी को जल्दी-जल्दी दर्शन करके बाहर निकलने को कहा जा रहा था। ऐसे में ये दोनों सीनियर सिटीजन ठीक से दर्शन नहीं कर पाए और उन्हें बाहर निकाल दिया गया। इस पर वे नाराज हो गए और वापस लाइन में लगने की बात कहने लगे, जिस पर वहां मौजूद गार्ड और कर्मचारियों ने उन्हें बाहर जाने को कह दिया। तमतमाए दोनों वरिष्ठ प्रोटोकॉल कार्यालय पहुंचे और वहां मौजूद शिकायत रजिस्टर में अपनी शिकायत दर्ज कराई।
कार्तिकेय और गणपति मंडपम से कराए जा रहे दर्शन
मंदिर में इन दिनों बाहरी दर्शनार्थियों की लंबी कतार होने से बतौर व्यवस्था के कार्तिकेय और गणपति मंडपम से ही सभी को दर्शन कराए जा रहे हैं। ऊपर कार्तिकेय मंडपम के बाद दर्शनार्थियों को कतारबद्ध होकर नीचे लाया जाता है, जहां नंदी हॉल के पीछे से ही सभी को दर्शन करके बाहर निकाला जाता है।
अव्यवस्था से मुक्ति दिलाएं
वरिष्ठजन ने शिकायती रजिस्टर में लिखा है कि वे लाइन में लगकर ही दर्शन कर रहे थे, लेकिन उन्हें ठीक से दर्शन नहीं हो पाए। बाबा महाकाल की एक झलक पाने के लिए वे देर तक कतारबद्ध रहे और जब सामने पहुंचे तो सुरक्षाकर्मी, पुलिस द्वारा अपमानित होना पड़ा। इस अव्यवस्था से शीघ्र मुक्ति दिलाएं।

anil mukati Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned