मां को होटल में छोड़कर चला गया था IPS बेटा, ढाई महीने बाद आश्रम आया तो लिपटकर रो पड़ीं, बोली- क्यों किया ऐसा

मां को होटल में छोड़कर चला गया था IPS बेटा, ढाई महीने बाद आश्रम आया तो लिपटकर रो पड़ीं, बोली- क्यों किया ऐसा

Muneshwar Kumar | Updated: 26 Jul 2019, 02:35:02 PM (IST) Ujjain, Ujjain, Madhya Pradesh, India

उज्जैन स्थित एक आश्रम से जब आईपीएस बेटे अपने मां को लेने आया तो लिपटकर वो रोने लगीं।

उज्जैन. मध्यप्रदेश के उज्जैन स्थित एक आश्रम में दिल्ली की तारा जोशी ( ips mother ) पिछले ढाई महीने से रह रही थीं। उनका आईपीएस ( IPS officer ) बेटा ढाई महीने पहले होटल में छोड़कर चल गया था। अब ढाई महीने बाद बुधवार को उज्जैन स्थित सेवाधाम आश्रम ( Sewadham Ashram Ujjain ) से उन्हें लेने पहुंचा तो वह लिपटकर रो पड़ीं। फिर रोते हुए बेटे से पूछीं कि क्यों तुम मुझे यहां छोड़कर चला गया था। बेटे ने भी रोते हुए कहा कि कुछ मजबूरियां थीं मां, अब जिंदगीभर तुम्हारे साथ रहूंगा।

 

दरअसल, करीब ढाई महीने पहले तारा जोशी अपने बेटे अविनाश जोशी के साथ उज्जैन महाकाल के दर्शन के लिए आईं थीं। यहां वो एक होटल में रुके थे। अचानक बेटे ने अपनी मां से कहा कि मुझे एक जरूरी काम आ गया है। मुझे जाना पड़ेगा। यह कह बेटा अविनाश होटल से चला गया। मां कई दिनों तक होटल में इंतजार करती रहीं। लेकिन बेटे ने कोई संपर्क नहीं किया। इस बीच तारा जोशी के पैसे भी खत्म हो गए। फिर होटल संचालक ने उज्जैन डीएम शशांक मिश्र को इसकी जानकारी दी।

ips mother

 

डीएम ने की मदद
होटल संचालक के द्वारा मिली जानकारी के बाद डीएम ने तारा जोशी को वन स्टॉप सेंटर भिजवा दिया। उसके बाद इस बात की जानकारी उज्जैन शहर से 14 किलोमीटर दूर स्थित सेवाधाम आश्रम को मिली। सेवाधाम आश्रम के संचालक सुधीर गोयल वन स्टॉप सेंटर से तारा जोशी को अपने आश्रम ले गए। तारा जोशी अप्रैल 2019 से सेवाधाम आश्रम में ही रह रही थीं।

ips mother


अविनाश जोशी का नंबर ढूंढा
तारा जोशी को आश्रम में लाकर में संचालकों ने इनके बेटे अविनाश जोशी का पता लगाना शुरू किया। आश्रम के लोगों को अविनाश जोशी का मोबाइल नंबर मिल गया। अविनाश से जब आश्रम के लोगों ने संपर्क किया तो उन्होंने तुरंत आने में असमर्थतता जताई और अपनी मजबूरियां बताई और कहा कि मैं कुछ महीने बाद आ पाऊंगा। लेकिन आश्रम के लोग लगातार अविनाश के संपर्क में रहें।

ips mother

 

ढाई महीने बाद लेने आया
आखिरका अविनाश जोशी ढाई महीने बाद अपनी मां को लेने उज्जैन स्थित सेवाधाम आश्रम पहुंचे। बेटे को आंखों के सामने देख मां तारा जोशी लिपटकर रो पड़ीं। उन्होंने बेटे से पूछीं कि मुझे छोड़कर क्यों चला गया था। मां की यह बात सुन अविनाश की आंखें भी नम हो गईं। फिर फफकते हुए बोला- कुछ मजबूरियां थीं मां, अब तुम्हारे साथ ही रहूंगा।

ips mother

 

मेरा रत्न मिल गया
आश्रम के लोगों ने बताया कि बेटे को देख तारा जोशी की खुशी का ठिकाना नहीं था। आईपीएस बेटे अविनाश जोशी को गले लगाकर वह कहने लगी कि मुझे विश्वास था मेरा बेटा एक दिन जरूर आएगा, मेरा रत्न मुझे मिल गया जिसे मैं भगवान से भी अधिक प्यार करती हूं।

ips mother


2004 बैच के हैं IPS
अविनाश जोशी 2004 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। वे गुजरात कैडर के अधिकारी हैं। वे निलंबित होने की वजह से कुछ दिनों से परेशान चल रहे थे। अविनाश की अभी तक शादी नहीं हुई है। अविनाश ने मीडिया से कहा कि जिंदगी में सब अपने हाथ में नहीं होता। कुछ व्यक्तिगत मजबूरियां की वजह से मां को छोड़कर जाना पड़ा। मेरी मां ने मुझे बहुत अच्छी परवरिश दी है।

ips mother

 

मां को दिल्ली ले गए अविनाश
वहीं, अविनाश जोशी अपनी मां तारा जोशी को साथ में दिल्ली ले गए। मां-बेटे की कुछ द्रवित करने देने वाली तस्वीरें आश्रम ने शेयर की है। आश्रम के लोगों ने दोनों को मिष्ठान खिलाकर और उपहार देकर यहां से विदा किया। साथ ही फिर से पुत्र के साथ मां का पुनर्वास किया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned