रोटी बनाने के विवाद में जीजा को ही मार डाला

दो वर्ष पहले बड़े भाई से रोटी बनाने को लेकर हुए विवाद में बीच बचाव करने के दौरान जीजा के सिर में मार दी सब्बल, मौके पर हो गई थी मौत, अब मिली उम्रकैद

उज्जैन. दो साल पहले बड़े भाई से रोटी बनाने को लेकर हुए विवाद में बीच बचाव करने आए जीजा की सब्बल मारकर हत्या करने वाले रामचंद्र पिता अंबाराम निवासी राघोपिपलिया को कोर्ट ने आजीवन कारावास एवं 1500 रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है।
उप-संचालक अभियोजन डॉ साकेत व्यास ने बताया कि फरियादी मानसिंह पिता अम्बाराम ने 27 अगस्त 2018 को नानाखेड़ा थाने पर बताया कि 26 अगस्त की रात्रि करीब 8.30 बजे मैं व मेरा छोटा भाई आरोपी रामचंद्र घर पर थे। मेरी पत्नी व मां त्योहार करने गई हुईं थी तो मैंने छोटे भाई रामचंद्र से बोला कि तेरी इच्छा है तो खाना बना ले, मुझे नहीं खाना है। इतने में रामचंद्र मुझे गाली देने लगा और बोला कि मेरा दिमाग क्यों खराब करता है। मैंने उसको गाली देने से मना किया तो वह लोहे की सब्बल निकालकर लाया और मेरे दाहीने पैर के घुटने में मार दी। मैं चिल्लाते हुए बाहर आ गया। मेरी आवाज सुनकर मेरे जीजा शंकरलाल व बहन और भांजी भी आ गए। जीजा शंकरलाल बीच-बचाव करने आए तो रामचंद्र ने उनके सिर में सब्बल मार दी। इससे वे वही जमीन पर गिर गए। बाद में मोहल्ले के लोग आए तो रामचंद्र वहां से भाग गया। बाद में पुलिस जीजा को अस्पताल लेकर गए, जहां डॉक्टरों ने जीजा को मृत घोषित कर दिया। मामले में पुलिस ने न्यायालय में अभियोग पत्र दायर किया। प्रकरण की प्रकृति, जघन्य एवं सनसनीखेज होने से उसकी समीक्षा संचालक अभियोजन पुरुषोत्तम शर्मा ने की। अभियोजन के तर्कों से सहमत होकर न्यायालय ने आरोपी को दंडित किया।

Show More
anil mukati
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned