महाकाल मंदिर: 300 करोड़ से संवरेगा राजा का दरबार, विकास और विस्तार की योजना पर सीएम कमलनाथ ने किया मंथन

महाकाल मंदिर: 300 करोड़ से संवरेगा राजा का दरबार, विकास और विस्तार की योजना पर सीएम कमलनाथ ने किया मंथन
Kamal Nath,Mahakal Temple,ujjain mahakal,ujjain mahakal temple,Ujjain Mahakal Mandir,

Lalit Saxena | Updated: 17 Aug 2019, 07:02:48 PM (IST) Ujjain, Ujjain, Madhya Pradesh, India

भगवान महाकाल के दर्शन करने उज्जैन आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए 300 करोड़ की योजना शुरू होगी। महाकाल मंदिर ( Mahakal Temple ) के विस्तार और व्यवस्थाओं में सुधार के लिए मंत्रिमंडल के सदस्य मंत्रियों की एक त्रिस्तरीय सदस्य समिति गठित की जाएगी।

उज्जैन. भगवान महाकाल के दर्शन करने उज्जैन आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए 300 करोड़ की योजना शुरू होगी। महाकाल मंदिर ( Mahakal Temple ) के विस्तार और व्यवस्थाओं में सुधार के लिए मंत्रिमंडल के सदस्य मंत्रियों की एक त्रिस्तरीय सदस्य समिति गठित की जाएगी। साथ ही महाकाल मंदिर के अधिनियम में संशोधन का प्रस्ताव भी केबिनेट में लाया जाएगा।

मंत्रालय में हुई बैठक में दिए निर्देश
शनिवार को मुख्यमंत्री कमल नाथ की अध्यक्षता में यह निर्देश मंत्रालय में भगवान महाकाल मंदिर की व्यवस्थाओं में सुधार और सुविधाओं के विस्तार पर हुई बैठक में दिए गए। मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना समय-सीमा आधारित हो, जिसमें काम शुरू होने से लेकर उसके पूरे होने तक का समय निर्धारित हो। श्री नाथ ने कहा कि इसकी मॉनिटरिंग मुख्य सचिव करेंगे।

 

patrika

महाकाल मंदिर के कारण मध्यप्रदेश की विश्व में पहचान
मुख्यमंत्री कमल नाथ ने बैठक में कहा कि भगवान महाकाल के कारण पूरे विश्व में मध्यप्रदेश की पहचान है। करोड़ों श्रद्धालुओं की आस्था के इस केन्द्र का सुनियोजित विकास किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि श्रद्धालु सिर्फ दर्शन करने के लिए नहीं आएं, बल्कि उज्जैन में ऐसी व्यवस्थाएं हों, जिसके कारण वह एक-दो दिन रुकें। इसमें महाकाल मंदिर से जुड़ी पौराणिक गाथाएं तथा अन्य आकर्षण शामिल हैं। इससे उज्जैन शहर और यहां के रहवासियों का भी विकास होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि विस्तार और व्यवस्था में सुधार के दौरान महाकाल मंदिर में मूल ढांचे के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं हो, इसका विशेष ध्यान रखा जाए।

मंत्रियों की त्रिस्तरीय समिति
मुख्यमंत्री नाथ के निर्देश पर गठित मंत्रियों की त्रिस्तरीय समिति में उज्जैन जिले के प्रभारी एवं लोकनिर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, आध्यात्म विभाग के मंत्री पीसी शर्मा एवं नगरीय निकाय मंत्री जयवर्धन सिंह सदस्य होंगे। यह कमेटी महाकाल मंदिर की व्यवस्थाओं से जुड़े लोगों, जन-प्रतिनिधियों से चर्चा कर विकास और विस्तार के संबंध में आवश्यक निर्णय लेगी। मुख्यमंत्री ने समिति को निर्देशित किया कि अगले तीन दिन में यह बैठक हो। उन्होंने महाकाल मंदिर एक्ट में संशोधन का प्रस्ताव भी इसी माह मंत्रिमंडल से अनुमोदित करवाने और 30 सितंबर तक महाकाल मंदिर के विकास की योजना को अंतिम रूप देकर काम शुरू करने के निर्देश दिए हैं।

महाकाल मंदिर विकास योजना
मुख्यमंत्री कमल नाथ के समक्ष प्रस्तुत महाकाल मंदिर के विकास और विस्तार योजना में बताया गया कि यात्रियों की सुविधाओं को बढ़ाने के साथ ही प्रवेश और निर्गम, फ्रंटियर यार्ड, नंदी हॉल का विस्तार, महाकाल थीम पार्क, महाकाल कॉरिडोर, वर्केज लॉन पार्किंग आदि का विकास और निर्माण होगा। द्वितीय चरण में महाराजवाड़ा, कॉम्पलेक्स, कुंभ संग्रहालय, महाकाल से जुड़ी विभिन्न कथाओं का प्रदर्शन, अन्नक्षेत्र, धर्मशाला, रूद्रसागर की लैंड स्केपिंग, रामघाट मार्ग का सौंदर्यीकरण, पर्यटन सूचना केन्द्र, रूद्रसागर झील का पुनर्जीवन, हरि फाटक पुल, यात्री सुविधाओं एवं अन्य सुविधाओं का निर्माण भी विस्तार किया जाएगा।

इतिहास में पहली बार किसी सीएम ने ली मंदिर की सुध
मप्र के इतिहास में पहली बार किसी मुख्यमंत्री ने महाकाल मंदिर की व्यवस्थाओं की सुध ली। बैठक में महाकाल मंदिर के पुजारी आशीष पुजारी ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि मप्र के इतिहास में पहली बार है जब किसी मुख्यमंत्री ने महाकाल मंदिर के विकास और व्यवस्थाओं में सुधार के लिए मंत्रालय में बैठक की है। उन्होंने इसके लिए पुजारियों और श्रद्धालुओं की ओर से मुख्यमंत्री कमल नाथ को धन्यवाद दिया। महाकाल मंदिर के पुजारियों ने मुख्यमंत्री कमल नाथ को शाल-श्रीफल देकर सम्मानित किया और उन्हें भगवान महाकाल का प्रसाद भेंट किया। बैठक में प्रभारी मंत्री वर्मा, जनसंपर्क मंत्री शर्मा, नगरीय विकास मंत्री जयवर्धन सिंह, जिले के विधायक दिलीप गुर्जर, महेश परमार, मुरली मोरवाल, महाकाल प्रबंधन समिति के सदस्य आशीष पुजारी, विजय शंकर एवं दीपक मित्तल उपस्थित थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned