मनस्विता अब अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी के रूप में पहचानी जाएंगी

मनस्विता अब अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी के रूप में पहचानी जाएंगी

Gopal Bajpai | Publish: Dec, 08 2017 01:01:20 PM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

दुबई में होने वाली एशियन यूथ पैरा गेम्स के लिए रवाना

उज्जैन. शहर की पैरा खिलाड़ी मनस्विता तिवारी अब अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी के रूप में पहचानी जाएंगी। वे शहर से पहली अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी हैं, जो पैरा स्वीमिंग के लिए दुबई रवाना हुई है। मनस्विता १० से १४ दिसंबर तक दुबई में आयोजित होने वाली एशियन यूथ पैरा गेम्स में पैरा स्वीमिंग में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी। ग्वालियर के पैरा स्वीमिंग के पितामह कहलाए जाने वाले मि. डबास के निर्देशन और कोच अजय राजपूत, मां कल्पना तिवारी और स्पोर्टस स्टेंथ एंड कंडिशनलींग कोच शक्ति प्रताप सिंह के साथ मनस्विता गुरुवार को दुबई के लिए रवाना हुई है। ये सभी गुरुवार को उज्जैन से पहले इंदौर और फिर दिल्ली जाएंगे और उसके बाद दिल्ली से दुबई के लिए प्रस्थान करेंगे।

उज्जैन के खिलाडिय़ों का राज्यस्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता में चयन
उज्जैन. मध्यप्रदेश फेमेचर वॉलीबॉल एसोसिएशन द्वारा आगर मालवा में राज्यस्तरीय वॉलीबॉल चयन स्पर्धा सम्पन्न हुई। आयोजन आगर मालवा वॉलीबॉल एसोसिएशन द्वारा किया गया। इसमें मंदसौर, नीमच, उज्जैन, शाजापुर, आगर आदि जिलों के प्रतियोगी सम्मिलित हुए। उज्जैन के लिटिल वॉलीबॉल अकादमी ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया व अकादमी के चार खिलाडिय़ों का चयन राज्यस्तरीय प्रतियोगिता के लिए किया गया। उज्जैन जिला एसोसिएशन संघ के अध्यक्ष चन्द्रभानसिंह चंदेल एवं सचिव निर्दोष जोशी ने प्रशांत नायर, शुभम पाटीदार, सरफराज दुर्रानी, यश गोयल का चयन होने पर बधाई दी है। चयनित खिलाड़ी छिंदवाड़ा व उमरिया में 13 से 15 दिसम्बर तक आयोजित प्रतियोगिता में भाग लेंगे।

आईआईएम के छात्र परख रहे स्वच्छता
उज्जैन. भारतीय प्रबंध संस्थान इंदौर के ५२ छात्रों ने जिले की १२ ग्राम पंचायतों में ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता को परख रहे हैं। विद्यार्थी गांवों में खुले में शौच से मुक्त, ठोस एवं तरल अपशिष्ठ प्रबंधन के विषय के जानकारी लेने के साथ ग्रामीणों को जागरूक भी करेंगे। विद्यार्थियों का दल ९ दिसंबर तक रहेगा।

अंतर्दृष्टि में दिखेंगी 19 दृष्टिबाधित बच्चों की कल्पनाएं

उज्जैन. 19 दृष्टिबाधित बच्चों द्वारा खींचे गए फोटो की प्रदर्शनी अंर्तदृष्टि शुक्रवार को मक्सी रोड स्थित औद्योगिक प्रशिक्षण केन्द्र पर लगेगी। देश में यह पहली प्रदर्शनी होगी, जिसमें दृष्टिहीन बच्चों ने अपनी कल्पनाओं को कैमरे के माध्यम से चित्रपटल पर उतारा है। उन्हें यह मालूम है कि फोटो में क्या आया है। हो सकता है टेक्निकली फोटो बहुत अच्छे न हों पर उनकी नजरों से देखेंगे तो फोटो का आंतरिक सौंदर्य पहचान जाएंगे।


प्रदर्शनी का उद्घाटन शुक्रवार दोपहर 3 बजे आईटीआई में किया जाएगा। साथ ही दिव्यांग बंधुओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे। संस्था अध्यक्ष सतीश दवे एवं सचिव सुरेन्द्र पांचाल के अनुसार देश में पहली बार एक नया प्रयोग सक्षम संस्था एवं शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था के संयुक्त आयोजन माध्यम से किया गया, जिसमें तीन लड़कियों सहित 19 दृष्टिबाधित बच्चों को कैमरे में अपनी कल्पनाओं की उड़ान भरना सिखाया गया। इन बच्चों ने अपनी अंर्तदृष्टि से भौतिक चीजों को स्पर्श कर जो अनुभव किया उसे कैमरे हाथ मे लेकर फोटो निकाले। उन्होंने झूमइन झूमआउट का फर्क समझा। वे कोठी पैलेस गए वहां डिजाइनों को छूकर महसूस किया शिप्रा के घाट पर पानी में सूरज की चमक को महसूस किया फिर उनके फोटो खींचे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned