बिना दस्तावेजों के दौड़ रहे कई ऑटो रिक्शे

पुलिस की लापरवाही से बढ़ रही मनमानी, चौराहों पर अवरुद्घ करते हैं मार्ग

शुजालपुर. नगर में पुलिस प्रशासन और यातायात अमले की लापरवाही के कारण यातायात व्यवस्था लगातार बिगड़ रही है। नगर की यातायात व्यवस्था को बिगाडऩे में कई ऑटा ेरिक्शा चालक भी शामिल हैं जो कि अपनी मनमानी करते हुए मार्ग को अवरुद्घ कर रहे हैं।
उल्लेखनीय है कि पिछले करीब डेढ़ वर्ष से नगर सेवा के रूप में संचालित ऑटो रिक्शा की संख्या में काफी इजाफा हो गया है। सिटी मंडी मार्ग पर चलने वाले वाहनों में ऑटो रिक्शा की संख्या अधिक ही नजर आती है। साथ ही कुछ ऑटो रिक्शा संचालकों की हरकतों से आमजन काफी परेशान हो रहे हैं। यातायात व पुलिस का नियंत्रण नहीं होने से उक्त ऑटो रिक्शा संचालक चौराहों पर मनमानी करते नजर आते हैं। उनकी जहां इच्छा होती है ऑटो रिक्शा वहीं पर खड़ा कर दिया जाता है। कुछ चौराहों पर ऑटो रिक्शा संचालकों के कारण ही जाम की स्थिति निर्मित होती है। विशेष रूप से टेम्पो चौराहा जहां पर प्रशासन ने व्यवस्था करने के कई जतन किए, लेकिन कुछ ऑटो रिक्शा संचालक व्यवस्था को बार-बार बिगाड़ देते हैं। टेम्पों चौराहे से रेलवे स्टेशन की ओर जाने वाला मार्ग वैसे ही कम चौड़ाई का है। उस पर ट्रेन के आने पर इस मार्ग को अवरुद्ध कर कतार से चार से पांच ऑटो रिक्शा खडे हो जाते हैं। इस कारण पैदल यात्रियों का भी निकलना मुश्किल होता है। यदि कोई ऑटो रिक्शा चालकों को टोकता है तो विवाद करना शुरू कर देते हैं।
इसी तरह की स्थिति चौराहा पर मौजूद दुकानदारों के साथ भी होती है। रेलवे स्टेशन की ओर पर्याप्त जगह होने के बाद भी मार्ग के बीच में ही ऑटो रिक्शा खड़े किए जाते हैं। इसी तरह की स्थिति मंडी बस स्टैंड पर भी देखने को मिलती है। यहां पर भी बस आने पर दो कतार ऑटो रिक्शा की लगा दी जाती है। इसके कारण स्टेट हाइवे पर वाहनों का आवागमन प्रभावित होता है। इस संबंध में व्यवसायी समित जैन ने कहा कि प्रशासन व अधिकारियों से कई बार कहने के बाद भी व्यवस्था नहीं बनाई जा रही है। स्टेशन चौराहा शहर का सबसे व्यस्त चौराहा है, जिसकी सुध यातायात अमला नहीं लेता है। पहले यहां पर यातायातकर्मी सुबह से शाम तक तैनात रहते थे, लेकिन अब यहां पर स्थाई व्यवस्था नहीं रहती है।
समझाने पर भी नहीं हुए पाबंद
नगर में लगातार बिगड़ रही यातायात व्यवस्था को देखते हुए पूर्व में पुलिस ने ऑटो रिक्शा संचालकों की बैठक लेकर यातायात व्यवस्था में सुधार के उद्देश्य से समझाइश दी थी। जिसमें टेम्पो चौराहे पर मार्ग अवरुद्घ कर नहीं खड़े होने, एकांकी मार्ग का उपयोग करने के अलावा ऑटो रिक्शा संचालन के दौरान दस्तावेज साथ रखने, यूनिफार्म जैसे निर्देश दिए गए थे, लेकिन इनमें से किसी भी निर्देश का पालन नहीं हो रहा है। बगैर परमिट और लाइसेंस के ठेके पर ऑटो रिक्शा सडक़ों पर दौड़ रहे हैं। ऐसे में यदि कोई हादसा हो जाए तो यात्रियों की परेशान खड़ी हो सकती है। सिटी क्षेत्र में भी मां काली माता मंदिर चौराहा व अस्पताल के सामने मुख्य मार्ग पर ऑटो रिक्शा खड़े किए जा रहे हैं। नगर में कुछ ऑटो रिक्शा संचालक ऐसे भी है जो ईमानदारी से नगर सेवा का संचालन कर रहे हैं, लेकिन कुछ शरारती तत्वों के कारण परेशानी निर्मित हो रही है। नागरिकों का कहना है कि पुलिस और यातायात विभाग को लगातार अभियान चलाते हुए शहर की व्यवस्था बिगाडऩे वाले ऑटो रिक्शा चालकों के विरुद्घ कार्रवाई करना चाहिए।
कुछ दिवस पूर्व ऑटो रिक्शा के दस्तावेज जांच करने की कार्रवाई की गई थी। हालांकि नियमों में संशोधन हो जाने के कारण यह कार्रवाई रुक गई। यातायात व्यवस्था बिगाडऩे वालों पर कार्रवाई निश्चित की जाएगी। साथ ही जल्द ही अभियान चलाकर अवैध रूप से संचालित हो रहे ऑटो रिक्शा पर कार्रवाई की जाएगी।
-सत्येंद्र राजपूत, यातायात प्रभारी, शुजालपुर

Show More
Mukesh Malavat
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned