नाबालिग के साथ दुष्कर्म कर फेंक गया कुएं में

पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर शुरू की जांच

By: Mukesh Malavat

Published: 13 Apr 2020, 12:10 AM IST

नागदा. शहर से करीब 5 किमी दूर स्थित गांव कलसी निवासी 16 वर्षीय नाबालिग ने गांव के ही पुष्कर प्रजापत के खिलाफ बलात्कार करने का मामला दर्ज करवाया है। खास बात यह है कि पीडि़ता ने एक दिन पूर्व ही थाने पहुंच कर पुलिस को बताया था कि उसके साथ किसी प्रकार की घटना नहीं हुई है। परिजन जबरदस्ती उससे युवक के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज करवाने के लिए थाने लाए है। पुलिस के पास पीडि़ता के इस कथन की मोबाइल से ली गई वीडियो रिकार्डिंग भी है। घटना से इनकार करने के बाद पुलिस ने पीडि़ता और उसके परिजनों को समझाइश देकर गांव रवाना कर दिया था, लेकिन अगले दिन यानि रविवार को दोबारा पीडि़ता अपने परिजनों के साथ पुलिस थाने पहुंची और आरोपी पुष्कर के खिलाफ बलात्कार की रिपोर्ट दर्ज करवाई। नाबालिग के कहने पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ पॉस्को एक्ट की धारा 3 व 4 के अलावा 376,506,34 के तहत प्रकरण दर्ज कर मामले को जांच में लिया है।
यह है मामला
पीडि़ता ने पुलिस को बताया कि 10 अप्रैल को वह अपने घर के पास खेत पर भैंस चरा रही थी। उसी दौरान आरोपी पुष्कर की रिश्तेदार जो उसकी सहेली भी है, आई और अपने घर चलने को कहा। मना करने पर सहेली जबरदस्ती उसे अपने घर ले जाकर बाहर से दरवाजा बंद कर दिया। घर के अंदर पुष्कर प्रजापत मौजूद था, जिसने जान से मारने की धमकी देकर उसके साथ जबरदस्ती की। बाद में जब उसने शोर मचाया तो पुष्कर उसे घर के पीछे बने कुएं में फेंक कर भाग गया। इस दौरान वह शोर मचाती रही जिसे सुनकर उसके परिजन मौके पर पहुंचे और उसे कुएं से बाहर निकाला। बाद में युवती ने अपने साथ हुई घटना की जानकारी परिजनों को देने पर आरोपी युवक के खिलाफ पुलिस में शिकायत की गई।
मामला संदेहास्पद
थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा ने बताया नाबालिग द्वारा 24 घंटे के अंतराल में घटना के संबध में दो अलग-अलग बयान दिए गए है, जिसको लेकर पूरी घटना संदेहास्पद नजर आ रही है। हालांकि पीडि़ता की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। मामले में एक युवती की भी घटना में सहभागिता पीडि़ता ने जताई है। जांच में घटना सही पाई गई तो उक्त युवती के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। घटना की पुष्टि के लिए उज्जैन जिला अस्पताल में पीडि़ता का मेडिकल करवाया है। रिपोर्ट एवं पुलिस की जांच के बाद ही घटना की सच्चाई पर कुछ कहा जा सकता है।

Show More
Mukesh Malavat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned