scriptMore than 50 people are falling prey to dogs in the city every day | शहर में रोज 50 से ज्यादा लोग हो रहे आवारा श्वानों का शिकार | Patrika News

शहर में रोज 50 से ज्यादा लोग हो रहे आवारा श्वानों का शिकार

जिला अस्पताल में एंटी रैबिज इंजेक्शन लगवाने वालों की भीड़, रिहायशी क्षेत्रों में सबसे अधिक घटना

उज्जैन

Published: August 01, 2022 10:57:17 pm

उज्जैन. आवारा श्वानों के कारण शहर की गलियों में निकलना असुरक्षित हो रहा है। शहर में रोज ५० से ज्यादा लोग श्वान के काटे का शिकार हो रहे हैं। एंटी रैबिज इंजेक्शन लगवाने के लिए जिला अस्पताल में घायलों की भीड़ लग रही है। खतरा इसलिए भी बड़ा है क्योंकि घायलों में कई बच्चे शामिल है।
More than 50 people are falling prey to dogs in the city every day
जिला अस्पताल में एंटी रैबिज इंजेक्शन लगवाने वालों की भीड़, रिहायशी क्षेत्रों में सबसे अधिक घटना
शहर के लगभग सभी रिहायशी क्षेत्रों के चौराहे व गलियों में आवारा श्वानों का जमावड़ा और बढ़ गया है। समस्या की रोकथाम के लिए नगर निगम द्वारा प्रभावी कार्रवाई नहीं की जा रही है। नतीजतन बड़ी संख्या में लोग श्वानों के हमले का शकार हो रहे हैं। स्थिति यह है कि प्रतिदिन औसत ५० से अधिक घायल जिला अस्पताल में एंटी रैबिज का इंजेक्शन लगवाने पहुंच रहे हैं। जुलाई में ही १५३५ लोग श्वान की काटे का शिकार होकर जिला अस्पताल में रजिस्टर्ड हुए। इनके अलावा निजी अस्पतालों में उपचार के लिए आने वालों की भी बड़ी संख्या है।
श्वान के काटने पर यह करें

- तत्काल साफ पानी और साबुन से प्रभावित अंग को ५ मिनट तक धोएं।
- साफ कपड़े से हल्के-हल्के घाव को पौछे।
- बिना चिकित्सीय सलाह के घाव पर चूना आदि न लगाएं।
- डॉक्टर्स से परामर्श लें व इंजेक्शन लगवाएं।
- एक महीने तक खट्टा, तला-गला खाने से बचें।
केस-1
गांधीनगर निवासी सुभाष द्रोणावत को कुछ सप्ताह पूर्व क्षेत्र में ही आवारा श्वान ने हमला कर घायल कर दिया। उन्होंने सोमवार को चौथ इंजेक्शन लगवाया।
केस-2
विवेकानंद नगर निवासी श्याम रविवार दोपहर नानाखेड़ा से गुजर रहे थे। सड़क पर एक आवारा श्वान ने हमला कर पांव में काट लिया।
केस-3
9 वर्षीय संध्या राठौर को रविवार शाम एक पालतु श्वान ने हाथ पर काट लिया। घबराई बच्ची इंजेक्शन लगवाने जिला अस्पताल पहुंची।
इस वर्ष अब तक १२ हजार को श्वानों ने काटा
माह श्वान का शिकार हुए
जनवरी २०२९
फरवरी १७५२
मार्च १८५७
अप्रैल १६६८
मई १६००
जून १६९३
जुलाई १५३५
कुल १२१३४
(श्वान के काटने के बाद उपचार के लिए जिला अस्पताल में आए मरीजों की संख्या)

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Gujarat News: जामनगर के होटल में लगी भयानक आग, स्टाफ सहित 27 लोग थे मौजूद, सभी सुरक्षितत्रिपुरा कांग्रेस विधायक सुदीप रॉय बर्मन पर जानलेवा हमला, गंभीर रूप से हुए घायलबांदा में यमुना नदी में डूबी नाव, 20 के डूबने की आशंकाCM अरविंद केजरीवाल ने किया सवाल- 'मनरेगा, किसान, जवान… किसी के लिए पैसा नहीं, कहां गया केंद्र सरकार का धन'SCO समिट में पीएम मोदी के साथ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की हो सकती है बैठकबिहारः 16 अगस्त को महागठबंधन सरकार का कैबिनेट विस्तार, 24 को फ्लोर टेस्ट, सुशील मोदी के दावे को नीतीश ने बताया बोगसझारखंड BJP ने बिहार के नए उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को गिफ्ट में भेजा पेन, कहा - '10 लाख नौकरी देने वाली फाइल पर इससे करें हस्ताक्षर'Karnataka High Court: एक्सीडेंट में माता-पिता की मौत होने पर विवाहित बेटियां भी मुआवजे की हकदार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.