video : उज्जैन में सांसद मालवीय ने राहुल और जवाहरलाल नेहरू के बारे में ये क्या कह दिया...

Lalit Saxena

Publish: Jun, 14 2018 08:49:08 PM (IST)

Ujjain, Madhya Pradesh, India
video : उज्जैन में सांसद मालवीय ने राहुल और जवाहरलाल नेहरू के बारे में ये क्या कह दिया...

चिंतामणि मालवीय ने कटाक्ष करते हुए कहा, देश के बंटवारे के दौरान पश्चिम बंगाल पाकिस्तान को देने के लिए नेहरूजी तैयार हो गए थे।

उज्जैन. पूर्व प्रधानमंत्री पं. जवाहरलाल नेहरू पर एक बार फिर भाजपा नेता द्वारा टिप्पणी की गई है। इस बार सांसद व भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रो. चिंतामणि मालवीय ने उन पर कटाक्ष करते हुए कहा, देश के बंटवारे के दौरान पश्चिम बंगाल पाकिस्तान को देने के लिए नेहरूजी तैयार हो गए थे। डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने इसका विरोध किया और नेहरू व अंग्रेजों को उनके आगे झुकना पड़ा। आज जो पश्चिम बंगाल भारत में है, वह श्यामाप्रसाद मुखर्जी की बदौलत है।

कृषि उपज मंडी प्रांगण में बोल रहे थे सांसद
कृषि उपज मंत्री में गुरुवार को सांसद मालवीय ने सेवा संकल्प कार्यक्रम कर अपने कार्यकाल के चौथे वर्ष का लेखा-जोखा जनता के बीच रखा। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर, थावरचंद गेहलोत व भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भी शामिल हुए। नेताओं ने लेखा-जोखा पर चर्चा कम और कांग्रेस व विपक्षी गठबंधन पर अधिक निशाना साधा। साथ ही विपक्ष के मुद्दे नहीं होने का हवाला देते हुए उनके द्वारा भ्रम फैलाने और इससे सचेत रहने को कहा।

वरिष्ठों ने की सेवा संकल्प की प्रशंसा
वरिष्ठ नेताओं ने सेवा संकल्प कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए कहा कि कोई जनप्रतिनधि जनता के बीच अपना रिपोर्ट कार्ड तभी दे सकता है, जब उसने कुछ किया हो। कांग्रेस के किसी सांसद ने आज तक एेसी हिम्मत नहीं दिखाई। कार्यक्रम में सेवा संकल्प पुस्तिका का विमोचन हुआ वहीं आखिरी में तोमर ने सभी से भाजपा का साथ देने का संकल्प लिया। कार्यक्रम में ऊर्जा मंत्री पारस जैन, विधायक मोहन यादव, अनिल फिरोजिया, महापौर मीना जोनवाल, पार्टी अध्यक्ष इकबालसिंह गांधी, श्याम बंसल आदि मौजूद थे।

कपड़े की तरह बदले राहुल के पद
केंद्रीय मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर ने कहा, नरेंद्र मोदी के सामने राहुल गांधी की हैसियत क्या है, यह व्हाट्स ऐप व सोशल मीडिया पर जनता बता देती है। राहुल सोनिया गांधी के बेटे हें, इसलिए कांग्रेसी उन्हें भी धोंक दे देते हैं। कांग्रेस परिवार की पार्टी है, इसलिए वह कभी महासचिव, कभी उपाध्यक्ष, कभी अध्यक्ष बना दिए जाते हैं। जैसे व्यक्ति कपड़े बदलता है, वैसे राहुल के पद बदल दिए जाते हैं। जिसे पार्टी ही अपना नेता नहीं मान पा रही, उसे देश कैसे नेता मानेगा। अरुण यादव किसान के बेटे हैं, उन्हें हटाकर उद्योगपति को बागडोर दे दी गई। नरेंद्र मोदी की बराबरी करने के लिए सभी विपक्षी एक होकर स्टूल पर खड़े हो गए हैं। जिस दिन भाजपा का कार्यकर्ता स्टूल को लात मारेगा, सब नीचे आ जाएंगे।

कांग्रेस के सांसद 20 प्रतिशत लेते थे
भाजपा राष्ट्रीय महासचिव ने भी कार्यक्रम में कांग्रेस व विपक्ष पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, अच्छा जनप्रतिनिधि वही होता है जो पारदर्शिता रखे। मैं बैंगलुरू में एक चुनाव में गया था। वहां कांग्रेस के सांसद हैं। भाजपा के पार्षद मुझसे बोले कि हमारे सांसद बहुत अच्छे हैं। मैंने कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि कांग्रेस के सांसद 10-20 प्रतिशत लेकर भाजपा के पार्षद को भी सांसद निधि दे देते हैं। हम पारदर्शिता से काम करते हैं और यही भाजपा व कांग्रेस की कार्यप्रणाली का अंतर है। केंद्रीय मंत्री गेहलोत ने कहा, आज विपक्षी दल आपस में हाथ मिला रहे हैं, लेकिन यह केवल बाय इलेक्शन तक ही चल सकता है। आम चुनाव में यह साथ टूट जाएगा। इनके पास कोई मुद्दे नहीं है इसलिए देश में जातिवाद, क्षेत्रवाद और अराजकता का माहौल बनने का प्रयास किया जा रहा है।

कार्यक्रम में यह भी
- अतिथियों का स्वागत करने के लिए महापौर जोनवाल व निगम अध्यक्ष सोनू गेहलोत का नाम नहीं लिया गया। बाद में जब यह भूल सामने आई तो बीच कार्यक्रम में उनसे स्वागत कराया गया।
- सूत्रों के अनुसार जब तोमर कार्यक्रम में पहुंचे तो कुर्सियां खाली थी, वह कुछ देर मंडी कार्यालय की ओर चले गए और भीड़ जुटने के बाद आए।
- कार्यक्रम में बलाई समाज के प्रतिनिधियों ने भी स्वागत किया। कार्यक्रम में घट्टिया विधायक सतीश मालवीय उपस्थित नहीं थे।

चौथे वर्ष की यह प्रमुख उपलब्धियां बताईं
- एक हजार करोड़ रुपए का उज्जैन फतेहाबाद रेलवे आमान परिवर्तन व उज्जैन-देवास-इंदौर नई रेल लाइन निर्माण
- 2600 करोड़ रुपए के कार्य केंद्र से स्वीकृत कराए जो प्रचलन में हैं।
- प्लास्टिक क्लस्टर की स्वीकृति।
- एलिम्को की नई फैक्टरी
- सीएनजी मदर स्टेशन

यह कार्य भी बताए
- जनता के बीच रहते हैं, जन सुनवाई करते हैं।
- पार्टी के दिए दायित्वों को निभाते हैं।
- बजट के लिए आम जन से सुझाव
- प्रश्न, शून्य काल, नियम 377 के माध्यम से लोकसभा में संसदीय क्षेत्र की आवाज उठाते हैं।
- फूड प्रोसेसिंग यूनिट, कपड़ा उद्योग आदि के लिए प्रयासरत।
- हितग्राहियों को लाभ मिले इसलिए केंद्रीय योजनाओं की सतत मॉनिटरिंग

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned