रुपए के लालच में चाकू मारकर की दोस्त की हत्या

Gopal Bajpai

Publish: Dec, 08 2017 10:36:48 (IST)

Ujjain, Madhya Pradesh, India
रुपए के लालच में चाकू मारकर की दोस्त की हत्या

पुलिस ने आरोपी दोस्त को घर से गिरफ्तार किया

नागदा. चंद रुपए के लालच में एक दोस्त ने ही अपने ही दोस्त की हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है। मिली जानकारी के अनुसार शहर से लगभग १८ किमी दूर गांव बाखेड़ा में बुधवार देर रात को बहादुर (35) पिता रामसिंह आंजना पर उसके ही घर में चाकू से हमला कर उसकी हत्या कर दी गई थी।
हमला मृतक के दोस्त प्रहलाद (३५) पिता रघुनाथसिंह ने किया था। पुलिस ने मृतक को उसके घर से गिरफ्तार कर भारतीय दंड संहिता की धारा ३०२ व ५०६ में प्रकरण दर्ज किया।
बहादुर घर में अकेला रहता था। उसकी मां, भाभी व भतीजे समीप में रहते हैं। मृतक व आरोपी दोनों पड़ोसी हैं। हत्या चंद रुपयों के लालच में आकर की गई थी।
चंद रुपए के लालच में हत्या
पुलिस की जांच में प्रथम दृष्टया में यह बात सामने आई कि चंद रुपए के लालच में दोस्त ने दोस्त की हत्या कर दी। मृतक बहादुरसिंह ने लगभग 3 माह पूर्व अपने हिस्से की जमीन 1 बीघा का सौदा किया था। यह सौदा 4 लाख रुपए में हुआ था। कुछ राशि मृतक ने प्राप्त भी कर ली थी। मृतक व आरोपी दोनों गत 3 वर्ष से साथ-साथ रहते थे। बुधवार रात को भी दोनों ने शराब पी। इसी दौरान दोनों के बीच विवाद हो गया और प्रहलाद ने बहादुर पर चाकू से हमला कर दिया। पुलिस का मृतक के घर में रखी रुपए की पेटी भी अस्त व्यस्त मिली। हालांकि पेटी में से लगभग 18 हजार रुपए भी मिले। बिरला ग्राम थाना प्रभारी केके चौबे ने बताया कि गांव बाखेडा में बुधवार रात को बहादुर की हत्या हो गई। हत्या उसके ही दोस्त प्रहलाद ने की। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों अच्छे दोस्त थे। लगभग 3 माह पूर्व बहादुरङ्क्षसह ने एक जमीन का सौदा 4 लाख रुपए में किया था, परिणाम स्वरूप इसी मुद्दे को लेकर प्रहलाद व मृतक बहादुर में कुछ अनबन चल रही थी।
बहन के चिल्लाने पर भागा आरोपी
मृतक की दो बहन हैं। जो इन दिनों अपने मायके में आई थी। रात को मृतक की एक बहन गुड्डी उठी और शौच के लिए जा रही थी। इस दौरान उसे अपने भाई के मकान में से चिल्लाने की आवाज आ रही थी। उसने समीप जा कर देखा तो प्रहलाद उसके भाई बहादुर पर हमला कर रहा था। यह नजारा देख गुड्डी चिल्लाई और आसपास के लोगों को उठाया। शोर मचता देख प्रहलाद भी मौके से भागकर अपने घर जा कर सो गया। इधर, मृतक की बहन गुड्डी व सीता गांव के चौकीदार के पास पहुंची और उसे उठाकर लाकर अपने भाई के घर पहुंची। वहां जाकर देखा तो उसका भाई मृत अवस्था में पड़ा हुआ था। मृतक की पत्नी का लगभग 4 वर्ष पूर्व ही निधन हो गया था। मृतक का एक भाई भी था, उसका भी कुछ दिन पूर्व निधन हो गया। गांव में मृतक की मां, विधवा भाभी व दो भतीजे-भतीजा रहते है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned