हत्यारे की खून की बूंदे बनी गवाह, गिरफ्तार

इंगोरिया के खेत से मिले शव का मामला

By: Lalit Saxena

Published: 16 May 2018, 08:02 AM IST

उज्जैन. १० मई को इंगोरिया के पास नारेलाकलां के खेत से मिली कल्मोड़ा निसासी सलीम की रक्त रंजित लाश के मामले में पुलिस ने मंगलवार को पुलिस कंट्रोल रूम पर खुलासा किया। इस अंधे हत्याकांड में पुलिस ने घटना स्थल से लेकर हत्यारे के घर तक गिरी खून की बूंदों से सबूत जुटाए और उसे गिरफ्त में ले लिया, जिसने पूछताछ में ५ अन्य साथियों के नाम उगले इनमें ४ आरोपी नाबालिग हैं।
हालांकि आरोपी पूछताछ में इंगोरिया पुलिस को बरगलाता रहा, बाद में सख्ती से पूछताछ पर उसने राज उगल दिया। हत्यारे ने बताया कि उसकी पत्नी को गांव का ही एक व्यक्ति अपने साथ भगा कर ले गया है जिसमें मृतक ने उसकी मदद की। इसके बाद बदला लेने के लिए हत्या वाली रात ४ नाबालिग और एक अन्य साथी के साथ मिलकर पहले तो सलीम शाह को खूब शराब पिलाई और फिर बाद में खेत में ले जाकर धारदार हथियार से हत्या कर दी।
चार नाबालिग भी शामिल: एएसपी नीरज पांडेय ने बताया नारेलाकंला के जितेन्द्रसिंह के खेत से पुलिस ने सलीम शाह पिता छोटू शाह का गर्दन कटा शव बरामद किया था। पुलिस इस हत्याकाण्ड को सुलझाने में लगी थी कि शव के पास से खून की बंूद हत्यारे के घर तक गिरी हुई मिली। पुलिस ने खोजबीन की तो पता चला कि यहीं के रहने वाले मुकेश बागरी की पत्नी गांव के अंतरसिंह के साथ चली गई। अंतरसिंह सलीम का मित्र है। इसी रंजिश के चलते हत्या करना सामने आया।
ऐसे कटी थी अंगुलियां
मुकेश व उसके साथियों ने पहले तो सलीम को खूब शराब पिलाई बाद में गला रंेत कर उसकी हत्या कर दी। गला रेतने के दौरान मुकेश के हाथों की अंगुलियां कट गई थी, हाथों से गिर रही खून की बंूद पुलिस को मुकेश के घर तक पाई गई। इसी के आधार पर उस पर शक हुआ।

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned