Video>>नागपंचमी: दो रैंप और 40 सीढ़ी के बाद होंगे नागचंद्रेश्वर के दर्शन

 Video>>नागपंचमी: दो रैंप और 40 सीढ़ी के बाद होंगे नागचंद्रेश्वर के दर्शन
Nagchandreshwar's temple open to Nagpanchami in Mahakal

Lalit Saxena | Publish: Jul, 26 2017 09:13:00 PM (IST) ujjain

नागपंचमी पर गुरुवार को श्रद्धालु महाकाल मंदिर के शिखर पर जमीन से 40 फीट ऊपर वर्ष में एक बार खुलने वाले मंदिर में भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन करेंगे।

उज्जैन. नागपंचमी पर गुरुवार को श्रद्धालु महाकाल मंदिर के शिखर पर जमीन से 40 फीट ऊपर वर्ष में एक बार खुलने वाले मंदिर में भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन करेंगे। इसके लिए दो रैंप पार करने के साथ 40 सीढ़ी चढऩा होंगी। इसके अलावा भगवान की प्रतिमा पर मशीन के माध्यम से दूध अर्पित करने की व्यवस्था की गई है। रात को पट खुलेंगे और 28 जुलाई की रात 12 बजे मंदिर बंद होगा।

Nagchandreshwar

नागपंचमी पर्व पर ही 24 घंटे के लिए खोला जाता है
भगवान नागचंद्रेश्वर का मंदिर वर्ष में एक बार नागपंचमी पर्व पर ही 24 घंटे के लिए खोला जाता है। महाकाल के शिखर में स्थित होने के कारण सीमेंट के दो रैंप व लोहे की 40 सीढ़ी से होकर नागचंद्रेश्वर महादेव के दर्शन करेंगे। इसके साथ मंदिर से उतरने के लिए भी स्थाई चढ़ाव हैं और इसकी 42 सीढ़ी है।

Nagchandreshwar

प्राचीन रास्ता संकरा है
मंदिर के आने-जाने के लिए प्राचीन रास्ता संकरा है, इसलिए समिति हर बार जमीन से शिखर पर मंदिर तक पहुंचने के लिए लोहे के अस्थाई चढ़ाव का निर्माण करवाती है। मंदिर समिति ने नागचंद्रेश्वर महादेव को दूध अर्पित करने के लिए मशीन की व्यवस्था की है। चढ़ाव पर रखे पात्र में दूध डालने के बाद मोटर के जरिए प्रतिमा तक दूध पहुंचाया जाएगा। समिति प्रशासक क्षितिज शर्मा ने बताया मंदिर के दर्शन के लिए उमडऩे वाले लाखों श्रद्धालुओं को सुलभ व जल्दी दर्शन कराने के लिए जिला प्रशासन व मंदिर मंदिर समिति ने व्यापक तैयारियां की हैं।





नागचंद्रेश्वर और महाकाल दर्शन के लिए होगा अलग-अलग प्रवेश
- नागचंद्रेश्वर के दर्शन के सामान्य श्रद्धालुओं को हरसिद्धि चौराहा से बड़ा गणेश मन्दिर, पुलिस चौकी के सामने, माधव न्यास सेवा पार्किंग स्थल के जिकजेक से पुराने प्रशासनिक कार्यालय के सामने के बैरिकेट्स से होते हुए टनल की छत से फेसिलिटी सेन्टर से प्रवेश कर मार्बल गलियारा होते हुए नृसिंह मन्दिर से महाकाल परिसर के बैरिकेट से होते हुए प्रवेश दिया जाएगा। भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन की शीघ्र दर्शन हेतु 250 रु. के टिकट लेने वाले दर्शनार्थी और पास धारकों को शंख चौराहा से होते हुए फेसिलिटी सेन्टर से प्रवेश मिलेगा।
- भगवान महाकाल के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं का प्रवेश भस्म आरती द्वार से होगा। विश्रामधाम की रैंप से होते हुए सभा मण्डप से दर्शन की व्यवस्था रहेगी। इनकी निर्गम व्यवस्था आपातकालीन द्वार से होगी। वीवीआईपी की दर्शन व्यवस्था महाकाल धर्मशाला से प्रवचन हॉल होते हुए रहेगी।

Nagchandreshwar

यहां होगी वाहनों की पार्किंग
- भारत माता मन्दिर के पीछे.
- हरसिद्धि की पाल के पास.
- चारधाम के पास
- बेगमबाग




नि:शक्त एवं वृद्धजनों व्हील चेयर
महाकाल मंदिर समिति की ओर से नि:शक्त एवं वृद्धजनों की सुविधा के लिए 50 व्हील चेयर मन्दिर के अन्दर तथा 50 व्हील चेयर बाहर उपलब्ध होंगी। इनके लिए पृथक प्रवेश की व्यवस्था रहेगी।

- अपर कलेक्टर अवधेश शर्मा महाकाल प्रांगण की सम्पूर्ण व्यवस्था के प्रभारी रहेंगे।

- महाकाल मन्दिर के आसपास पूर्ण रूप से नो व्हीकल जोन रहेगा।

- मानसेवी अधिकारियों की सेवा मंदिर के बाहर रहेगी।

- महाकाल मंदिर के पास हर 100 मीटर पर पैरा मेडिकल टीम तैनात होगी। जो स्वास्थ्य सुविधाएं दर्शनार्थियों को प्रदान करेगी।

अन्य स्थानों पर भी इंतजाम के निर्देश
नागपंचमी के अवसर पर प्रशासन और मंदिर समिति की ओर से की गई तैयारियों की समीक्षा की गई। समीक्षा में एडीजीपी वी. मधुकुमार, डीआईजी रमनसिंह सिकरवार, कलेक्टर संकेत भोंड़वे, एसपी सचिन अतुलकर, निगम आयुक्त डॉ. विजयकुमार जे. सहित प्रशासनिक, पुलिस एवं अन्य सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। कलेक्टर भोंड़वे ने संबंधित अधिकारियों को जिम्मेदारी के अनुसार कार्य के निर्देश दिए हैं।

यह भी निर्देश
- बाहर से आने वाले दर्शनार्थियों का रेलवे स्टेशन एवं बस स्टेण्ड पर स्वागत भी किया जाएगा।
- आपदा/दुर्घटना से निपटने के लिए सुरक्षा इंतजाम को पुख्ता रखें।
- रामघाट, दत्त अखाड़ा क्षेत्र, त्रिवेणी आदि प्रमुख स्थानों पर भी कानून व्यवस्था बनाए रखें।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned