नागदा जंक्शन पर पीने के पानी के लिए होता है मौत से सामना, देखें वीडियो

 नागदा जंक्शन पर पीने के पानी के लिए होता है मौत से सामना, देखें वीडियो
nagda railway station

कई बार हो जाते हैं हादसे, जिम्मेदार नहीं देते ध्यान, रेलवे पर ज्यादातर वॉटरकूलर हैं बंद

नागदा. रेलवे स्टेशन नागदा पर मुसाफिरों को पेयजल के लिए मौत से रेस लगाना पड़ती है। कारण स्टेशन पर मौजूद वाटर कूलरों का बंद होना है। परेशानी यह है, कि जंक्शन पर मौजूद एक दर्जन से अधिक वाटर कूलरों 24 घंटे में से 20 घंटे बंद रखा जाता है।स्टेशन प्रबंधन कूलरों के स्विच को बंद रखने का कारण बिजली गुल रहना बता रहे है। विद्युत कंपनी की कटौती और स्टेशन प्रबंधन की लाचारी का खामिया स्टेशन से गुजरने वाले मुसाफिरों को उठाना पड़ता है। ऐसा ही एक वाक्या शुक्रवार सुबह 10.30 बजे इंदौर उदयपुर एक्सप्रैस ट्रेन के समय पर देखा गया। 10 मिनट रूकने वाले ट्रेन से उतरने वाले यात्रियों को स्टेशन पर पेयजल नहीं मिलने से यात्रियों ने हंगामा मचा दिया। यात्रियों के शोर शराबा करने की वजह प्लेटफार्म नंबर दो पर मौजूद वाटर प्याऊ से पानी कम प्रैशर से आना था। हंगामें के दौरान कई यात्रियों को पानी नहीं मिलने की वजह से ट्रेन भी छोडऩा पड़ी।










सुपरफास्ट ट्रेनों के मुसाफिरों को परेशानी
दरअसल पेयजल के लिए हाहाकार का दृश्य केवल एक ट्रेन के गुजरने के समय नहीं दिखाईदेता। उक्त परेशानी प्रत्येक ट्रेन के समय देखने को मिलती है। परेशानी यह भी है, कि परेशान होने वाले मुसाफिर अन्य प्रांतों के होते है। इसलिए उनकी शिकायतों को नजर अंदाज किया जाता है। सबसे अधिक परेशानी सुपरफास्ट ट्रेनों के मुसाफिरों को होती है। मुसाफिर पेयजल लेने की जल्दी में भाग दौड़ करते है। ट्रेन चलने की चिंता में अन्य यात्रियों से वाद-विवाद भी कर लेते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned