खत्म हुई दिलों की खटास, एक हो गए 37 परिवार

खत्म हुई दिलों की खटास, एक हो गए 37 परिवार

Gopal Bajpai | Publish: Sep, 09 2018 05:17:54 PM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

नेशनल लोक अदालत: 5752 लोग हुए लाभान्वित जिले की 40 खंडपीठों में लगी लोक अदालत,

उज्जैन. जिले में शनिवार को नेशनल लोक अदालत के दौरान 40 खंडपीठों ने 4983 से ज्यादा प्रकरणों का सुलह करवाकर निपटारा कराया। इस दौरान कुटुम्ब न्यायालय में भी 37 प्रकरण आपसी समझौते से निपटाए गए। शाम को सभी परिवार खुशी-खुशी अपने घर लौटे। इस बार आयोजित लोक अदालत में ५७५२ लोग लाभान्वित हुए हैं। जिला विधिक सहायता अधिकारी दिलीप मुजाल्दा ने बताया कि लोक अदालत में करीब 10 करोड़ 15 लाख 89 हजार 611 रुपए समझौता राशि के रुपए में प्राप्त हुए हैं।

वर्षों के बिछड़े एक साथ घर लौटे
लोक अदालत के कुटुम्ब न्यायालय के भी ३७ प्रकरण आपसी समझोते से निपटाए गए। न्यायाधीश एएन चौधरी के न्यायालय में निकिता निवासी आगर रोड ने उत्तर प्रदेश निवासी पति नीरज के खिलाफ भरण पौषण का प्रकरण दायर किया था। लोक अदालत में दोनों के बीच समझौता हुआ है। शाम को दोनों एक साथ घर लौटे। इसी तरह न्यायाधीश जीपी अग्रवाल की कोर्ट मेंं महावीर नगर निवासी किरण पांचाल ने पति राहुल पांचाल के खिलाफ भरण पौषण के लिए याचिका दायर की थी। न्यायालय ने दोनों के बीच समझौता कराया है। सभी प्रकरणों में अभिभाषक हरदयालसिंह ठाकुर ने मध्यस्थता कर समझाइश दी। इस अवसर पर अभिभाषक संघ के अध्यक्ष प्रमोद चौबे, सचिव ओम सारवान, सहसचिव कमल आंजना मौजूद थे।

एक नजर में
कुल प्रकरण- 19090
प्रकरण का निपटारा- 4983
प्राप्त समझौता राशि- 10 करोड़ 15 लाख 89 हजार 611
लाभान्वित लोग- 5752

नि:शुल्क एक हजार पौधों का किया वितरण
लोक अदालत के मौके पर वन विभाग द्वारा निशुल्क एक हजार पौधों का वितरण किया गया। डीएफओ पीएन मिश्रा ने बताया कि लोक अदालत में दो पक्ष में आपस सहमति कर विवाद का अंत करते हैं। इस मौके पर उन्हें पर्यावरण से जोडऩे के लिए यादगार के तौर पर पौधरोपण करने का संदेश दिया गया। विवाद अंत होने पर पौध लगाने और उसकी देखरेख कर बढ़ा करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। इस मौके पर वन रक्षक अनिल सेन, रजनी चौहान ने पौधों का वितरण किया।

Ad Block is Banned