घर, स्कूल, अस्पताल व होटलों के लिए अब इतना यूजर्स चार्ज

१ अप्रैल से कचरा कलेक्शन की नई दरें होंगी लागू, संपत्तिकर के साथ ही वसूलेगा निगम

By: rajesh jarwal

Published: 29 Mar 2019, 12:47 AM IST

उज्जैन. डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए अब हर घर को ५४० रुपए सालाना यूजर्स चार्ज देना होगा। आगामी वित्तीय वर्ष २०१९-२० के लिए निगम ने इसके साथ स्कूल, अस्पताल, होटल, मैरिज गार्डन के लिए भी स्लैब वार यूजर्स चार्ज लागू किया है, जो १ अप्रैल से प्रभावशील होगा, निगम संपत्तिकर के साथ ही इस चार्ज को वसूलेगा। निगम परिषद ने इन दरों पर हुए निर्धारण के बाद निगमायुक्त ने गुरुवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिए। अब जोनवार कचरा कलेक्शन के लिए तय राशि संबंधित संपत्तिकर दाताओं से वसूली जाएगी।
पिछले साल निगम परिषद ने घरों से वसूले जाने वाले यूजर्स चार्ज की दरें ३० रुपए मासिक कर दी थीं, लेकिन इस बार इसे ४५ रुपए किया गया है। वहीं जिन घरों का संपत्तिकर जमा नहीं होता उनसे अब ३० रुपए मासिक शुल्क लिया जाएगा। इसके साथ ही निगम ने औद्योगिक इकाइयों को राहत देते हुए कचरे की मात्रा के मान से इनका यूजर्स चार्ज निर्धारित कर दिया है। अभी जो चार्ज तय हुआ है वे अगले वित्तीय वर्ष के लिए है। आगामी वर्षों में दरों में बदलाव संभव है।
कचरा कलेक्शन पर हर माह १ करोड़ से अधिक खर्च
नगर निगम शहर में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए १ करोड़ से अधिक हर माह खर्च करता है। प्रति मीट्रिक टन कचरे के मान से कलेक्शनकर्ता कंपनी को भुगतान किया जाता है। इसमें जुटे संसाधनों व कर्मियों के कारण ही शहर में हर कहीं गंदगी नजर नहीं आती। लोग भी अब कचरा गाड़ी आने का इंतजार करते हैं, कचरा सड़कों पर ना फेंकते हुए गाड़ी में ही देते हैं। शहरभर से एकत्रित कचरा ट्रांसफर स्टेशनों के जरिए गोंदिया ट्रेंचिंग ग्राउंड भिजवाया जाता है। जहां कचरे का निष्पादन कर इससे जैविक खाद, ईंधन व ईंट तैयार की जाती है।
जो घर व प्रतिष्ठानों में खाद बनाएंगे, उन्हें ३० प्रतिशत की छूट
नगर निगम ने होम कंपोस्टिंग को बढ़ावा देने यूजर्स चार्ज में छूट के भी प्रावधान किए हैं, जो लोग घरों में गीले कचरे से मटका खाद बनाएंगे उन्हें व 50 किलो से अधिक गीला कचरा प्रतिदिन उत्पादित करने वाले प्रतिष्ठान ऑनसाइन कंपोस्टिंग करेंगे उन्हें यूजर्स चार्ज में ३० प्रतिशत की छूट प्रदान की जाएगी। यह छूट संबंधित जोन के स्वास्थ्य अधिकारी, स्वास्थ निरीक्षक, मेट/दरोगा के संयुक्त हस्ताक्षर से प्रमाणीकरण उपरांत सिर्फ कचरा कलेक्शन चार्ज में दी जाएगी। बता दें कि अभी शहर में करीब ५५०० लोग अपने घर के गीले कचरे की होम कंपोस्टिंग कर रहे हैं। इसी बूते शहर को स्वच्छ सर्वेक्षण में पुरस्कार भी मिला है।

rajesh jarwal Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned