अब अंगूठे के दम पर ही मिलेंगे पैसे

अब अंगूठे के दम पर ही मिलेंगे पैसे
money,gram panchayat,Now,get,thumb,

anil mukati | Publish: Aug, 13 2019 08:00:00 AM (IST) Ujjain, Ujjain, Madhya Pradesh, India

जिले में पहली बार तराना जनपद की 13 ग्राम पंचायतों में बॉयोमैट्रिक थंब इंप्रेशन मशीन लगी

उज्जैन. अमूमन अंगूठे का मतलब होता अनपढ़ या अज्ञानी व्यक्ति लेकिन अब इसी अंगूठे से ग्रामीण क्षेत्र के सरकारी कर्मचारियों को वेतन भुगतान होगा। दअरसल जिले में पहली बार पंचायतों में बॉयोमैट्रिक थंब इंपे्रशन मशीन स्थापित की जा रही है। पहले चरण में तराना जनपद की 13 ग्राम पंचायतों में यह मशीन लगाई गई है। अब यहां पर ग्रामीण क्षेत्र में पदस्थ सरकारी कर्मचारी अंगूठा लगाकर अपनी उपस्थिति दर्ज करवाएंगे।
शहरी क्षेत्र में अमूमन सभी सरकारी महकमों में कर्मचारियों की उपस्थिति के लिए बॉयोमेट्रिक थंब इंप्रेशन मशीन लगी हुई है लेकिन ग्रामीण क्षेत्र में कार्यरत कर्मचारियों के लिए अब तक ऐसी कोई व्यवस्था नहीं थी। लिहाजा यह स्पष्ट नहीं हो पाता था कि कर्मचारी कब कार्यालय आया, कितने समय बैठा और कब कार्यालय से चला गया। इस समस्या को देखते हुए हाल ही में कलेक्टर शशांक मिश्र ने जिले में ग्रामीण क्षेत्रों में भी कर्मचारियों के लिए बॉयोमैट्रिक थंब इंप्रेशन मशीन लगाने के निर्देश दिए थे। इसके चलते पहली बार तराना में पंचायतों में थंब इंप्रेशन मशीन लगाई गई है। तराना जनपद सीइओ रामप्रसाद सिंह पंवार ने बताया कि 13 ग्राम पंचायतों में मशीन लगाकर इंस्टाल की जा चुकी है। इस मशीन के सॉफ्टवेयर में कर्मचारी के आने-जान की उपस्थिति दर्ज होगी। साथ ही यह भी स्पष्ट होगा कि कर्मचारी कितनी देर तक कार्यालय में मौजूद रहा है। थंब मशीन की रिपोर्ट के आधार पर ही कर्मचारी को वेतन जारी होगा। मंगलवार से ही कर्मचारियों की उपस्थित मशीन से दर्ज होना शुरू हो जाएगी।
13 पंचायतों में दर्ज 90 कर्मचारियों की लगेगी हाजिरी
तराना रूपाखेड़ी, सेजलाखेड़ी, लसोडिय़ा आमरा, कज्जूखेड़ी, चीरडी, कढाई, नांदेड़, पंचौली, सामानेरा, ढाबरा राजपूत व पानखेड़ी ग्राम पंचायतों में थंब मशीन लगाई है। इन पंचायतों में कार्यरत पटवारी, ग्राम सचिव, रोजगार सहायक, आशा व आंगनवाडी कार्यकर्ता तथा स्वास्थ्य व कृषि विभाग के कर्मचारियों की हाजिरी लगेगी। एक पंचायत में एक मशीन लगी है और करीब सात से आठ कर्मचारी अपना अंगूठा लगाएंगे।
यह होगा फायदा
- ग्रामीण क्षेत्र में अक्सर कर्मचारी के गायब हो समय पर नहीं पहुंचने की शिकायत खत्म होगी।
- किसी कर्मचारी के नहीं मिलने की शिकायत पर तुरंत थंब मशीन से उसकी उपस्थिति जानी जा सकेगी।
- शासकीय कार्यालयों में अब कर्मचारी निर्धारित समय सुबह १०.३० बजे पहुंचेगे।
इनका कहना
जिले में पहली बार ग्रामीण क्षेत्र में कार्यरत कर्मचारियों की उपस्थिति के लिए पंचायतोंं में बॉयोमैट्रिक थंग इंप्रेशन मशीन लगाई जा रही है। पहले चरण में तराना के १३ ग्राम पंचायतों में यह स्थापित हो गई है। इससे कर्मचारियों के अनुपस्थित रहने या समय पर नहीं पहुंचने जैसी शिकायतें खत्म होगी।
- नीलेश पारिख, सीइओ, जिला पंचायत

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned