एनएसयूआई कार्यकर्ता बोले- विवि में शुरू करें पकौड़ा अध्ययनशाला

विक्रम विश्वविद्यालय में प्रदर्शन करने पहुंचे कांग्रेसी, पुलिस रही तैनात

By: Lalit Saxena

Published: 10 Feb 2018, 08:10 AM IST

उज्जैन. शिक्षित बेरोजगारों को पकौड़ा बेचने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की सलाह का भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन ने भी विरोध शुरू किया है। एनएसयूआई कार्यकर्ता शुक्रवार दोपहर २ बजे विवि प्रशासनिक भवन पहुंचे और विवि में पकौड़ा अध्ययनशाला बनाने की मांग की। विद्यार्थियों का कहना था कि एमबीए, बीई सहित अन्य उच्च पाठ्यक्रमों की पढ़ाई करने वालों को सरकार पकौड़ा बेचने की सलाह दे रही है तो फिर विश्वविद्यालय में पकौड़ा बनाने का प्रशिक्षण दिया जाए। रजिष्ट्रार परीक्षित सिंह के सामने एनसएसयूआई कार्यकर्ताओं ने अपनी बात रखी। एनएसयूआई के प्रदर्शन की सूचना लगते ही माधवनगर थाना पुलिस काफी संख्या में पहले से ही पहुंच गई। हालांकि प्रदर्शन पूरी तरह से शांतिपूर्वक रहा। प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस नेता विक्की यादव, एनएसयूआई के प्रीतेश शर्मा, अंबर माथुर आदि उपस्थित रहे।
विद्यार्थियों की शिकायत के अनुसार विद्यार्थियों से मूल फीस की जगह २०० से ५०० रुपए ज्यादा फीस ली जा रही है। इसके विरोध के बाद फीस सुधार की प्रक्रिया शुरू हुई है, लेकिन अब किसी भी प्रकार के निर्णय की संभावना कम है। १० फरवरी का समय गुजर चुका है। अब लिंक बंद करने और शुरू करने से परीक्षा फॉर्म का काम ज्यादा पिछड़ जाएगा। इसका असर वार्षिक पद्धति की परीक्षा पर पड़ेगा। दूसरी तरफ छात्र संगठनों ने फीस में सुधार नहीं होने पर विरोध की तैयारी कर ली है।
परीक्षा फीस शिकायत की फाइल फिर बढ़ी
वार्षिक पद्धति की परीक्षा फीस निर्धारण में हुई गड़बड़ी की शिकायत के बाद फिर से फाइल चल गई है। विद्यार्थियों के आवेदन को उच्चाधिकारियों के समक्ष पहुंचा दिया गया। इसमें चार पाठ्यक्रम की फीस निर्धारण में गड़बड़ी की बात है।

तरफ छात्र संगठनों ने फीस में सुधार नहीं होने पर विरोध की तैयारी कर ली है।
परीक्षा फीस शिकायत की फाइल फिर बढ़ी
वार्षिक पद्धति की परीक्षा फीस निर्धारण में हुई गड़बड़ी की शिकायत के बाद फिर से फाइल चल गई है। विद्यार्थियों

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned