अधिकारी हो फरियादी इस कमरे में आने से पहले क्यों उतारते हैं जूते, पढि़ए

देश में एक ओर जहां स्वच्छता अभियान को लेकर जागरुकता बढ़ी है, वहीं अंचल में भी इससे जागरुकता आइ है। अभी विगत दिवस की तराना में प्रकाश व्यास ने बर्तनों में भोजन करवाया वहीं लिंबादित में यादव परिवार ने मां के शांति भोज के कार्यक्रम में भी डिस्पोजल से दूरी बनाकर रखी।

By: Ashish Sikarwar

Published: 27 Nov 2019, 09:00 AM IST

तराना. देश में एक ओर जहां स्वच्छता अभियान को लेकर जागरुकता बढ़ी है, वहीं अंचल में भी इससे जागरुकता आइ है। अभी विगत दिवस की तराना में प्रकाश व्यास ने बर्तनों में भोजन करवाया वहीं लिंबादित में यादव परिवार ने मां के शांति भोज के कार्यक्रम में भी डिस्पोजल से दूरी बनाकर रखी।
अब एक खबर तराना नगर के एसडीएम कार्यालय के अंतर्गत आने वाले गिरदावर कार्यालय से आई है। इसकी विशेषता है कि कि यहां पर अंदर कारपेट बिछा है। जिस किसी को भी अंदर जाना होता है वह पहले बाहर जूते-चप्पल उतारता है उसके बाद ही अंदर जाता है। कारपेट पर ही बैठकर पटवारी किसानों का कार्य करते हैं। कृष्णपालसिंह तोमर, अशोक वक्त ने उपस्थित राजस्व निरीक्षक केल मिश्रा, रामेश्वर डामोर, शेख अब्दुल मलिक पटवारी तराना से चर्चा की तो उन्होंने बताया हमने सबने मिलकर यह नियम बना रखा है कि इस कक्ष में जूते-चप्पल पहने कोई भी प्रवेश नहीं करेगा। हम सब मिलकर इसका पालन करते हैं तो आने वाले भी पालन करते हैं।
पं. अखिलेश चतुर्वेदी, सुमित खंडूजा ने भी इस कार्यालय में तिलकेश्वर मंदिर के लिए कार्य से आए थे। उन्होंने जूते-चप्पल बाहर उतारे। अधिकारियों ने बताया तहसीलदार भी आते हैं तो वे भी जूते-चप्पल बाहर ही उतारते हैं। चौकीदार मिश्रीलाल व साथी सफाई का ध्यान रखते हैं।
मिशन इंद्रधनुष की हुई बैठक
तराना. मंगलवार को जनपद पंचायत हॉल में मिशन इंद्रधनुष अभियान की ब्लॉक टास्क फोर्स की मीटिंग हुई। डॉ. राकेशसिंह जाटव विकासखंड चिकित्सा अधिकारी ने टीकाकरण के विषय में विस्तार से बताया। 2 वर्ष से कम उम्र वाले बच्चों का जो छूटे हैं, उनका टीकाकरण किया जाएगा। शिक्षा विभाग, आदिम जाति कल्याण विभाग, नगर परिषद के अधिकारी एवं कर्मचारी तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के समस्त सुपरवाइजर एवं शिक्षा विभाग से व स्वास्थ्य विभाग के सेक्टर मेडिकल ऑफिसर व सेक्टर सुपरवाइजर उपस्थित थे। डॉ. ऋषि कुंभकार, डॉ. अनीश गौरी, सुरेश जैन, सुपरवाइजर लक्ष्मीनारायण गहलोत, परमानंद कटारिया मौजूद थे। जानकारी रामचरण भवरासिया बीईई ने दी।

Show More
Ashish Sikarwar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned