video : उज्जैन में जमकर हंगामा : भगदड़, तोडफ़ोड़...पुलिस ने चलाई लाठियां

देवासगेट बस स्टैंड के समीप स्थित माधव कॉलेज के बाहर शनिवार शाम एनएसयूआई और एबीवीपी कार्यकर्ताओं में जमकर भिड़ंत हो गई।

By: Lalit Saxena

Published: 09 Mar 2019, 08:57 PM IST

उज्जैन. देवासगेट बस स्टैंड के समीप स्थित माधव कॉलेज के बाहर शनिवार शाम एनएसयूआई और एबीवीपी कार्यकर्ताओं में जमकर भिड़ंत हो गई। एबीवीपी उच्च शिक्षा विभाग द्वारा शैक्षणिक संस्थान में विरोध प्रदर्शन करने की रोक लगाने का विरोध और उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी का पुतला दहन करने पहुंची थी। इस दौरान पुलिस प्रदर्शनकारियों को रोक रही थी। मंत्री का विरोध होने की सूचना मिलते ही कॉलेज से कांग्रेस समर्थक बाहर आ गए। उन्होंने एबीवीपी का विरोध शुरू कर दिया। थोड़ी ही देर में आमने-सामने हुए कार्यकर्ताओं में भिड़ंत हो गई। स्थिति को संभालने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा और पानी की बौछार का प्रयोग भी करना पड़ा।

क्या है मामला
उच्च शिक्षा विभाग ने आदेश जारी किया कि कैम्पसों में अनुशासन बनाए रखने के लिए किसी भी प्रकार का धरना, प्रदर्शन और राजनीतिक गतिविधियों पर रोक रहेगी। एबीवीपी उक्त फैसले का विरोध कर रही है। शनिवार को एबीवीपी ने उक्त फैसले के विरोध में माधव कॉलेज, विक्रम विवि सुमनमानविकी परीक्षा केंद्र के बाहर उच्च शिक्षा मंत्री के पुतले दहन कर विरोध करने की तैयारी की।

बाइक पर ही जला दिया पुतला
एबीवीपी कार्यकर्ता पुतला लेकर पहुंचे। तो छीना-छपटी में पुतला बिगड़ गया। इसके बाद कार्यकर्ता दूसरा पुतला लेकर पहुंचे, लेकिन यह भी पूरी तरह से नहीं जल पाया। इसके बाद एबीवीपी के कार्यकर्ता चामुण्डा माता मंदिर चौराहे से बाइक पर ही जलता हुआ पुतला लेकर पहुंचे। प्रदर्शन के दौरान एबीवीपी जिला संयोजक दुष्यंत मालवीय, हिमांशु रावल, शालिनी वर्मा आदि उपस्थित रहे।

हवा में चले पत्थर
एनएसयूआई और एबीवीपी कार्यकर्ताओं की भिड़त में पहले एक अधजला पुतला हवा में इधर से उधर हुआ। इसके बाद एबीवीपी की तरफ से एक कार्यकर्ता ने चप्पल फेंक दी। इसके बाद जिसके हाथ जो लगा फेंकने में भिड़ गया। इसी बीच कुछ एनएसयूआई कार्यकर्ता कैम्पस में गए और पत्थर लेकर आए। जो फिर हवा में फेंके गए। घटना स्थल पर एनएसयूआई के कुछ कार्यकर्ता लाठी लेकर एबीवीपी की तरफ भी घुस गए।

वरिष्ठ कांग्रेसी भी पहुंचे मौके पर

विवाद की सूचना मिलते ही वरिष्ठ कांग्रेसी बटुकशंकर जोशी मौके पर पहुंचे। इस दौरान एनएसयूआई पदाधिकारियों ने उससे पुलिस के रवैये की शिकायत की। उनका कहना था कि तीन-तीन पुतले जलाए गए। पुलिस शांत खड़ी रही। इसके बाद उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं को शांत रहने की समझाइश दी। विवाद के दौरान एनएसयूआई प्रदेश महासचिव प्रीतेश शर्मा, यशवंत चौहान, यश जैन, कुश वर्मा, बबलू खिंची, साहिल देहलवी आदि मौके पर रहे।

Show More
Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned