हट रहे नेताओं के फोटो और पोस्टर, यह है कारण

हट रहे नेताओं के फोटो और पोस्टर, यह है कारण

Gopal Swaroop Bajpai | Publish: Sep, 02 2018 08:12:09 PM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

संपत्ति विरूपण अधिनियम में निगम ने की कार्रवाई, शहर में हीं भी बगैर अनुमति राजनीतिक पोस्टर लगाने पर होगी कार्रवाई

उज्जैन। चुनावी आचार संहिता लगाने में भले ही अभी थोड़ा समय हों लेकिन नगर निगम ने मप्र संपत्ति विरूपण अधिनियम अंतर्गत शहर में शासकीय व अशासकीय स्थालों पर लगे नेताओं के पोस्टर-होर्डिंग्स हटाने की कार्रवाई शुरू कर दी है। शनिवार को निगम गैंग ने देवास रोड, फ्रीगंज सहित अन्य स्थानों पर विद्युत पोल, सेंट्रल डिवाइडर आदि जगह लगे पोस्टर उतारकर जब्त किए। अधिनियम में प्रावधान है कि कहीं भी राजनीतिक, प्रचार-प्रसार पोस्टर आदि निगम की बगैर अनुमति नहीं लगाए जा सकते।

निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि आगामी समय में चुनावी आचार संहिता लगने वाली है। एेसे में पूर्व से ही शहर से राजनीतिक संदेश, पोस्टर व बगैर अनुमती लगे होर्डिंग्स आदि हटा दिए जाएं। साथ ही उन्होंने शहर के प्रिंटर्स व चित्रकारों को भी चेतावनी दी की वे अपने द्वारा लगाएं पोस्टर व बनाई पेंटिंग आदि खुद ही हटा लें अन्यथा उन पर भी कार्रवाई होगी। अब यदि शहर में किसी ने बगैर अनुमती राजनीतिक बैनर-पोस्टर लगाएं तो उन पर भी जुर्माने की कार्रवाई होगी।

मतदाता सूची में नाम बढ़वाने की तारीख बढ़ी, जनता को जानकारी नहीं

मतदाता सूची में संशोधन की आखिरी तारीख अब 7 सितंबर कर दी गई है। पहले आखिरी तारीख 31 अगस्त निर्धारित की गई थी। तारीख बढ़ाने का उद्देश्य वंचित लोगों मतदाता सूची में जोडऩा व इसे और शुद्ध बनाना है, लेकिन प्रचार-प्रसार की कमी के चलते कई लोगों को इसकी जानकारी नहीं लग पाई है।
विधानसभा चुनाव से पूर्व निर्वाचन नामावली में नाम जोडऩे, घटाने, पता परिवहन या अन्य संशोधन सहित दावे-आपत्ति के लिए निर्वाचन आयोग ने अंतिम तारीख 31 अगस्त तय की थी। उपजिला निर्वाचन अधिकारी आरपी वर्मा ने बताया कि तारीख बढ़ा दी गई है। अब इच्छुक व्यक्ति 7 सितंबर तक मतदाता सूची में नाम जुड़वा सकते हैं या अन्य संशोधन किए जा सकते हैं। यह मांग लंबे समय से की जा रही थी।

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned