शहर को ये सौगात देने पहुंचा पीआईयू का दल

निर्माण की मैपिंग के लिए पहुंचा दल ड्रोन कैमरे से ली तस्वीरें, जल्द ही चार मंजिला भवन का काम होगा शुरू

नागदा. साढ़े सात करोड़ की लागत से बनने वाले चार मंजिला सरकारी अस्पताल भवन के निर्माण को लेकर हलचल तेज हो गई है। गुरुवार को नवीन भवन की मैपिंग के लिए पीआइयू का 6 सदस्यीय दल अस्पताल पहुंचा और ड्रोन कैमरे की मदद से भवन का डिजिटल मानचित्र तैयार किया।
बता दें शासन द्वारा नागदा के सरकारी अस्पताल को मॉडल बनाने का निर्णय लिया गया है। इसके तहत करीब साढ़े सात करोड़ रुपए की लागत से सर्वसुविधायुक्त चार मंजिला अस्पताल निर्माण की योजना बनाई गई है। नवीन अस्पताल भवन 100 बिस्तरों वाला होगा। हालांकि शुरुआत में 60 बिस्तरों की सुविधा होगी। फिर जरूरत के आधार पर बिस्तरों की संख्या को बढ़ाया जाएगा। इसी के चलते पीआइयू का ६ सदस्यीस संभागीय दल शहर पहुंचा और पूरे अस्पताल परिसर की ड्रेन कैमरे से तस्वीरे लेकर डिजिटल मानचित्र तैयार कर साथ ले गए।
दुकानों को तोड़ा जाएगा
अस्पताल परिसर में 30 से ज्यादा दुकानें हैं। नवीन भवन का जो मानचित्र तैयार किया जा रहा है उसमें गायत्री मंदिर के सामने वाली एवं जवाहर मार्ग पर स्थित अस्पताल की दुकानों को तोड़कर पुन: निर्माण करने की योजना बनाई गई है। इसके लिए सभी दुकानदारों को दुकानें खाली करने के निर्देश भी दे दिए गए हैं। जानकारी के मुताबिक दुकानदारो को विभाग द्वारा दुकान खाली करने के लिए तीन माह का समय दिया गया है। ताकि भवन को तोड़कर आधुनिक अस्पताल भवन का निर्माण किया जा सके।
ग्राउंड जीरो पर रहेगी पार्किंग
योजना के मुताबिक पुराना अस्पताल भवन का आइसीयू वाला हिस्सा छोड़कर पूरे भवन को डिस्मेटल किया जाएगा। ग्राउंड जीरो पर पार्किंग होगी। इसके अलावा नवीन अस्पताल भवन में मरीजों एवं लोगों की सुविधा के लिए लिफ्ट भी रहेगी। खास बात यह है कि प्रस्तावित अस्पताल भवन का निर्माण इस तरह किया जा रहा है कि भविष्य में अगर नागदा जिला बनता है तो इसे जिला अस्पताल की शक्ल दी जा सके।
निर्माण समयावधि में शिफ्ट होगा अस्पताल
निर्माण प्रक्रिया के दौरान अस्पताल परिसर एवं क्षेत्राधिकार में आने वाली
भूमि को खाली कराया जाना है। ऐसे में मरीजों व लोगों को असुविधा नहीं हो इसके लिए अस्पताल का संचालन इंगोरिया रोड स्थित कर्मचारी राज्य बिमा निगम अस्पताल भवन में शिफ्ट करने की योजना बनाई गई है। नवीन भवन के निर्माण होने तक बीमा अस्पताल भवन का उपयोग सरकारी अस्पताल के रूप में किया जा सकेगा।
दल में यह थे शामिल
दल में पीआइयू के सहायक परियोजना यंत्री जीएस भल्ला, फील्ड इंजीनियर मोइनुद्दीन खान, टीम लीडर महमूद अहमद सहित आधा दर्जन अधिकारी व कर्मचारी शामिल थे। इन्होंने एक घंटे तक ड्रैन कैमरे को आसमान में उड़ाकर अस्पताल के हर कौने से तस्वीरों को खींचा और डिजिटल मानचित्र बनाया।

Ashish Sikarwar Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned