एक्सप्रेस ट्रेन में सनसनीखेज वारदात करने वाले को पकडऩे बिछाया ऐसा जाल

एक्सप्रेस ट्रेन में सनसनीखेज वारदात करने वाले को पकडऩे बिछाया ऐसा जाल
arrested,rpf,accused,GRP,nagda railway station,

Lalit Saxena | Publish: Nov, 29 2018 07:05:35 PM (IST) | Updated: Nov, 29 2018 07:08:35 PM (IST) Ujjain, Ujjain, Madhya Pradesh, India

जीआरपी नागदा ने आरपीएफ रतलाम की मदद से जयपुर-चैन्नई ट्रेन से करीब 10 लाख रुपए कीमत के जेवरात चोरी करने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

नागदा। जीआरपी नागदा ने आरपीएफ रतलाम की मदद से जयपुर-चैन्नई ट्रेन से करीब 10 लाख रुपए कीमत के जेवरात चोरी करने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। आरोपी का नाम विपुल पिता भंवरलाल जैन, 35 वर्ष निवासी दसाई महाराष्ट्र का बताया जा रहा है।

मोबाइल से शिकायत दर्ज कराई
मिली जानकारी के मुताबिक कोटा राजस्थान निवासी सुनील पिता पुखराज बाफना का परिवार 27 नवंबर मंगलवार को भांजे की शादी निपटाकर जयपुर चैन्नई एक्सप्रेस ट्रेन से लौट रहा था। सुनील के परिवार का ट्रेन के एच-1 कोच में रिजर्वेशन था। नागदा रेलवे स्टेशन से ट्रेन आगे बढऩे के बाद जब इस परिवार ने अपनी सीट के नीचे रखे सामान को टटोला, तो परपल कलर का एक ट्रॉली बैग गायब था। सुनील ने तत्काल अपने मोबाइल से रेलवे को इसकी शिकायत दर्ज करवाई और बाद में कोटा जीआरपी को भी लिखित में शिकायत दर्ज की गई। पीडि़त ने अपनी शिकायत में रेलवे पुलिस को बैग में करीब 10 लाख रुपए के सोने-चांदी के जेवरात होना बताया था। कोटा जीआरपी ने पीडि़त की शिकायत पर शून्य पर कायमी कर नागदा जीआरपी को कार्रवाई के लिए भेजा था।

सीसीटीवी फुटेज में नजर आया था आरोपी
चोरी की इस सनसनीखेज वारदात के बाद नागदा से लेकर बड़ोदा तक की रेलवे पुलिस अलर्ट पर थी। शिकायत के आधार पर पुलिस ने उन सभी रेलवे स्टेशनों के सीसीटीवी फुटेज को खंगालना शुरू किया। जहां जयपुर एक्सप्रेस ट्रेन का स्टॉपेज है। पुलिस को जल्द ही इसमें कामयाबी भी मिल गई। जब रतलाम रेलवे स्टेशन पर एक संदिग्ध युवक परपल कलर के ट्राली बैग के साथ प्लेटफार्म से बहार निकलता नजर आया। इसी फुटेज के आधार पर पुलिस ने ऐसे यात्रियों की जानकारी एकत्रित की जो उस दिन जयपुर ट्रेन के उसी कोच में यात्रा कर रहे थे। जिस कोच से सामान चोरी हुआ था और जिसका रिजर्वेशन रतलाम तक ही था।

ऐसे पहुंची पुलिस आरोपी तक
जांच में पुलिस को महाराष्ट्र के दसाई शहर में रहने वाले विपुल नामक युवक की जानकारी मिली जो उसी रात को जयपुर-चेन्नई एक्सप्रेस ट्रेन के एच-1 कोच मे इसका रिजर्वेशन सूरत से रतलाम तक का था। साथ यह भी जानकारी मिली कि उसने एक दिन बाद ही वापसी का टिकट भी करवा रखा था, जो वेटिंग में चल रहा है। इतनी जानकारी हाथ लगने के बाद नागदा जीआरपी ने रतलाम आरपीएफ की मदद से सीसीटीवी फुटेज में दिखने वाले संदिग्ध की तलाश प्रारंभ की।

आरपीएफ ने बिछाया जाल
पुलिस को यह भी जानकारी थी कि उक्त संदिग्ध का वापसी का रिजर्वेशन टिकट कंन्फर्म नहीं हुआ है, तो वह टिकट कैंसल करवाने स्टेशन पर आ सकता है। यही हुआ युवक जैसे ही टिकट कैंसल करवाने रतलाम स्टेशन पहुंचा, पहले से इंतजार कर रहे आरपीएफ जवानों ने उसे पकड़ लिया। पूछताछ में युवक ने चोरी करना कबूल लिया है।

लॉज में रखकर आया था चोरी के आभूषण
चोरी के आभूषण जो कि वह रतलाम की एक लॉज में रखकर आया था, पुलिस ने वहां से बरामद कर लिया है। जीआरपी नागदा उक्त आरोपी को शुक्रवार को न्यायालय में पेश कर रिमांड मांगेगी, ताकि ट्रेनों में हुई अन्य चोरियों का पता लगाया जा सके।

इनका कहना
नागदा जीआरपी और रतलाम आरपीएफ के संयुक्त प्रयास से 10 लाख की चोरी करने वाले आरोपी को पकडऩे में सफलता हासिल की है। उक्त आरोपी महाराष्ट्र के दसाई का रहने वाला बताया है और 27 नवंबर को जयपुर एक्सप्रेस ट्रेन से कोटा के एक परिवार का जेवरात से भरा बेग चोरी कर रतलाम रेल्वे स्टेशन उतर गया था। सीसीटीवी फुटेेज से आरोपी की तलाश कर एक दिन बाद ही इसे मय चोरी के माल के साथ पकड़ लिया गया है।
- सुरेश बलराम, जीआरपी थाना प्रभारी श्यामगढ़

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned