scriptPolitics on the dilapidated road, the matter reached the government | जर्जर सड़क पर राजनीति, सरकार तक पहुंचा मामला | Patrika News

जर्जर सड़क पर राजनीति, सरकार तक पहुंचा मामला

नागदा-खाचरौद की जर्जर सड़क के मामले में अब विधायक व पूर्व विधायक आमने-सामने

उज्जैन

Published: December 24, 2021 12:09:58 am

नागदा. नागदा-खाचरौद की जर्जर सड़क को लेकर चल रही राजनीति थमने का नाम नहीं ले रही है। सत्ता व विपक्ष के आरोपों के बीच अब यह मामला सरकार की चौखट तक पहुंच गया है। विधायक दिलीपसिंह गुर्जर ने मामला विधानसभा में उठाते हुए सरकार पर गलत जानकारी देने का आरोप लगाया है। जिस पर पलटवार करते हुए पूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत ने उल्टा विधायक पर ही अनदेखी की बात कही है। इधर सड़क के इस मामले में चल रही राजनीति के बीच जनता ने भी अपनी व्यथा पत्रिका के माध्यम से जनप्रतिनिधियों से साझा करते हुए जल्द से जल्द सड़क रिपेयरिंग की मांग की है।
फ्लैश बैक: ज्ञापन के माध्यम गरमराई राजनीति
मंगलवार को कांग्रेस के जिला कार्यकारी अध्यक्ष सुबोध स्वामी ने खाचरौद पहुंचकर जर्जर सड़क की समस्या को लेकर एसडीएम पुरुषोत्तम कुमार के नाम तहसीलदार आशीष खरे को ज्ञापन सौंपा था। कांग्रेस की इस गतिविधि को भाजपा ने नौटंकी बताया था। यहीं से राजनीति का क्रम शुरू हुआ। जो गुरुवार तक नहीं थमा। जबकि अभी ये वक्त राजनीति का नहीं, सड़क के पेंचवर्क करने का है। ताकि जनता की राह सुगम हो।
कागज में सरकार मार्ग सुधारने की बात कह रही, हकीकत: मौके पर जर्जर है सड़क: विधायक
विधायक दिलीपसिंह गुर्जर ने बताया कि नागदा-खाचरौद को जोडऩे वाली सड़क को लेकर विधानसभा में लगाए प्रश्न में पूछा कि सड़क निर्माण व चौड़ीकरण के लिए विभाग द्वारा क्या कार्रवाई की जा रही है और कब तक सड़क सुधारकर चौड़ीकरण किया जाएगा। प्रश्न के जवाब में लोनिवि मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि जी नहीं, मार्ग सुधार किया जा चुका है। सरकार के इस जवाब पर विधायक गुर्जर ने मीडिया से कहा कि मंत्री ने विधानसभा प्रश्न की गलत जानकारी देकर सदन को गुमराह किया है। हकीकत यह है कि नागदा-खाचरौद सड़क पूर्णरुप से खराब हो चुकी है और उसमें कोई सुधार नहीं किया गया है। विधानसभा में गलत उत्तर देने पर मामला प्रश्न संदर्भ समिति से जांच करने के लिए सौंपा जाएगा।
विधायक अपनी लापरवाही का ठिकरा सरकार पर फोड़ रहें: पूर्व विधायक
विधायक द्वारा लगाएं आरोपों के जवाब में पूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत ने कहा कि सड़क को लेकर गुर्जर इतने ही फिक्रमंद है तो पिछले ढाई साल तक सड़क को रिन्यूवल कराने के लिए क्यों प्रयास नहीं किए। इस सड़क की ग्यारंटी तीन साल की थी। 2019 में इसे रिन्यूवल करा देना चाहिए था। मगर 2019 के साथ 2020 और अब 2021 निकलने वाला है। विधायक इस सड़क को रिन्यूवल नहीं करा पाएं। विधायक को जनता को गुमराह करने की बजाए क्षेत्र के विकास पर ध्यान देना चाहिए। मगर वे उल्टा सरकार पर ही अपनी लापरवाही का ठिकरा सरकार पर फोड़ रहे हैं। अब भी समय है विधायक ऐसे बयान देने की बजाए सड़क रिपेयरिंग कराएं। ताकि इस मार्ग से आवागमन सुगम हो।
जनता की व्यथा:
मैंने छह साल पहले कार ली थी। गाड़ी रतलाम, उज्जैन, इंदौर जाती है। नागदा से उज्जैन, इंदौर और खाचरौद से रतलाम सड़क को छोड़कर नागदा से खाचरौद की सड़क इतनी जर्जर है कि काम के सिलसिले में सिर्फ छह महीने नागदा से रतलाम आने-जाने में ही मेरी गाड़ी के चारो टायर खत्म होने के साथ अन्य पार्टस खराब होने की स्थिति में आ गए है। गाड़ी के चारों का 24 हजार और 10 हजार अन्य मैटेनेंस मिलाकर कुल 34 हजार रुपए का खर्च आ गया है। यहीं नहीं इस सड़क से आवागमन के दौरान मैं दो बार दुर्घनाग्रस्त होते हुए बचा हूं। इससे पहले यहां कोई बड़ा हादसा हो। सड़क रिपेयरिंग कराना चाहिए।
विवेक शर्मा, नागरिक
नागदा में दुकान होने की वजह से खाचरौद से नागदा अपडाउन करता हूं। सड़क की जर्जर हालात के कारण मेरी दोनों कार मैटेनेंस की स्थिति बनने लगी है। इसके अलावा पहले खाचरौद से नागदा की दूरी 20 मिनट में तय कर लेते थे। अब गड्डों के कारण 40 मिनट लगते है।
अजीत वागरेचा, सराफा व्यवसायी
इस सड़क से रात में सफर करना घातक है। क्योंकि सामने वाली गाड़ी की लाइट चेहरे पर पड़ती है। जिससे गड्डे नजर नहीं आते। इसके अलावा धूल उडऩे से परेशानी होती है। जर्जर सड़क की वजह से अब गाडिय़ां भी मैटेनेंस मांगने लग गई है।
रोहित गेलड़ा, व्यवसायी
Politics on the dilapidated road, the matter reached the government
नागदा-खाचरौद की जर्जर सड़क के मामले में अब विधायक व पूर्व विधायक आमने-सामने

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Antrix-Devas deal पर बोली निर्मला सीतारमण, यूपीए सरकार की नाक के नीचे हुआ देश की सुरक्षा से खिलवाड़Delhi Riots: दिलबर नेगी हत्याकांड में हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, 6 आरोपियों को दी जमानतDelhi: 26 जनवरी पर बड़े आतंकी हमले का खतरा, IB ने जारी किया अलर्टUP Election 2022 : टिकट कटने पर फूट-फूटकर रोये वरिष्ठ नेता ने छोड़ी भाजपा, बोले- सीएम योगी भी जल्द किनारे लगेंगेपंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशफिल्म लुकाछुपी-2 की शूटिंग पर बवाल, परीक्षा स्थल पर लगा दिया सेट, स्टूडेंट्स ने किया हंगामासोशल मीडिया पर छाया कमलनाथ का KGF अवतार, देखें वीडियोIPL 2022 के लिए लखनऊ टीम ने चुने 3 खिलाड़ी, KL Rahul पर हुई पैसों की बरसात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.