scriptPollution increased 6 times in the city due to burning of Narwai, blac | नरवाई जलाने से शहर में 6 गुना बढ़ा प्रदूषण, घरों पर जम रही काली राख | Patrika News

नरवाई जलाने से शहर में 6 गुना बढ़ा प्रदूषण, घरों पर जम रही काली राख

पर्यावरण पर भारी पड़ रहा 'नरवाई का प्रदूषण'

चिंता - पीएम-2.5 का स्तर 354 तो पीएम-10 भी 227 माइक्रोन तक पहुंचा, जो मानक से पांच से छह गुना तक बढ़ा
परेशानी - लोगों के घरों पर जम रही कालिख, फेफड़ों में पहुंच रहे प्रदूषक तत्व

लापरवाही - जिम्मेदार एजेंसियां कार्रवाई की इच्छाशक्ति तक नहीं दिखा रही

 

उज्जैन

Published: May 12, 2022 11:26:35 pm

उज्जैन. नरवाई या पराली जलाना प्रतिबंधित होने के बावजूद शहर के आसपास धड़ल्ले से जारी है। स्थिति यह है कि काली राख रहवासी क्षेत्रों तक पहुंच रही है। यह मकानों पर काली परत चढ़ाने के साथ आबोहवा को जहरीला बना रहा है। गत 11 दिन के आंकड़ों पर गौर करें तो सामने आता है कि जब-जब शहर के आसपास नरवाई जलती है, प्राणवायु में पीएम-2.5 और पीएम-10 की मात्रा 5 से 6 गुना तक बढ़ जाती है। बावजूद इसके जिम्मेदार हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं और जनता जहरीली प्राणवायु ग्रहण करने को मजबूर है।
Pollution increased 6 times in the city due to burning of Narwai, black ash accumulating on the houses
Pollution increased 6 times in the city due to burning of Narwai, black ash accumulating on the houses
शहर में प्रदूषण की स्थिति
दिनांक पीएम 2.5 पीएम 10 (दोनों आंकड़े माइक्रोन में)

11 अप्रेल 310 172
12 अप्रेल 165 191
13 अप्रेल 338 दर्ज नहीं
14 अप्रेल 236 225
15 अप्रेल 348 257
16 अप्रेल 311 205
17 अप्रेल 345 244
18 अप्रेल 306 187
19 अप्रेल 297 180
20 अप्रेल 354 227
21 अप्रेल 151 175
पीएम 2.5 का मानक स्तर 60 माइक्रोन और पीएम 10 का मानक 100 माइक्रोन है
घरों तक पहुंची काली राख

नरवाई जलाने से खेतों से कालिख रूपी राख उड़कर रहवासी क्षेत्रों में पहुंच रही है। कचरे के साथ प्रदूषण की मात्रा बढ़ रही है। ग्रहिणियों का कहना है कि हवा में उड़कर आने वाली राख से घर की दीवारें काली हो गई हैं, वहीं दिन में तीन-चार बार झाडू लगाने के बाद भी स्थिति जस की तस रहती है।
29 मार्च को जारी हुआ था आदेश

गेहूं की फसल कटाई के बाद नरवाई जलाने पर प्रतिबंध के आदेश कलेक्टर ने जारी कर किसानों को हिदायत दी थी कि यह न केवल कृषि भूमि के लिए हानिकारक है बल्कि इससे वायु भी प्रदूषित होती है। पर्यावरण क्षतिपूर्ति के खिलाफ कार्रवाई का अधिकार राजस्व अधिकारियों के साथ ही कृषि, उद्यानिकी व पुलिस अधिकारियों को भी है। यह आदेश 29 मार्च को जारी किया था, लेकिन आज तक न तो कोई केस दर्ज किया गया और न कार्रवाई हुई।
दंड का भी प्रावधान

प्रतिबंधात्मक आदेश में कलेक्टर ने दंड का भी उल्लेख किया है, जिसमें 2 एकड़ से कम भूमि पर 2500 रुपए, 2 से अधिक, लेकिन 5 एकड़ से कम भूमि वाले किसानों पर 5 हजार रुपए, 5 एकड़ से अधिक भूमि वाले किसानों से 15 हजार रुपए पर्यावरण क्षतिपूर्ति राशि वसूल की जाएगी।
नरवाई जलाने से ये भी नुकसान

खेतों में फसल कटाई के बाद बचे अवशेष जलाने से -

1. भूमि कठोर हो जाती है, जिससे जमीन की जलधारण क्षमता कमजोर हो जाती है। इससे फसलें सूख जाती हैं।
2. जमीन में उपलब्ध जैव विविधता समाप्त हो जाती है।

3. पर्यावरण प्रदूषित होने से वातावरण में तापमान बढ़ता है। इससे धरती गर्म होती है।

4. भूमि में उपस्थित सूक्ष्म जीव जलकर नष्ट हो जाते हैं, जिससे जैविक खाद का निर्माण बंद हो जाता है।
5. नरवाई जलाने से उत्पन्न कार्बन के कारण नाइट्रोजन तथा फास्फोरस का अनुपात कम हो जाता है।

6. कृषि भूमि में बैठे केंचुए नष्ट हो जाते हैं, जिससे कृषि भूमि की उर्वरा शक्ति कम हो जाती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

भीषण गर्मी : देश में 140 में से 60 बड़े बांधों का पानी घटा, राजस्थान के भी तीन बांधमंकीपॉक्स पर WHO की आपात बैठक में अहम खुलासा: यूरोप में अब तक 100 से अधिक मामलों की पुष्टि, जानिए 10 अपडेटJNU कैंपस में एमसीए की छात्रा से रेप, आरोपी छात्र गिरफ्तारकैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीमाता वैष्णो देवी के प्रमुख पुजारी अमीर चंद का निधन, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल सहित कई नेताओं ने जताया दुखज्ञानवापी मस्जिद केसः प्रोफेसर रतन लाल की गिरफ्तारी पर हंगामा, DU में छात्रों का प्रदर्शन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.