INDIAN RAILWAY: मध्यप्रदेश के दौरे पर आ रहे हैं रेल मंत्री, देने वाले हैं ये सौगातें

INDIAN RAILWAY: मध्यप्रदेश के दौरे पर आ रहे हैं रेल मंत्री, देने वाले हैं ये सौगातें

Manish Gite | Publish: Mar, 14 2018 12:27:34 PM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

रेल मंत्री पीयूष गोयल मध्यप्रदेश दौरे पर आ रहे हैं। वे 22 किलोमीटर लंबी रेल परियोजना का भूमिपूजन करेंगे। इस परियोजना के के पूरा होते ही...।

 

उज्जैन/रतलाम। रेल मंत्री पीयूष गोयल मध्यप्रदेश दौरे पर आ रहे हैं। वे 22 किलोमीटर लंबी रेल परियोजना का भूमिपूजन करेंगे। इस परियोजना के के पूरा होते ही इंदौर और उज्जैन की दूरी कम हो जाएगी। उज्जैन में होने वाले इस कार्यक्रम में गोयल मध्यप्रदेश के लिए अनेक सौगातें भी दे सकते हैं।

 

मध्यप्रदेश के उज्जैन में 17 मार्च को दोपहर में रेल मंत्री पीयूष गोयल पहुंच रहे हैं। वे रतलाम रेल मंडल के अंतर्गत आने वाले उज्जैन-फतेहाबाद के बीच बनने वाले गेज कन्वर्जन का औपचारिक शुभारंभ करेंगे। यह ट्रैग 2019 तक बनकर तैयार हो जाएगा। रेल मंत्रालय से कार्यक्रम की तारीख फाइनल होने के बाद रेलवे ने तैयारी शुरू कर दी है। इस बीच मध्यप्रदेश के जबलपुर, भोपाल और रतलाम मंडल समेत इंदौर-उज्जैन के बड़े रेलवे अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

 

इंदौर भी जाएंगे रेल मंत्री

उज्जैन के सांसद चिंतामणि मालवीय के मुताबिक रेल मंत्री का कार्यक्रम उज्जैन रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नं. 8 पर रहेगा। इसके साथ ही वे इंदौर के कार्यक्रमों में भी शामिल होने जाएंगे। इस आयोजन में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, लोकसभा अध्यक्ष एवं इंदौर सांसद सुमित्रा महाजन भी शामिल हो सकती हैं।

railway minister piyush goyal

10 किमी कम हो जाएगी इंदौर-उज्जैन की दूरी
22 किलोमीटर का ट्रैक ब्राडगेज हो जाने से इंदौर और उज्जैन की दूरी कम हो जाएगी। अभी इंदौर से चलने वाली ट्रेनें देवास के रास्ते उज्जैन पहुंचती है, इसलिए उसे 79 किलोमीटर की दूरी तय करना पड़ता है। उज्जैन से फतेहबाद होते हुए इंदौर की दूरी 69 किलोमीटर हो जाएगी। इससे यात्रियों का समय भी बचेगा।

 

 

railway minister piyush goyal

इन गांवों को भी होगा फायदा
उज्जैन से फतेहाबाद ? के बीच मीटर गेज है। इसी रेलवे लाइन को ब्रॉड गेज में कन्वर्ट करने का काम शुरू होने वाला है। इसके साथ ही विद्युत लाइन भी हो जाएगी। इस ट्रैक पर भी तेज गति से ट्रेन चलने से कम समय में यात्रा की जा सकेगी। इस रूट पर जवासिया, हासामपुरा, बिंद्राज, खेड़ा, गोंदिया, लिंबा पिपल्या, लेकोड़ा, राणाबड़, कांकरिया, चिराखान, शिवपुरा खेड़ा, रालामंडल, बालरिया, तालोद, उमरिया, टंकारिया, धर्माट गांवों के लोगों को सुविधा मिलेगी।

 

 

railway minister piyush goyal

परियोजना एक नजर में
-17 मार्च को दोपहर दो बजे उज्जैन में होगा भूमिपूजन।
-22.96 किमी लंबी रेल परियोजना।
-245 करोड़ रुपए की आएगी लागत।
-104.82 करोड़ रुपए बजट में चुके हैं मंजूर।
-2 रेलवे स्टेशन बनाए जाएंगे। उज्जैन से लगे चिंतामण और लेकोड़ा नए स्टेशन बनेंगे।
-3.59 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण हो चुका है।
-26 पुल और पुलिया के लिए चार साल पहले आमान परिवर्तन की योजना बनी थी।
-उज्जैन से फतेहबाद के बीच 26 छोटे, तीन बड़े पुल पुलिया बनेंगे।
-दो लेवल क्रॉसिंग गेट रहेंगे। पांच लिमिटेड हाईट सब-वे।

Ad Block is Banned