115 संतों के चरण पडऩे से धन्य हुई धरा

संत आचार्य भगवन्त गच्छाधिपति श्री राजशेखर सूरिश्वर महाराज की अगवानी जिन शासन के जयकारों के साथ समाजजनों ने की।

By: Lalit Saxena

Published: 13 Mar 2018, 07:44 PM IST

बडऩगर पत्रिका. धरा उस समय धन्य हो गई जब एक सौ पन्द्रह जैन साधु-साध्वी के चरण नगर की रज पर पड़े। सादगीपूर्ण निकले चल समारोह में सैकड़ों की संख्या में महिला-पुरुष शामिल हुए। संत आचार्य भगवन्त गच्छाधिपति श्री राजशेखर सूरिश्वर महाराज की अगवानी जिन शासन के जयकारों के साथ समाजजनों ने की।
श्री आदिनाथ जैन श्वेताम्बर बड़ा मंदिर ट्रस्ट एवं श्रीसंघ की भावभरी विनती पर पूज्य गच्छाधिपति अपने संघ के साथ सुबह 7.30 बजे संगम चौराहे से नगर प्रवेश कर आदिनाथ आराधना भवन पहुंचे। इसके बाद सकल श्वेताम्बर जैन समाज एवं आगन्तुकों की नवकारसी राजेन्द्र सुरि जैन भवन में हुई। जनसमुदाय को प्रवचन देते हुए गच्छाधिपति राजशेखर सूरिश्वर मसा ने कहा कि मनुष्य जीवन एक ऐसे वृक्ष की तरह है जो हमे छ: फल प्रदान करता है। जिसमें जिनेन्द्र पूजा, गुरु भक्ति, गुणानुवाद, प्राणी मात्र के प्रति दया की भावना प्रमुख है। प्रवचन पश्चात जिन मंदिर की चतुर्विध संघ की चैत्य परिपाटी निकली।
फाग उत्सव का आयोजन आज
तराना ञ्च पत्रिका. सर्व ब्राह्मण समाज महिला मंडल तराना द्वारा फाग उत्सव का आयोजन दिनांक मंगलवार दोपहर ३ बजे मानस भवन तराना में रखा गया है जिसमें महिलाओं द्वारा फूलों की होली खेलकर भजन-कीर्तन किए जाएंगे। सर्व ब्राह्माण समाज महिला अध्यक्ष वंदना सनोठिया ने बताया कि प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष भी दिनांक १९ मार्च को गणगौर फूलपाती का आयोजन किया जा रहा है जिसमें समस्त महिला मंडल से अपील की है कि इस अवसर पर अधिक से अधिक संख्या में महिलाएं उपस्थित हो।
रांका नवकार ग्रुप अध्यक्ष मनोनीत
नागदा ञ्च पत्रिका. आलोट क्षेेत्र की पूर्व भाजपा महिला मंडल अध्यक्ष अंजु रांका को नवकार भाई ग्रुप का अध्यक्ष मनोनीत किया गया। सहयोगी संतोष नाहटा ने बताया कि सोमवार शाम 4 बजे आलोट पहुंचकर जीवदया एवं मानव सेवा के उद्देश्य को लेकर नवकार ग्रुप का विधिवत गठन किया गया। जिसमें संस्थापक संचालक राजेश सकलेचा, जितेंद्र बांठिया, सचिन भंडारी, पुष्पा सेठिया, अनिल रांका, सौरभ चत्तर, संजय सिंदुरिया, शैलेष चत्तर आदि के मार्गदर्शन में अध्यक्ष मनोनयन किया गया। अध्यक्ष मनोनयन के बाद जल्द ही कार्यकारिणी का गठन किया जाएगा।

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned