यह है मेरे सांई की सोच... आरक्षण, जातिवाद की जगह देश के विषय में सोचना चाहिए

यह है मेरे सांई की सोच... आरक्षण, जातिवाद की जगह देश के विषय में सोचना चाहिए

Gopal Swaroop Bajpai | Publish: Sep, 08 2018 11:50:42 AM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

धारावाहिक मेरे साईं के अबीर पहुंचे उज्जैन : बाबा महाकाल भस्म आरती

उज्जैन. टीवी धारावाहिक मेरे साईं में साईं बाबा का किरदार निभाने वाले अबीर सूफी शुक्रवार को उज्जैन पहुंचे। वह शनिवार सुबह बाबा महाकाल की भस्मरआरती में शामिल होंगे। उन्होंने अलखनाथ स्थित उनके मित्र के निवास पर मीडिया से चर्चा की। इस दौरान उन्होंने साईंबाबा के किरदार के साथ देश की वर्तमान परिस्थिति पर भी बेबाकी से अपनी राय रखी। उनका कहना था कि संत कोई जाति, धर्म का नहीं होता है। साईं बाबा आज विश्व में विख्यात है। उन्होंने लोगों के मदद की। लोगों के दुख दूर किए। आज जाति और धर्म के नाम पर विवाद हो रहे हैं। ऐसी समस्याओं का एक ही समाधान है कि लोगों को इन सब से ऊपर उठकर देशहित में सोचना चाहिए। उनका कहना था कि कानून कोई भी बुरा नहीं है, लेकिन समस्या कानून के दुरुपयोग के साथ होती है।

साईं बाबा समझ सम्मान देते हैं लोग

अबीर का कहना है कि साईं बाबा के प्रति लोगों की आस्था है। वह धारावाहिक में साईंबाबा का किरदार निभा रहे हैं। कई बार लोग उन्हें ही साईं बाबा का सम्मान दे देते हैं, लेकिन वह उनकी भावनाओं का सम्मान कर समझा देते हैं कि वह साईंबाबा नहीं है।

सिविल सर्विस की जगह पहुंचे एक्टिंग में

सिविल सर्विस की तैयारी कर रहे अबीर को नाट्य में अवसर मिला। इसके बाद उन्होंने पढ़ाई के साथ नाट्य कोर्स किया। इसके करने के बाद वह मुम्बई पहुंचे। वे पलटन, धरती की गोद में, नारायण-नारायण जैसे धारवाहिक में किरदार निभा चुके है। उन्हें कई अन्य धारावाहिक और फिल्म के लिए ऑफर मिले, लेकिन वह साईंबाबा को अभी नहीं छोडऩा चाहते हैं।

बाबा महाकाल के दर्शन किए
अबिर शनिवार को सुबह बाबा भस्मार्ती के लिए पहुंचे। उन्होंने बताया कि लंबे समय से बाबा महाकाल के दर्शन के लिए आना चाह रहे थे, लेकिन शूटिंग के व्यस्तता के चलते ऐसा नहीं हो पा रहा है। उन्हें एक दिन का अवकाश मिला। तो सीधे बाबा के दरबार में आ गए।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned