वेतन विसंगति के लिए इन्होंने की गांधीगीरी, तो डाक कर्मियों ने निकाली रैली

लोक अभियोजन संघ ने वेतन विसंगति दूर करने के लिए किया विरोध प्रदर्शन, ग्रामीण डाक कर्मचारियों ने रैली निकाल किया विरोध

By: Gopal Bajpai

Published: 18 Aug 2017, 08:27 PM IST

उज्जैन। वेतन विसंगति मांगो को लेकर बीते २७ दिनों से न्यायालय लोक अभियोजक काली पट्टी बांध कर विरोध प्रदर्शन कर रहे है। लेकिन कोई निराकरण नहीं निकल रहा है। इसी क्रम में शुक्रवार सुबह लोक अभियोजको ने क्षीर सागर स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा को पुष्प अर्पित कर सद्बुद्धि दिए जाने की प्रार्थना की।

वेतन विसंगति दूर करने के लिए न्यायालय के शासकीय लोक अभियोजक लंबे समय मांग कर रहे है। लोक अभियोजक अमेय तोमर ने बताया कि लोक अभियोजक अधिकारी शासन की द्वितीय ग्रेड श्रेणी में आते है। बावजूद बीते ३० वर्षाे से उनका वेतन जस का तस है। उन्हें १९८६ का ही वेतन दिया जा रहा है। जो कि बेहद कम है। जिसके चलते लोक अभियोजको की आर्थिक स्थिति बेहद दयनीय है। इसी वेतन संगति को दूर करने के लिए प्रदेशभर के लोक अभियोजक बीते २७ दिनों से काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन कर रहे है। लेकिन शासन उनकी मांगो पर ध्यान नहीं दे रही है। जिसके चलते शुक्रवार को महात्मा गांधी से शासन को सद्बुद्धि देने की प्रार्थना की है। यदि शासन उनकी मांगो पर निर्णय नहीं लेती है तो वे प्रदेशव्यापी हड़ताल करेंगे। जिसके चलते वे कार्य से विरत्त रहेंगे। जिसकी पूरी जिम्मेदारी शासन की होगी। वेतन विसंगति दूर करने के लिए न्यायालय के शासकीय लोक अभियोजक लंबे समय मांग कर रहे है। लोक अभियोजक अमेय तोमर ने बताया कि लोक अभियोजक अधिकारी शासन की द्वितीय ग्रेड श्रेणी में आते है। 

ग्रामीण डाक कर्मचारियों ने रैली निकाल किया विरोध

अखिल भारतीय ग्रामीण डाक कर्मचारी संघ के बैनर तले छह सूत्रीय मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल के अंतर्गत शुक्रवार को रैली निकाली गई। ग्रामीण डाक कर्मचारियों की रैली दोपहर १२ बजे देवास गेट कार्यालय से शुरू हुई। कर्मचारी पैदल मार्च करते हुए टावर चौक, माधव नगर अस्पताल होते हुए राजस्व कॉलोनी स्थित प्रवर अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय संचार मंत्री के नाम प्रवर अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा गया। रैली में संघ के मालवा संभाग के अध्यक्ष बजरंग दास बैरागी, सचिव बहादुर सिंह चौहान सहित सैकड़ों कर्मचारी उपस्थित रहे।

Gopal Bajpai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned