बलिदान दिवस : वो तीनों परिंदे क्या उड़े, सारा आसमां रो पड़ा...

बलिदान दिवस : वो तीनों परिंदे क्या उड़े, सारा आसमां रो पड़ा...
Holi,sacrifice day,Tribute to Martyrs,patriotic songs,

Lalit Saxena | Updated: 25 Mar 2019, 12:18:09 PM (IST) Ujjain, Ujjain, Madhya Pradesh, India

रंगपंचमी की पूर्व संध्या पर अभिव्यक्ति मंच द्वारा शहीद भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरू के बलिदान को याद कर नमन किया गया, साथ ही होली महोत्सव भी मनाया।

उज्जैन. वो तीनों परिंदे क्या उड़े, सारा आसमां रो पड़ा, वो तीनों तो हंस रहे थे, मगर सारा हिंदुस्तान रो पड़ा। उक्त पंक्तियां रविवार रात शहीद पार्क स्थित अभिव्यक्ति मंच से नन्हीं प्रतिभाओं ने व्यक्त की। रंगपंचमी की पूर्व संध्या पर आयोजित कार्यक्रम में शहीद पार्क में अभिव्यक्ति मंच द्वारा शहीद भगत सिंह, सुखदेव राजगुरू के बलिदान को याद कर नमन किया गया साथ ही होली महोत्सव भी मनाया गया।

रंगपंचमी की पूर्व संध्या पर रंगोत्सव पर्व
संयोजक राजेश अग्रवाल के अनुसार अभिव्यक्ति मंच द्वारा रंगपंचमी की पूर्व संध्या पर रंगोत्सव पर्व पर फूल और गुलाल से होली मिलन समारोह भी उत्साह और आनंद के साथ मनाया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में बच्चों, युवाओं और महिलाओं ने सहभागिता की। कार्यक्रम में देशभक्ति व होली के प्रसंग पर अपनी बात व्यक्त की। कार्यक्रम में बलिदान दिवस पर मुख्य वक्ता विजय अग्रवाल ने शहीद भगतसिंह, सुखदेव, राजगुरु के जीवन के महत्वपूर्ण कार्यों पर प्रकाश डाला। मंच के होली मिलन समारोह में नरेन्द्र खंडेलवाल, रमेशसिंह सिसौदिया, हितेश काले, कैलाश काबरा, गौरव बाफना, अमित गर्ग, विक्रम चित्तौड़ा, हेमंत गुप्ता, दीपक जैन, मनोज पारीख, दर्पण खंडेलवाल, पंकज शर्मा, परी जैन, मुकेश परमार, सोहन सुखवानी, श्रीनाथ चौधरी, संतोष तंवर, दिनेश फूलवानी, विनय जैन, रवींद्रसिंह चौहान, धर्मेन्द्र सेठी आदि उपस्थित रहे। मंच पर गार्गी परमार, परिणी जैन, सौम्या मलिक, दिशानी भार्गव, तनिष्क नागर, मानसी उपाध्याय, श्रीनाथ चौधरी, शैली पांचाल आदि ने देशभक्ति और होली के संयुक्त प्रसंग पर बच्चों और युवाओं ने प्रस्तुतियां देकर मंच की गरिमा बढ़ाई एवं भारतीय सेना के जवानों का हौसला बढ़ाने वाली रचनाएं प्रस्तुत की। राजेश अग्रवाल के अनुसार अभिव्यक्ति परिवार द्वारा इस वर्ष का होली उत्सव पुलवामा में शहीद सीआरपीएफ के शहीद जवानों को समर्पित रहा। विजय अग्रवाल ने संबोधित करते हुए कहा कि सारा देश 23 मार्च को शहादत दिवस के रूप में हर्ष से मनाता है। 23 मार्च 1931 के अंग्रेजी हुकूमत द्वारा तीनों क्रांतिकारियों को एक ही समय फांसी दी गई, जिससे देशभर में आजादी की ज्वाला और तेजी से फैल गई। इन तीनों बहादुर जवानों ने मात्र 22 वर्ष की उम्र में ब्रिटिश शासन को भारत छोडऩे के लिए सबसे अधिक प्रहार बड़ी बहादुरी के साथ किए।

बलिदान दिवस पर शहीदों को किया याद
साहित्यिक व सांस्कृतिक संस्था निर्झर की ओर से सरदार भगतसिंह, सुखदेव व राजगुरु के बलिदान दिवस के अवसर कृष्णा पार्क में संस्था अध्यक्ष डॉ. राजेश ठाकुर निर्झर की अध्यक्षता में सभा आयोजित की। इसमें तीनों शहीदों को नमन कर राष्ट्री की एकता व अखंडता का संकल्प लिया। इस दौरान संस्था उपाध्यक्ष नारायण मंघवानी, बीएल चौहान, महेश शर्मा, प्रतिभा सुषमा विश्वकर्मा, पूजा शर्मा सहित अन्य मौजूद थे।

परशुराम सेना पदाधिकारियों का सम्मान
राष्ट्रीय परशुराम सेना का जिला सम्मेलन आयोजित किया गया। राष्ट्रीय परशुराम सेना के प्रदेश एवं जिले के पदाधिकारियों को नियुक्ति पत्र देने के साथ सम्मानित किया गया। अभा ब्राह्मण समाज के अध्यक्ष सुरेंद्र चतुर्वेदी, मारू जोधपुरा ब्राह्मण समाज के अध्यक्ष मोहनलाल शर्मा, परशुराम सेना के संगठन मंत्री विनोद शर्मा, शैलेंद्र द्विवेदी, आकाश आजाद तिवारी, राजेंद्र शर्मा ने पदाधिकारियों का स्वागत किया। इस अवसर पर ज्योतिष शर्मा, सीताराम शर्मा, संजय शर्मा, जितेंद्र शर्मा, गणेश शर्मा,पंकज शर्मा, लखन शर्मा, अर्जुन शर्मा, राहुल शर्मा, लखन शर्मा, गोपाल शर्मा, गोविंद शर्मा, श्याम शर्मा आदि मौजूद थे। संचालन अर्जुन शर्मा ने किया। आभार विनोद शर्मा ने माना।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned