Video>>अनूठा उपाय: सांप भी बच गया और पूजन भी हो गई...

 Video>>अनूठा उपाय: सांप भी बच गया और पूजन भी हो गई...
Serve nag from outside the box

Lalit Saxena | Updated: 28 Jul 2017, 09:48:00 PM (IST) ujjain

सांप को प्लास्टिक के डिब्बे में रखा गया। लोगों ने डिब्बे के बाहर से ही नाग का पूजन किया। इससे सांप को किसी प्रकार का नुकसान भी नहीं हुआ और जनता की भावनाएं भी पूरी हो गईं।

उज्जैन. नागपंचमी पर सभी लोग नाग देवता की पूजा करते हैं। उन्हें सिंदूर और दूध चढ़ाया जाता है, जिससे नाग का जीवन खतरे में पड़ जाता है। इस बार सरीसर्प अनुसंधान में अनूठा उपाय किया गया, जिससे सांप भी बच गया और पूजन भी हो गई। 

डिब्बे में बंद किया
नागदेव का पूजन के लिए कई आस्थावान शुक्रवार को बसंत विहार स्थित सरीसर्प अनुसंधान केंद्र पहुंचे। लोगों की आस्था को देखते हुए यहां विशेष व्यवस्था की गई। सांप को प्लास्टिक के डिब्बे में रखा गया। लोगों ने डिब्बे के बाहर से ही नाग का पूजन किया। इससे सांप को किसी प्रकार का नुकसान भी नहीं हुआ और जनता की भावनाएं भी पूरी हो गईं।





सपेरों पर लगाई थी रोक
वन विभाग व प्रशासन ने सपेरे द्वारा नाग को बंदी बनाकर पूजन के लिए घर-घर ले जाने पर रोक लगा रखी है। कार्रवाई के डर से कई क्षेत्रों में सपेरे सांप लेकर नहीं निकले। इधर शहरवासियों को पूजन के लिए सर्प नहीं मिले। ऐसे में कई लोग पूजन के लिए सरीसर्प अनुसंधान संगठन पहुंचे। आस्थावानों की मांग पर यहां पूजन के लिए एक डिब्बे में सांप को रखा गया। लोगों ने डब्बे के बाहर से पूजन किया। संगठन से जुड़े गौरव धबाड़े ने बताया, पूजन के बाद लोगों को दूर से सर्प के दर्शन कराए गए।
Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned