scriptShanishchari Amavasya in Ujjain | उज्जैन में शनिश्चरी अमावस्या पर उमड़ेगा आस्था का सैलाब | Patrika News

उज्जैन में शनिश्चरी अमावस्या पर उमड़ेगा आस्था का सैलाब

बारिश और महामारी का संकट प्रशासन के लिए बना सिरदर्द, तैयारी-व्यवस्थाओं में जुटा अमला

उज्जैन

Published: December 02, 2021 06:32:15 pm

उज्जैन. धार्मिक नगरी उज्जैन में शनिश्चरी अमावस्या का पर्व 4 दिसंबर को मनाया जाएगा। इसके लिए अभी से तैयारियां शुरू हो गई हैं। इस बार दो वर्ष बाद श्रद्धालुओं को पर्व स्नान व दर्शन करने की इजाजत मिली है, लेकिन कोरोना के नए वैरिएंट तथा लगातार हो रही बारिश, खराब मौसम ने प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है। बारिश और महामारी का संकट सिरदर्द बन रहा है। ऐसे में प्रशासनिक अधिकारी भी त्रिवेणी संगम पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे हैं और आवश्यक दिशा-निर्देश जारी कर रहे हैं।

Shanishchari Amavasya in Ujjain
बारिश और महामारी का संकट प्रशासन के लिए बना सिरदर्द, तैयारी-व्यवस्थाओं में जुटा अमला

कलेक्टर आशीष सिंह एवं एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने गुरुवार को बारिश में ही सुबह 11.30 बजे त्रिवेणी मंदिर के विभिन्न घाटों का निरीक्षण किया एवं शनिश्चरी अमावस्या के लिए की जा रही तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने बैरिकेडिंग, पॉर्किंग, प्रवेश व निर्गम व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। शनिश्चरी अमावस्या 4 दिसंबर को है। इस अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु त्रिवेणी के नवग्रह मन्दिर पर एकत्रित होंगे एवं स्नान पूजन करेंगे। एडीएम संतोष टैगोर एवं एएसपी अमरेंद्र सिंह ने अन्य अधिकारियों के साथ त्रिवेणी शनि मन्दिर पर की जाने वाली व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया एवं दिशा-निर्देश दिए। इस अवसर पर संयुक्त कलेक्टर कल्याणी पांडेय, एसडीएम गोविंद दुबे सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

ये दिए आवश्यक निर्देश
- बैरिकेडिंग आदि की व्यवस्था की जाए, जगह-जगह होल्डअप लगाए जाएं।
- महिलाओं के स्नान पश्चात चेंजिंग रूम की व्यवस्था की जाए।
- प्रवेश एवं निर्गम की व्यवस्था सुगम होना चाहिए।
- घाटों की साफ-सफाई, मिट्टी की गाद को निकाला जाए।
- अमावस्या स्नान पर्व की वीडियो रिकॉर्डिंग भी कराई जाए।
- मन्दिर के सामने लगी दुकानों के मालिकों को कहा है कि दुकान के बाहर सामान आदि न रखें, अन्यथा उनके विरुद्ध कार्रवाई होगी।
- अलग-अलग स्थानों पर पीए सिस्टम लगाए जाएं। साथ ही नगर सेना, तैराकी दलों को तैनात किया जाए। जगह-जगह फ्लेक्स लगाएं, विद्युत व्यवस्था, लाइफ बोट्स, तैराकों की तैनाती व अन्य सुरक्षा व्यवस्था के भी निर्देश दिए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: आज इंडिया गेट पर सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का PM Modi करेंगे लोकार्पणCovid-19 Update: भारत में कोरोना के 3.37 लाख नए मामले, मौत के आंकड़ों ने तोड़े सारे रिकॉर्डUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारU19 World Cup: कौन है 19 साल का लड़का Raj Bawa? जिसने शिखर धवन को पछाड़ रचा इतिहासSubhash Chandra Bose Jayanti 2022: पढ़ें नेताजी सुभाष चंद्र बोस के 10 जोशीले अनमोल विचारCG-महाराष्ट्र सीमा पर चेकिंग में लगे पुलिस जवानों से मारपीट, कोरोना जांच पूछा तो गाली देते हुए वाहन सवार टूट पड़े कांस्टेबल परसरकार का बड़ा फैसला, नई नीति में आमजन व किसानों को टोल टैक्स से छूटछत्तीसगढ़ में 24 घंटे में 11 कोरोना मरीजों की मौत, दुर्ग में सबसे ज्यादा 4 संक्रमितों की सांसें थमी, ज्यादातार वे जिन्होंने वैक्सीन नहीं लगाया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.