शिव नवरात्रि: भगवान महाकाल ने धारण किया होल्कर मुघौटा

Ujjain News: शिव नवरात्रि के पांचवे दिन सोमवार को सायं पूजन के बाद बाबा महाकाल ने होल्कर मुघौटा धारण कर भक्तों को दर्शन दिए।

By: Lalit Saxena

Published: 18 Feb 2020, 07:09 AM IST

उज्जैन। शिव नवरात्रि के पांचवे दिन सोमवार को सायं पूजन के बाद बाबा महाकाल ने होल्कर मुघौटा धारण कर भक्तों को दर्शन दिए। शासकीय पुजारी घनश्याम शर्मा के आचार्यत्व में 11 ब्राह्मणों द्वारा भगवान का अभिषेक एकादश-एकादशनी रूद्रपाठ किया गया। सायं पूजन के बाद भगवान महाकाल को नवीन वस्त्र, मेखला, दुपट्टा, मुकुट, छत्र, मुण्डमाला एवं फलों की माला धारण कराई गई। 18 फरवरी को भगवान महाकाल मनमहेश स्वरूप में दर्शन देंगे।

महाशिवत्रि की व्यवस्थाओं पर अधिकारियों ने किया मंथन
महाशिवरात्रि पर्व की व्यवस्थाओं के लिए जिला, मंदिर एवं पुलिस प्रशासन ने पुन: मंथन किया। सोमवार को प्रवचन हॉल में व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में संभागायुक्त अजीत कुमार, आईजी राकेश गुप्ता ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक लेकर ड्यूटीरत अधिकारी-कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस मौके पर नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग, विद्युत विभाग, लोक निर्माण विभाग, खाद्य एवं औषधि विभाग के अधिकारियों को जरूरी निर्देशों का पालन करने की हिदायत दी। प्रशासक एसएस रावत ने विभिन्न विभागों को अलग-अलग सौंपी गई दर्शन व्यवस्था के बारे में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में एसपी सचिन अतुलकर, डॉ. आरपी तिवारी, अपर कलेक्टर बिदिशा मुखर्जी, जीएस डाबर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी-कर्मचारी आदि उपस्थित थे।

महाकाल मंदिर के सेवकों के वेतन में 20 प्रतिशत वृद्धि
महाकाल मंदिर समिति द्वारा नियुक्त सेवकों के वेतन में 20 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। वेतन वृद्धि के संबंध में प्रशासक रावत ने समिति सदस्य विजयशंकर पुजारी, आशीष शर्मा तथा दीपक मित्तल आदि से चर्चा उपरांत यह निर्णय लिया। वेतन वृद्धि का लाभ जनवरी में मिल चुका है। सेवकों में खुशी की लहर है। अन्नक्षेत्र तथा धर्मशाला के सेवकों ने कुछ राशि एकत्रित कर श्रद्धालुओं को भोजन प्रसादी कराई। साथ ही उनके द्वारा सम्मान समारोह आयोजित किया गया। इस अवसर पर पूर्व प्रशासक जयंत जोशी, पुष्पेन्द्र अहके, मूलचन्द जूनवाल, सीएस जोशी, आरके तिवारी, रूबी यादव आदि उपस्थित थे। संचालन डॉ. पीयूष त्रिपाठी ने किया। आभार अन्नक्षेत्र प्रभारी रमेश निंबालकर ने माना।

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned