Solar Eclipses 2019: साल का आखिरी सूर्यग्रहण रहेगा 26 दिसंबर को, राशियां होंगी प्रभावित

Ujjain News: साल का आखिरी सूर्यग्रहण इस बार 26 दिसंबर को होने जा रहा है। ऐसा नजारा लगभग 150 साल बाद दिखाई देगा।

By: Lalit Saxena

Published: 27 Nov 2019, 01:21 PM IST

उज्जैन. साल का आखिरी सूर्यग्रहण इस बार 26 दिसंबर को होने जा रहा है। ऐसा नजारा लगभग 150 साल बाद दिखाई देगा। ज्योतिषों के अनुसार इस बार जो ग्रहण रहेगा, उसका आकार कंकण आकृति के समान रहेगा। खास बात यह है कि सूर्यग्रहण उज्जैन में भी दिखेगा। साथ ही बारह राशियां इससे प्रभावित होंगी।

2 घंटे 50 मिनट की रहेगी अवधि
ज्योतिर्विद पं. आनंदशंकर व्यास के अनुसार करीब 150 साल के बाद 26 दिसंबर को सूर्यग्रहण कंकण आकृति वाला दिखाई देगा। ग्रहण सुबह 8 बजकर 8 मिनट पर शुरू होगा। सुबह 9.26 पर इसका मध्य काल रहेगा तथा सुबह 10.58 बजे ग्रहण का मोक्ष होगा। ग्रहण की कुल अवधि 2 घंटे 50 मिनट की रहेगी। करीब 65 फीसदी ग्रस्तोदित होने से सूर्य के आसपास कंकण जैसी आकृति नजर आएगी।

धनु राशि में चार ग्रहों की मौजूदगी रहेगी
ज्योतिषाचार्य पं. श्यामनारायण व्यास ने बताया पंचागीय गणना के अनुसार पौषमास की मौनी अमावस्या पर मूल नक्षत्र, वृद्धि योग, नागकरण की साक्षी में कंकण आकृति का सूर्य ग्रहण होगा। धनु राशि पर होने वाले ग्रहण में चार ग्रह मौजूद रहेंगे। खास बात यह है कि सूर्य के साथ अन्य ग्रहों में देवगुरु बृहस्पति भी शामिल हैं। ग्रहणकाल के दौरान बृहस्पति 10 अंश 27 कला पर विराजमान रहेंगे तथा केंद्र योग बनाएंगे। यह स्थिति ग्रहण में गुरु की प्रधानता तथा केंद्र योग व वर्गोत्तम की स्थिति बनाती है। गुरु की 5वीं, 7वीं तथा 9वीं दृष्टि से सूर्य ग्रहण का प्रभाव 80 प्रतिशत सकारात्मक होगा।

इन राशियों के लिए श्रेष्ठ फलदायी
26 दिसंबर को होने वाले सूर्यग्रहण का असर विभिन्न राशियों पर अलग-अलग रहेगा। कर्क, तुला, कुंभ व मीन के लिए ग्रहण श्रेष्ठ फलदायी है। मेष, मिथुन, सिंह तथा वृश्चिक के लिए मध्यम रहेगा। वृषभ, कन्या तथा मकर के लिए पूजनीय है। बताया जा रहा है कि ग्रहण धनु राशि में है, इसलिए इस राशि के जातकों को विशेष सावधानी की आवश्यकता है। इनके लिए ग्रहण के दौरान देव आराधना विशेष मानी गई है। इस सूर्य ग्रहण को इसलिए भी विशेष माना जा रहा है कि यह युति व दृष्टि संबंध से आच्छादित है। धनु राशि पर क्रमश: सूर्य, चंद्र, गुरु, शनि व केतु इन पांच ग्रहों का युति संबंध रहेगा। इसका प्रभाव 7वीं दृष्टि से मिथुन राशि में गोचरस्थ राहु पर बनेगा।

सूर्यग्रहण के रूप में होगी सुंदर खगोलीय घटना
उज्जैन में स्थापित अतिप्राचीन जीवाजी वेधशाला के अधीक्षक डॉ. राजेंद्रप्रसाद गुप्त ने बताया 26 दिसंबर को सूर्य ग्रहण के रूप में सुंदर खगोलीय घटना होगी। उज्जैन में ग्रहण का नजारा दिखाई देगा, सावधानी बरतते हुए ग्रहण को देखा जा सकता है। ग्रहण देखने के लिए क्या सावधानी रखें, यह बताने के लिए वेधशाला की ओर से शहर के विभिन्न विद्यालयों में सेमिनार भी आयोजित होंगे। गुप्त ने बताया की सूर्य ग्रहण को सीधे देखना नुकसानदायक हो सकता है।

Show More
Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned