scriptThe investigation of the fast spreading Omicron was slow, not a single | तेजी से फैलने वाले ओमीक्रॉन की जांच ही धीमी, 22 दिन में एक भी रिपोर्ट नहीं आई | Patrika News

तेजी से फैलने वाले ओमीक्रॉन की जांच ही धीमी, 22 दिन में एक भी रिपोर्ट नहीं आई

देरी की यह स्थिति तब जब विदेश से लौटने वालों में 7 कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं, बाहर प्रदेशों से आने वाले भी हुए हैं संक्रमित

उज्जैन

Published: December 31, 2021 06:36:39 pm

उज्जैन. ओमिक्रॉन की पहचान को लेकर जिले की स्थिति ठीक नहीं है। जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए मरीजों के सैंपल भेजे 22 दिन हो चुके हैं, लेकिन अभी तक एक भी रिपोर्ट नहीं मिली है। ऐसे में आशंका है कि प्रशासन ओमिक्रॉन को फैलने से रोकने के इंतजाम करे, उससे पहले ही यह नया वैरिएंट अपना असर दिखा दे।

omicron.png

कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन तेजी से फैलता है बावजूद इसकी जांच रिपोर्ट में ही खासी देरी हो रही है। जिला कोरोना मुक्त होने के बाद 8 दिसंबर को वृद्ध दंपती कोरोना संक्रमित मिले थे। यह गुजरात में एक शादी में शामिल होकर लौटे थे। ओमिक्रॉन संक्रमण है या नहीं, इसकी जांच के लिए दंपती का सैंपल जीनोम सिक्‍लवेंसिंग के लिए दिल्‍ली भेजा गया था। इनके बाद अब तक 25 नए मरीज मिल चुके है और सभी के सैंपल जीनोम के लिए भेज गए हैं।

इसके बावजूद अभी तक ओमिक्रॉन को लेकर किसी भी मरीज की जांच रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई है। ऐसे में पड़ोसी जिले इंदौर में ओमिक्रॉन की दस्तक के बाद भी उज्जैन की स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी जानकार भी मानते हैं कि ओमिक्रॉन को लेकर जीनोम सीक्वेंसिंग की जांच रिपोर्ट में हो रही देरी, जिले के खतरा बन सकती है।

जिले में नया मरीज नहीं, एक डिस्चार्ज
उज्जैन जिले में गुरुवार को 1 हजार 751 सैंपल की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। अच्छी बात रही कि सभी रिपोर्ट कोरोना नेगेटिव पाई गई हैं। इसके अलावा एक मरीज के संक्रमण मुक्त होने पर डिस्चार्ज भी किया गया है। इसके बाद जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 20 हो गई है। वर्तमान में 7 मरीज अस्पताल में भर्ती है वहीं होम आइसोलेट हैं। बता दें कि जिले में अब तक कुल 19 हजार 127 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 18 हजार 936 लोग डिस्चार्ज किए जा चुके हैं वहीं 171 की मौत हो चुकी है।

विदेश से आने वालों में सात संक्रमित
अन्य देशों में बड़ी संख्या में ओमिक्रॉन के मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में विदेश से लौटने वालों को लेकर विशेष सतर्कता बरती जा रही है। एक महीने में करीब 200 लोग विदेश से लौटे हैं, जिनमें से 7 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनके अलावा विदेश से लौटी एक महिला की रिश्तेदार भी कांटेक्ट हिस्ट्री के बाद कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। इनके अलावा बिना लक्षण वाले कुछ लोग भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं, जिससे संक्रमण के साइलेंट फैलने की आशंका बनी है। इन सब स्थितियों के बाद भी ओमिक्रॉन की जांच को लेकर हो रही देरी, जिले के लिए ठीक नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेअब एसएसबी के 'ट्रैकर डॉग्स जुटे दरिंदों की तलाश में !सूर्य ने किया मकर राशि में प्रवेश, संक्रांति का विशेष पुण्यकाल आजParliament Budget session: 31 जनवरी से शुरू होगा संसद का बजट सत्र, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाArmy Day 2022: आज से नई लड़ाकू वर्दी में दिखेंगे हमारे जवान, सेना दिवस पर थलसेना प्रमुख लेंगे परेड की सलामीCDS बिपिन रावत के हेलीकॉप्टर हादसे की वजह आई सामने, वायुसेना ने दी जानकारीकोविड पॉजिटिव गर्भवती महिला के पेट में कोरोना से अधिक सुरक्षित है शिशु, जानिए कैसे महामारी के दौर में सुरक्षित रखें मां और बच्चे को
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.