बिजली कंपनी की लापरवाही अपने ही कर्मचारियों पर न पड़ जाए भारी

बिना सुरक्षा के पोल पर चढ़कर काम कर रहे कर्मचारी

By: Mukesh Malavat

Published: 19 Feb 2020, 11:59 PM IST

नागदा. बिजली कंपनी अपने कर्मचारियों की सुरक्षा पर ध्यान नहीं दे रहा है। बिजली कर्मी बिना सुरक्षा उपकरण के खंभे पर चढ़कर काम करते नजर आ रहे है। खास बात यह है कि ठेका कंपनियां भी बिजली सुधार कार्यों में सुरक्षा की अनदेखी करते आ रहे है, जिसको देखने वाला कोई नहीं है। ऐसा ही नजारा शहर के मुख्य बाजार महात्मा गांधी मार्ग पर बुधवार दोपहर को देखने को मिला।
दरअसल विद्युत कंपनी द्वारा इन दिनों शहर के मुख्य सड़कों पर विद्युत केबलों के मकडज़ाल को व्यवस्थित करने के लिए नवीन पोल लगाए जा रहे है। कंपनी का कहना है कि फूल डोल ग्यारस की झांकियां हो या फिर ताजियो या फिर कोई और धार्मिक जुलूस हर बार रोड क्रास करती घरेलू विद्युत कनेक्शन के लिए डाली गई केबल परेशानी कारण बनती है। इस समस्या से निजात पाने के लिए रोड के दूसरी ओर भी विद्युत पोल लगाऐ जा रहे है, ताकि बिना रोड क्रॉस करे व घरेलू कनेक्शन दिए जा सके। कंपनी ने पोल लगाने का काम ठेके पर दिया है, जिसके कर्मचारी सुरक्षा की अनदेखी कर रहे है। थोड़ी सी लापरवाही और चूक जानलेवा साबित हो सकती हैं। 30 से 40 फीट उंचाई पर काम करने के बाद भी अधिकांश कर्मचारी सेफ्टी बेल्ट या हेलमेट नहीं पहनते है और जब दुर्घटना होने पर कंपनी और ठेकेदार मामला दबा देते है। खास बात यह है विभाग द्वारा अधिकांश काम ठेके पर दिए जा रहे है, जहां पर सुरक्षा को लेकर कोई इंतजाम नहीं होते है, जिसके कारण काम करने वाले मजदूर और कर्मचारी कई बार गंभीर हादसे के शिकार हो जाते हैं।
बिना किसी सुरक्षा उपकरण के कर रहे काम
बुधवार को महात्मा गंाधी मार्ग पर ठेका कंपनी के कर्मचारी जो काम कर रहे थे। सुरक्षा को लेकर बड़ी लापरवाही नजर आई। कर्मचारी बिना किसी सुरक्षा उपकरण के 30 से 40 फीट उंचाई के बिजली के खंभे पर चढ़कर काम कर रहे थे। न तो उनके पास हेलमेट था और ना ही हाथों में दस्ताने और कमर में सेफ्टी बेल्ट बंधा था। ऐसे में थोड़ी सी चूक या लापरवाही से कर्मचारी की जान पर बन सकती है। कई बार यह भी देखा गया है कि काम करते वक्त अचानक बिजली सप्लाऐ चालू हो जाती है। ऐसे करंट की चपेट में आने से कर्मचारी या तो झटके से नीचे गिर जाता है या फिर बिजली की चपेट में आने से उसकी मौत हो जाती है। इस तरह की घटनाएं सामने आती रहती है, बावजूद इसके विभाग की ओर से अपने कर्मचारियों की सुरक्षा पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
केबल बदलने का काम ठेके पर दिया गया है। ठेकेदार को स्पष्ट तौर पर काम करने के दौरान कर्मचारियों को सुरक्षा का खास ध्यान रखने के निर्देश दिए है। बावजूद इसके सुरक्षा में लापरवाही की जा रही है तो संबंधित ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
केतन रायपूरिया, मुख्या अभियंता मप्र बिजली कंपनी

Mukesh Malavat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned