लोकतंत्र में सबको विरोध का अधिकार... दायरा यह होना चाहिए

मालवा को शांति का टापू कहा जाता है यहां सभी धर्मो के लोग अपने-अपने त्योहार आपसी भाईचारे व सौहार्दपूर्ण तरीके से मनाते है।

By: Lalit Saxena

Published: 24 May 2018, 08:04 AM IST

नागदा. सकारात्मकता एवं संवाद के बल पर हर समस्या का निराकरण निकाला जा सकता है, चाहे वह समस्या कितनी ही बड़ी क्यों न हो। मालवा को शांति का टापू कहा जाता है यहां सभी धर्मो के लोग अपने-अपने त्योहार आपसी भाईचारे व सौहार्दपूर्ण तरीके से मनाते है। आगामी त्योहारों को भी भाईचारे व शांति के साथ मनाया जाए। यह बात कम्युनिटी हॉल में बुधवार को जनसंवाद कार्यक्रम में जिला कलेक्टर मनीषसिंह ने कही। कलेक्टर सिंह ने कहा कि आगामी दिनों में किसान आंदोलन की सुगबुगाहट चल रही हैं। लोकतंत्र में सभी को विरोध करने का अधिकार है, लेकिन विरोध के दायरे में रहकर किया जाना चाहिए। किसानों को नगद भुगतान हर हाल में कराया जाएगा। साथ ही कानून व्यवस्था को लेकर जिलाबदर, रासूका की जाएगी। जन संवाद कार्यक्रम को एसपी ने भी संबोधित किया। इन्होंने भी किया संबोधित
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आलोट विधायक जितेन्द्र गेहलोत ने कहा कि प्रशासन एवं जनता के बीच सेतु का कार्य करता है जनसंवाद कार्यक्रम। गेहलोत ने मंच से ही पार्षद विनिता शर्मा के साथ घटित घटना एवं शराब दुकान का मामला कलेक्टर एवं एसपी के संज्ञान में लाया गया तथा कार्रवाई की मांग की। नागदा विधायक दिलीपसिंह शेखावत ने कहा कि किसानों को उनकी उपज का भुगतान यदि समय पर कर दिया जाएगा तो किसानों की आधी समस्या समाप्त हो जाएगी।
आपने खाचरौद में एसबीआई की चेस्ट ब्रांच प्रारंभ करने की भी मांग कलेक्टर के समक्ष उठाई। साथ ही कहा कि अगर कोई कमी है तो उसको ठीक करेंगे तथा वह पूर्ण सकारात्मक सोच से काम कर रहे हैं।
इसके अलावा एएसपी जगदीश डाबर, नगर पालिका अध्यक्ष अशोक मालवीय, उपाध्यक्ष सज्जन शेखावत, भाजपा मंडल अध्यक्ष राजेश धाकड आदि ने भी संबोधित किया। स्वागत भाषण अनुविभागीय अधिकारी डॉ. रजनीश श्रीवास्तव ने दिया । संचालन खेल प्रशिक्षक केसी पुरोहित ने किया। आभार अपने चिरपरिचित कविता वाले अंदाज में सीएसपी मानसिंह परमार ने माना।

 

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned